Monday, May 16, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकनाडा में धरना-प्रदर्शन करने वाले ट्रक ड्राइवरों के ₹67 करोड़ जब्त, सरकार और GoFundMe...

कनाडा में धरना-प्रदर्शन करने वाले ट्रक ड्राइवरों के ₹67 करोड़ जब्त, सरकार और GoFundMe का निर्देश: फेसबुक ने पेज भी हटाया

GoFundMe द्वारा इस प्रकार सारे अभियान को रोकने पर अरबपति एलन मस्क ने उन्हें प्रोफेशनल चोर कहा है जबकि केवल GoFundMe वेबसाइट अकेली ऐसी साइट नहीं है जिन्होंने इस तरह के काफिले में शामिल प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध कदम उठाए हों, फेकबुक ने भी बुधवार को अपने प्लेटफॉर्म से ‘Convoy to Dc’ पेज को हटा दिया था।

कनाडा में ट्रक काफिलों के लिए फंड एकत्रित करने के लिए शुरू किया गया अभियान अब ऑनलाइन फंड रेजिंग साइट ‘GoFundMe’ प्लेटफॉर्म से हटा दिया गया है। इस कार्रवाई के पीछे का कारण साइट ने ‘शर्तों के उल्लंघन’ को बताया है। इससे पहले ऑनलाइन फंड रेजिंग साइट ने कहा था कि वे उन ट्रक ड्राइवरों द्वारा एकत्रित किए गए 10 मिलियन डॉलर (₹ 74,64,24,500) फंड की समीक्षा करेंगे, जो कनाडा सरकार के विरुद्ध इस समय प्रदर्शन कर रहे हैं।

अपने बयान में GoFundMe वेबसाइट ने कहा कि वे शांतिपूर्व प्रदर्शन का समर्थन करते हैं और जब उनकी साइट से स्वतंत्रता काफिला 2022 (‘फ्रीडम कान्वॉइ’) नाम से फंड रेज होना शुरू हुआ तो उन्हें यही लगा था कि ये फंड शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए है। बयान में कहा गया, “अब हमारे पास कानून प्रवर्तन के सबूत हैं कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन एक व्यवसाय बन गया है जिसमें पुलिस रिपोर्ट के अनुसार हिंसा व अन्य गैरकानूनी गतिविधियाँ शामिल हैं।”

कनाडाई सरकार के निर्देश

बता दें कि ‘GoFundMe’ वेबसाइट को प्रदर्शनकारियों के लिए फंड रेज करने से रोकने के लिए ओटावा के मेयर जिम वॉटसन ने निर्देश दिए थे और ट्रक चालकों को वो पैसा देना से मना किया था जो कि साइट पर इकट्ठा हुआ। इसके बाद साइट ने अपनी विश्वसनीयता का दावा करते हुए कहा कि वो स्थानीय अधिकारियों के साथ काम करते हैं ताकि उनके पास जमीनी घटनाओं की विस्तृत तथ्यात्मक समझ हो। आगे बयान में लिखा गया कि साइट ने प्रासंगिक त्थ्यों की समीक्षा की और स्थानीय कानून प्रवर्तन व शहर के अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद पाया कि ये फंड रेजर उनकी सेवा शर्तों का उल्लंघन करता है। इसलिए इसे मंच से हटाया जाता है। इसी के साथ साइट ने ट्रक ड्राइवरों के लगभग 9 मिलियन डॉलर (₹67,17,82,050) जब्त कर लिए।

जानकारी के लिए बता दें कि इस फंड को इकट्ठा करने का काम तमारा रिच द्वारा एक संयोजक के तौर पर और बीजे डिचर द्वारा एक टीम सदस्य के तौर पर किया जा रहा था। जिस समय साइट ने इसे रोका तब तक इस पर 10 मिलियन डॉलर रेज हो चुके थे, जिनमें से 1 मिलियन डॉलर प्रदर्शन के लिए जारी किए गए थे जिसमें ये योजना थी कि पैसे का इस्तेमाल शांतिपूर्वक विरोध करने वाले लोगों के लिए ईंधन की लागत को कवर करने के लिए किया जाएगा।

फेसबुक ने हटाया प्रदर्शनकारियों का पेज

GoFundMe द्वारा इस प्रकार सारे अभियान को रोकने पर अरबपति एलन मस्क ने उन्हें ‘प्रोफेशनल चोर’ कहा है जबकि केवल गो फंड मी वेबसाइट अकेली ऐसी साइट नहीं है जिन्होंने इस तरह के काफिले में शामिल प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध कदम उठाए हों, फेसबुक ने भी बुधवार को अपने प्लेटफॉर्म से ‘Convoy to Dc’ पेज को हटा दिया था जो कि यूएसए में वैक्सीन रूल्स के विरुद्ध होना था, जिसके बाद ट्रक वालों ने फेसबुक के इस कदम पर उन्हें लताड़ लगाई।

ये स्वतंत्रता काफिला कैलिफोर्निया से वॉशिंगटन डीटी तक निकाला जाना था। कथिततौर पर ये प्रदर्शन कनाडा के ट्रक चालकों से प्रेरित था जो हाल में वैक्सीन जनादेश के विरोध में सड़कों पर उतरे थे। फेकबुक पर इल्जाम है कि उन्होंने सिर्फ पेज को ही अपने प्लेटफॉर्म से नहीं हटाया बल्कि जेरेमी जॉनसन नाम के व्यत्ति जिन्होंने उस पेज को बनाया था उसे भी हटा दिया है। इस पर जॉनसन ने कहा, “वे केवल उन लोगों को शांत कराना चाहते हैं जो सच बोलते हों।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तहखाना नहीं मंदिर का मंडपम कहिए, भव्य है पन्ना पत्थर का शिवलिंग’: सर्वे पर भड़की महबूबा मुफ्ती, बोलीं- ‘इनको मस्जिद में ही मिलते हैं...

"आज ये मस्जिद, कल वो मस्जिद, मैं अपने मुस्लिम भाइयों से बोलती हूँ एक ही बार ये हमें मस्जिदों की लिस्ट बताएँ, जिस पर इनकी नजर है।"

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe