Wednesday, April 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहादियों को चुकानी होगी भारी कीमत': बेंजामिन नेतन्याहू ने दिए...

‘हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहादियों को चुकानी होगी भारी कीमत’: बेंजामिन नेतन्याहू ने दिए बड़े हमले के संकेत

"हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद के आतंकी समूहों को इजरायल के नागरिकों पर अपने हमलों के लिए भारी कीमत चुकानी होगी। इजरायल एक सघन अभियान के साथ आगे बढ़ेगा।"

फिलिस्तीन और इजरायल के बीच अब आर-पार की जंग छिड़ गई है। मंगलवार (मई 11, 2021) को फिलिस्तीन के हमास संगठन ने अब तक का सबसे बड़ा हमला बोलते हुए इजराइल पर 1000 से अधिक रॉकेट दागे। तो वहीं इजराइल ने मंगलवार को गाजा पर हवाई हमले कर दो बहुमंजिला इमारतों को निशाना बनाया। इस बीच इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का कहना है कि इजरायली सैन्य अभियान ने गाजा आतंकवादियों को बड़ा झटका दिया है। उन्होंने चेतावनी दी कि यह लड़ाई कुछ समय के लिए जारी रहेगी।

मंगलवार देर रात एक राष्ट्रीय स्तर पर प्रसारित भाषण में, उन्होंने कहा कि हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद के आतंकी समूहों को इजरायल के नागरिकों पर अपने हमलों के लिए भारी कीमत चुकानी होगी। उन्होंने कहा कि इजरायल एक गहन अभियान के साथ आगे बढ़ेगा, लेकिन मिशन को पूरा करने में ‘समय लगेगा’ और इजरायल के निवासियों को अधिकारियों द्वारा जारी किए गए सभी सुरक्षा निर्देशों का पालन करना चाहिए।

रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ और आईडीएफ चीफ ऑफ स्टाफ अविव कोहवी के साथ बयान देते हुए, नेतन्याहू ने फिलिस्तीनी आतंकवादी समूहों को दोषी ठहराते हुए कहा, “उनका खून उनके हाथों पर है।”

हमले के एक दिन बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि हवाई हमले से तीन घातक परिणाम आए, जिसमें एक भारतीय नर्स की मौत भी शामिल है। उन्होंने कहा, “हम एक दुश्मन के सामने एकजुट होते हैं। हम सभी मृतकों के लिए शोक मनाते हैं और घायलों के लिए प्रार्थना करते हैं और आईडीएफ बलों के साथ खड़े हैं।”

इजरायल के रक्षा मंत्री का बयान

नेतन्याहू के बाद रक्षा मंत्री गैंट्ज़ ने बोलते हुए कहा कि इज़रायल रक्षा बल सभी को सुरक्षित रखता है, यहूदी और अरब समान हैं। इसके अलावा उन्होंने देश के भीतर दो समुदायों के बीच शांत रहने का भी आह्वान किया। 

हालाँकि, रक्षा मंत्री ने बताया कि प्रतिशोध लिया जाएगा और आईडीएफ ने ‘पाइप लाइन में कई लक्ष्यों को’ पहचान लिया है कि वह गाजा में स्ट्राइक कर सकता है। उन्होंने कहा कि इजरायल पर फायर करने के उनके लापरवाह फैसले के कारण आतंकी संगठन बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं और आगे भी होते रहेंगे।

IDF चीफ ने प्रतिक्रिया दिया

आईडीएफ चीफ कोहवी ने स्पष्ट किया कि इजरायली सेना केवल एन्क्लेव में फिलिस्तीनी आतंकवादी समूहों को कड़ी टक्कर दे रही है और पिछले डेढ़ दिनों में 500 से अधिक टारगेटेड स्ट्राइक किए हैं।

कोहवी ने दोहराया, “हम सबसे गंभीर तरीके से आतंकी समूहों पर प्रहार करने के लिए दृढ़ हैं।” सेना ने शुरू में यह माना कि इजरायल राज्य के विनाश के लिए समर्पित एक आतंकवादी संगठन हमास, इस समय इजरायल के साथ पूर्ण रूप से संघर्षरत नहीं था। हालाँकि, पिछले दो दिनों में उस आकलन में बदलाव आया जब फिलिस्तीनी आतंकी समूहों ने दो घटनाओं को अंजाम दिया, अल-अक्सा हमले के बाद यरूशलेम में अशांति और इजरायल पर हमला करने के लिए शेख जर्राह से फिलिस्तीनी परिवारों को बेदखल करना।

इसी घटना पर बोलते हुए, इज़रायल की आंतरिक सुरक्षा एजेंसी शिन बेट के प्रमुख नादव अरगमन ने घोषणा की कि आतंकवादी संगठनों द्वारा हिंसा के बाद ‘अब बात करने का समय नहीं है।’

इजरायल पर हमला

हमास आतंकी समूह, जो वर्तमान में गाजा पर शासन करता है, ने दावा किया कि इजरायल पर एक हिंसक हमले में एक बार में 130 से अधिक रॉकेट लॉन्च किए गए थे। इजरायली बलों के मुताबिक, फिलिस्तीन इस्लामिक जिहाद के आतंकवादी भी इजरायल पर हमला करने वाले रॉकेट लॉन्च कर रहे हैं।

इजरायल आतंकी ठिकाने पर जवाबी हमले में लगा हुआ है जिसके परिणामस्वरूप हमास के दो शीर्ष नेता मारे गए। एक अपडेट देते हुए नेतन्याहू ने बताया कि सेना ने अब तक गाजा पट्टी में सैकड़ों ठिकानों को निशाना बनाया है और आश्वासन दिया है कि छापेमारी जारी रहेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe