Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअफगानिस्तानी क्रिकेट टीम के खिलाड़ी नहीं लौटना चाहते हैं अपने मुल्क, अंडर-19 वर्ल्ड कप...

अफगानिस्तानी क्रिकेट टीम के खिलाड़ी नहीं लौटना चाहते हैं अपने मुल्क, अंडर-19 वर्ल्ड कप के बाद यूके से माँगी पनाह

अफगानिस्तान की अंडर-19 टीम के खिलाड़ी वेस्टइंडीज़ से लौटते वक्त इंग्लैंड में रुक गए हैं। कुछ खिलाड़ियों ने अब अफगानिस्तान वापस लौटने से इनकार कर दिया है।

हाल ही में वेस्टइंडीज़ में खेले गए अंडर-19 वर्ल्ड कप को भारत ने जीता है। टीम इंडिया की युवा ब्रिगेड ने पाँचवीं बार इस खिताब को अपने नाम किया और इतिहास रच दिया। वर्ल्ड कप खत्म हुआ तो टीमें अब अपने-अपने घरों को लौट रही हैं, लेकिन अफगानिस्तान की अंडर-19 टीम ऐसा नहीं कर रही।

अफगानिस्तान की अंडर-19 टीम के खिलाड़ी वेस्टइंडीज़ से लौटते वक्त इंग्लैंड में रुक गए हैं। कुछ खिलाड़ियों ने अब अफगानिस्तान वापस लौटने से इनकार कर दिया है। ऐसे में कुछ खिलाड़ियों, स्टाफ ने माँग की है कि उन्हें यूके में ही शरण दे दी जाए। अफगान मीडिया पश्तोवोआ के मुताबिक, टीम के कुछ खिलाड़ी, बोर्ड के कुछ अन्य सदस्य तब वेस्टइंडीज़ से रवानगी के बाद यूके में लैंड किए तब उन्होंने काबुल की फ्लाइट पकड़ने से इनकार कर दिया। 

पश्तोवोआ वेबसाइट के एडिटर जफर हांद ने ट्वीट कर कहा, “अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के दो सूत्रों ने मुझे बताया कि अफगानिस्तान अंडर 19 टीम के एक खिलाड़ी और तीन अधिकारियों ने घर आने से मना कर दिया।” हालाँकि जिन प्लेयर्स या स्टाफ ने यूके में शरण के लिए अप्लाई किया है, उनके नाम उजागर नहीं किए गए हैं और इस बारे में भी कोई जानकारी नहीं है कि वे अफगानिस्तान लौटने से इनकार क्यों कर रहे हैं।

अफगानिस्तान के लिए बेहतर गया ये वर्ल्ड कप

अफगानिस्तान की टीम के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप 2022 काफी शानदार रहा और टीम चौथे पायदान पर रही। ये अभी तक का टीम का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है, लेकिन इस खुशी के अवसर पर भी खिलाड़ी घर पर जाने से खौफ खा रहे हैं।

पहले भी शरण माँग चुके हैं अफगान प्लेयर्स

यह पहली बार नहीं है जब अफगानिस्तान के अंडर 19 खिलाड़ियों से विदेश में शरण माँगी है। कुछ साल पहले भी पाँच-छह खिलाड़ियों ने कनाडा में शरण चाही थी। हालाँकि तालिबान के सत्ता में आने के बाद यह पहली घटना है जब खिलाड़ियों ने विदेश में शरण माँगी है। अभी तक इस मामले में ब्रिटेन और तालिबान की तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

अफगानिस्तान टीम के अंडर 19 वर्ल्ड कप में जाने में भी काफी दिक्कतें आई थीं। टीम को वीजा मिलने में परेशानी हुई थी। इस वजह से अफगान टीम टूर्नामेंट में अपने वॉर्म अप मुकाबले भी नहीं खेल पाई थी। वह ऐन मौके पर ही वर्ल्ड कप के लिए पहुँच सकी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

‘कब्ज़ा कर के बनाई गई मस्जिद को गिरा दो’: मंदिरों को ध्वस्त कर बनाए गए मस्जिदों पर बोले थे गाँधी – मुस्लिम खुद सौंप...

गाँधी जी ने लिखा था, "अगर ‘अ’ (हिन्दू) का कब्जा अपनी जमीन पर है और कोई शख्स उसपर कोई इमारत बनाता है, चाहे वह मस्जिद ही हो, तो ‘अ’ को यह अख्तियार है कि वह उसे गिरा दे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe