Monday, May 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'देश हो या परदेस मोदी की गारंटी हमेशा पूरी होती है': ईरान ने जिस...

‘देश हो या परदेस मोदी की गारंटी हमेशा पूरी होती है’: ईरान ने जिस जहाज को बनाया बंधक, उस पर सवार भारतीय महिला ऐन टेस्सा जोसफ घर लौटीं

विदेश मंत्रालय ने बताया है कि तेहरान में भारतीय मिशन और ईरानी सरकार के ठोस प्रयासों से केरल के त्रिशूर की रहने वाली भारतीय डेक कैडेट एन टेसा जोसेफ, जो कंटेनर जहाज एमएससी एरीज़ के भारतीय चालक दल के सदस्यों में से थीं, आज (18 अप्रैल 2024) दोपहर कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सुरक्षित रूप से उतर गई हैं।

ईरान में कब्ज़े में लिए गए मालवाहक जहाज़ एमएससी एरीज़ पर काम करने वाली केरल की एन टेसा जोसफ़ भारत लौट आई हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि तेहरान में भारतीय दूतावास मालवाहक जहाज़ पर अब भी मौजूद 16 लोगों के बारे बातचीत कर रहा है। बयान में कहा गया है कि जहाज़ पर मौजूद सभी भारतीय स्वस्थ हैं और उन्हें भारत में अपने परिवार से बातचीत करने दी जा रही है।

विदेश मंत्रालय ने बताया है कि तेहरान में भारतीय मिशन और ईरानी सरकार के ठोस प्रयासों से केरल के त्रिशूर की रहने वाली भारतीय डेक कैडेट एन टेसा जोसेफ, जो कंटेनर जहाज एमएससी एरीज़ के भारतीय चालक दल के सदस्यों में से थीं, आज (18 अप्रैल 2024) दोपहर कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सुरक्षित रूप से उतर गई हैं। कोचीन हवाई अड्डे पर क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ने जोसेफ का स्वागत किया।

तेहरान में भारतीय मिशन मामले से अवगत है और कंटेनर जहाज के शेष 16 भारतीय चालक दल के सदस्यों के संपर्क में है। चालक दल के सदस्यों का स्वास्थ्य अच्छा है और वो सभी भारत में अपने परिवार के सदस्यों के संपर्क में हैं। भारतीय मिशन एमएससी एरीज़ के शेष चालक दल के सदस्यों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए ईरानी अधिकारियों के साथ भी संपर्क में है।

इससे पहले, विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने इस मामले पर अपने ईरानी समकक्ष विदेश मंत्री अमीर अब्दुल्लाहियन से बात की थी। उन्होंने ईरान में स्थित भारतीय दूतावास के कामों की तारीफ की और कहा कि एन टेसा जोसेफ की वापसी से खुश हूँ। उन्होंने कहा कि मोदी की गारंटी हमेशा पूरी होती है, घर हो या बाहर।

बता दें कि ईरानी कमांडो ने शनिवार (13 अप्रैल 2024) को 17 भारतीय चालक दल के सदस्यों को ले जा रहे एक इजरायली-संबद्ध कंटेनर जहाज को जब्त कर लिया था। ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड के सदस्य एक हेलीकॉप्टर से होर्मुज जलडमरूमध्य के पास पुर्तगाली ध्वज वाले एमएससी एरीज़ पर उतरे और जहाज को ईरानी जलक्षेत्र में ले गए। यह जहाज भारत आ रहा था। यह जहाज लंदन स्थित ज़ोडियाक मैरीटाइम से जुड़ा है। ज़ोडियाक मैरीटाइम इज़रायली अरबपति इयाल ओफ़र के ज़ोडियाक समूह का हिस्सा है।

ईरान में जब्त किए गए जहाज के चालक दल में शामिल भारतीयों के परिजनों ने केंद्र सरकार से उनकी जल्द से जल्द रिहाई की माँग थी। इसके बाद सोमवार को ईरान ने जहाज पर मौजूद भारतीयों को अपने परिजनों से बात करने की अनुमति दी थी और अब एक भारतीय को रिहा भी कर दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -