Tuesday, August 9, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजरायल की 65km लंबी और 30 फीट ऊँची दीवार: काम- आतंकियों को रोकना, खर्चा-...

इजरायल की 65km लंबी और 30 फीट ऊँची दीवार: काम- आतंकियों को रोकना, खर्चा- 7546 करोड़ रुपए

इस बैरियर को बनाने का निर्णय साल 2014 में गाज़ा (Gaza) युद्ध के दौरान लिया गया था। इस युद्ध के बाद इजराइल ने सुरंग के रास्ते संभावित हमलों को रोकने पर का

इजराइल (Israel) ने मंगलवार (7 दिसंबर) को बताया कि उसने गाज़ा पट्टी के पास बैरियर बनाने का काम पूरा कर लिया है। यह निर्माण इजराइल की सीमाओं की सुरक्षा के लिए किया गया है। कंक्रीट, लोहे और सेंसर की इस दिवार की ऊँचाई 30 फीट है। इसी के साथ इसकी नींव भी जमीन में काफी गहरी है। इसके निर्माण में लगभग एक बिलियन डॉलर का खर्च आया है। साथ ही इसे पूरा करने में लगभग 3 साल लगे हैं।

टाइम्स ऑफ़ इजराइल (Times of Israel) के मुताबिक, इसके निर्माण के बाद फिलिस्तीन की तरफ से होने वाले हमलों से इजराइल की सीमाएँ सुरक्षित होंगी। हमास (Hamas) के चरमपंथी इन रास्तों का उपयोग हमलों के लिए करते थे। इजराइल के रक्षा मंत्री बैनी गांट्ज़ (Benny Gantz) ने बताया, “कंक्रीट, लोहे और सेंसर को मिलाकर बना यह बैरियर उच्च तकनीक वाला अपने आप में पहला प्रोजेक्ट है। हमने हमास के मंसूबों को नाकामयाब करने में सफलता पाई है।”

इस बैरियर के निर्माण में 1200 मजदूर, 3,30,000 ट्रक बालू एवं पत्थर, 2 मिलियन क्यूबिक मीटर कंक्रीट व अन्य जरूरी चीजें लगीं। इस बैरियर की लम्बाई लगभग 65 किलोमीटर है। यह आतंकियों को समुद्री मार्ग से भी हमले से रोकेगा। इस बैरियर पर सुरक्षा की दृष्टि से कई कमांड सेंटर बनाए गए हैं। पहले पानी के रास्ते इजराइल पर हमलों के प्रयास किए जा चुके हैं।

इस बैरियर को बनाने का निर्णय साल 2014 में गाज़ा (Gaza) युद्ध के दौरान लिया गया था। इस युद्ध के बाद इजराइल ने सुरंग के रास्ते संभावित हमलों को रोकने पर काम करना शुरू कर दिया था। इजराइल चाहता था कि उसके सैनिकों और नागरिकों को किसी तरह का नुकसान न पहुँचाया जा सके। हमास सुरंग बनाकर इजराइल में हमले करता रहा है। 2004 और 2006 में ऐसे हमलों में इजराइल के सैनिकों की हत्या और कुछ का अपहरण कर लिया गया था। साल 2014 में इजराइल के सैनिकों ने गाज़ा में घुसकर कई सुरंगों को नष्ट कर दिया था, जिसका प्रयोग हमास के लड़ाके इजराइल में घुसने के लिए करते थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,463FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe