Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजिसने ट्विटर बनाया, उसका भी ब्लू टिक गया: अब एंड्राइड के लिए 'Bluesky' लेकर...

जिसने ट्विटर बनाया, उसका भी ब्लू टिक गया: अब एंड्राइड के लिए ‘Bluesky’ लेकर आए हैं जैक डोर्सी, क्या Twitter को खा जाएगा

पोस्ट करने से पहले ट्विटर 'What's happening' पूछता है। इसी तरह ब्लूस्काई अपने यूजर्स से 'What's up' पूछता है।

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के को-फाउंडर और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (CEO) रहे जैक डॉर्सी ने ट्विटर का विकल्प पेश किया है। जैक डॉर्सी ने ब्लूस्काई (Bluesky) ऐप को एंड्रॉएड (Android) पर भी लॉन्च कर दिया है। ब्लूस्काई भी ट्विटर की तरह माइक्रो ब्लॉगिंग साइट है। जिसे ऐसे वक्त में एंड्रॉएड यूजर्स के लिए पेश किया गया है जब ट्विटर ने लोगों के अकाउंट से लीगेसी ब्लू टिक हटा दिए हैं। ट्विटर पर ब्लू टिक के लिए अब पैसे देने होंगे।

जानकारी के मुताबिक ब्लूस्काई ऐप अभी भी टेस्टिंग मोड में है। Bluesky को सिर्फ एक इनवाइट कोड और OTP के जरिए खोला जा सकता है। इसपर तेजी के साथ काम किया जा रहा है। ऐप का डिजाइन शुरुआती ट्विटर की तरह ही नजर आ रहा है। ब्लूस्काई में यूजर्स 256 शब्दों की पोस्ट शेयर कर सकते हैं। पोस्ट के साथ तस्वीर लगाने का भी ऑप्शन दिया गया है। यूजर्स अकाउंट को शेयर, म्यूट या ब्लॉक कर सकते हैं।

रिपोर्टों के अनुसार, ट्विटर की तरह ही इसमें बुकमार्क, मॉनिटरिंग लाइक, मॉडिफाई पोस्ट, कोट पोस्ट, डायरेक्ट मैसेज, हैशटैग जैसे फीचर्स उपलब्ध होंगे।

पोस्ट करने से पहले ट्विटर ‘What’s happening’ पूछता है। इसी तरह ब्लूस्काई अपने यूजर्स से ‘What’s up’ पूछता है। फिलहाल ब्लूस्काई के 20 हजार एक्टिव यूजर बताए जा रहे हैं। जबकि गूगल प्ले स्टोर से इसे 10 हजार से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इसे पहली बार फरवरी 2023 में आईओएस (iOS) यूजर्स के लिए लॉन्च किया गया था। इसे कुछ यूजर्स के लिए ही टेस्टिंग के मकसद से लॉन्च किया गया था।

ब्लूस्काई पर साल 2019 से ही काम चल रहा है। दावा किया जा रहा है कि ब्लूस्काई अपने यूजर्स को मौजूदा माइक्रो ब्लॉगिंग साइट्स के मुकाबले ज्यादा सुविधाएँ देगा। बता दें जैक डॉर्सी भी उनलोगों में शामिल हैं जिनसे ट्विटर ने लीगेसी ब्लू टिक वापस ले लिया है। ट्विटर के को-फाउंडर ने कहा है कि वे ट्विटर पर ब्लू टिक के लिए भुगतान नहीं करेंगे।

कुल मिलाकर कह सकते हैं कि आने वाले दिनों में ट्विटर को कई माइक्रो ब्लॉगिंग साइट से मुकाबला करने को मिल सकता है। इनमें मैस्टोडॉन (Mastodon) और भारतीय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू (koo) पहले से ही कई देशों में यूजर्स की पसंद बनते जा रहे हैं। ऐसे में ब्लू स्काई के साथ कई और प्लेटफॉर्म भी लॉन्चिंग को तैयार हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फिर सामने आई कनाडा की दोगलई: जी-7 में शांति पाठ, संसद में आतंकी निज्जर को श्रद्धांजलि; खालिस्तानियों ने कंगारू कोर्ट में PM मोदी को...

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर को कनाडा की संसद में न सिर्फ श्रद्धांजलि दी गई, बल्कि उसके सम्मान में 2 मिनट का मौन रखकर उसे इज्जत भी दी।

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -