Sunday, August 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका: इंडियानापोलिस एयरपोर्ट के पास अंधाधुंध फायरिंग में 8 लोगों की मौत, 60 से...

अमेरिका: इंडियानापोलिस एयरपोर्ट के पास अंधाधुंध फायरिंग में 8 लोगों की मौत, 60 से अधिक घायल

इस हमले में 60 लोग घायल हुए, जिनमें 20 को गोली लगने से चोट आई। पुलिस सूत्रों ने कहा कि करीब 10 लोगों की हालत नाजुक है और 20 लोग गंभीर हैं। इसके अलावा करीब 30 लोग अन्य घायल हुए हैं। मैथ्यू कीस के अनुसार हमलावर ने नरसंहार के बाद खुद को भी कई गोलियाँ मार ली थी।

अमेरिका के इंडियानापोलिस शहर में एक हथियारबंद हमलावर ने फेड एक्स कंपनी के वेयर हाउस में अंधाधुंध गोलीबारी की। इस हमले में 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हुए। इस हमले के बाद हमलावर ने आत्महत्या करने की कोशिश की, लेकिन बताया जा रहा है कि वह जीवित बच गया।

गुरुवार देर रात 11 बजे इस वारदात के बारे में इंडियानापोलिस मेट्रोपोलिटन पुलिस की प्रवक्ता जेनी कुक ने बताया कि ये घटना एयरपोर्ट के पास मिराबेल रोड 8951 पर स्थित फेड एक्स कंपनी के वेयर हाउस में हुई। इसके बाद नाराज लोगों ने प्रदर्शन भी किया।

पत्रकार मैथ्यू कीस के मुताबिक, इस हमले में 60 लोग घायल हुए, जिनमें 20 को गोली लगने से चोट आई। पुलिस सूत्रों ने कहा कि करीब 10 लोगों की हालत नाजुक है और 20 लोग गंभीर हैं। इसके अलावा करीब 30 लोग अन्य घायल हुए हैं। मैथ्यू कीस के अनुसार हमलावर ने नरसंहार के बाद खुद को भी कई गोलियाँ मार ली थी।

उल्लेखनीय है कि मामले की जानकारी देते हुए इंडियानापोलिस के पुलिस प्रवक्ता जेन कुक ने हताहतों की संख्या नहीं बताई, लेकिन उन्होंने यह जरूर बताया कि गोली से लोग घायल अवश्य हुए हैं। वहाँ पहुँचे अधिकारी ने कहा कि शुरुआती जानकारी के मुताबिक हमलावर ने खुद को खत्म कर लिया और फिलहाल लोगों के लिए किसी तरह का खतरा नहीं है। हमलावर की पहचान अभी तक नहीं हो सकी है। मामले की छानबीन की जा रही है।

फेड एक्स ने कहा- सुरक्षा ही हमारी प्राथमिकता

घटना के बाद फेड एक्स कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा, “हम इंडियानापोलिस हवाई अड्डे के पास हमारे फेड एक्स वेयर हाउस में हुई गोलीबारी की घटना से अवगत हैं। सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, हताहत लोगों के साथ हमारी संवेदनाएँ हैं। हम अधिक जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं और पत्रकारों की सहायता कर रहे हैं। ”

चश्मदीदों ने बयाँ की नरसंहार की कहानी

वारदात के दौरान वहाँ मौजूद टिमोथी बोलेट और उनके दोस्त जेरेमिया मिलर इस घटना के चश्मदीद हैं। ये दोनों फेड एक्स के वेयर हाउस में ही कार्य करते हैं। उस नरसंहार को याद करते हुए जेरेमिया ने बताया, “उस दौरान हम सभी स्मोक लाउंज में बैठकर खा रहे थे। तभी हमने दो गन शॉट्स सुने। हमें लगा यह एक कार है। हमने नजरअंदाज कर दिया। हमने तब तीन शॉट सुने और सोचने लगे कि यह एक इंजन की समस्या थी। फिर, हमने लगभग 6-10 शॉट सुने। ”

उन्होंने कहा, “मैं खड़ा हुआ और खिड़की की तरफ गया तो देखा कि एक आदमी ने सब-मशीन गन / स्वचालित राइफल से खुले में गोलीबारी शुरू कर दी है। मैं तुरंत नीचे झुका और डर गया। मेरे दोस्त की माँ आईं और उन्होंने हमें कार में बैठने को कहा। हम वर्तमान में अपने सहकर्मियों को काम पर नहीं जाने के लिए कह रहे हैं और उन्हें इस घटना के बारे में बता रहे हैं। ”

परमिंदर सिंह नाम के एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि उनकी भतीजी उस दौरान कार की ड्राइवर सीट पर थी, जिस वक्त ये फायरिंग हुई। परमिंदर कहते हैं, ” मेरी भतीजी हमलावर को नहीं जानती थी। उसके बाएँ हाथ में गोली लगी थी और उसे अस्पताल ले जाया गया।” सिंह ने कहा कि फिलहाल, उनकी भतीजी अस्पताल में है और स्वस्थ है।

अमेरिका में 17 दिन में फायरिंग की दूसरी घटना

अमेरिका में बीते 17 दिन में फायरिंग की यह दूसरी घटना है। इससे पहले 31 मार्च को दक्षिणी कैलिफोर्निया में हुई गोलीबारी में 4 की मौत हो गई थी। इसमें एक बच्चा भी शामिल था। उससे पहले 22 मार्च को बाउल्डर में सुपर मार्केट में अंधाधुंध फायरिंग में भी 10 लोगों की मौत हो गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,314FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe