Tuesday, May 28, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमानसिक विक्षिप्त व्यक्ति पर कुरान के अपमान का आरोप: पाकिस्तान में मुस्लिम भीड़ का...

मानसिक विक्षिप्त व्यक्ति पर कुरान के अपमान का आरोप: पाकिस्तान में मुस्लिम भीड़ का हमला, फूँक दी चार पुलिस चौकी और 30 कारें

मुस्लिमों की भीड़ पुलिस से ईशनिंदा के आरोपित को सौंपने की माँग कर रही थी, जब उन्होंने उसे नहीं सौंपा तो उन्होंने पुलिस थाने और चौकियों में आग लगा दी।

पाकिस्तान के चारसड्डा जिले में रविवार (28 नवंबर 2021) रात को मुस्लिमों की भीड़ ने एक पुलिस थाने और चार चौकियों को आग के हवाले कर दिया। साथ ही 30 से अधिक कारों में आग लगा दी। इस​ घटना को 5,000 हजार लोगों की भीड़ ने अंजाम दिया था। अधिकारियों ने बताया कि मानसिक रूप से विक्षिप्त एक व्यक्ति पर कुरान का अपमान करने का आरोप है। मुस्लिमों की भीड़ पुलिस से ईशनिंदा के आरोपित को सौंपने की माँग कर रही थी, जब उन्होंने उसे नहीं सौंपा तो उन्होंने पुलिस थाने और चौकियों में आग लगा दी। सोशल मीडिया पर एक पाकिस्तानी पत्रकार ने यह वीडियो शेयर किया है। वीडियो में आप पुलिस थाने को जलता हुए देख सकते हैं।

स्थानीय अधिकारी आसिफ खान ने बताया कि हमले में कोई अधिकारी हताहत नहीं हुआ है। हमले के कारण पुलिस को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के एक जिले चारसड्डा में व्यवस्था बहाल करने के लिए सैनिकों को बुलाने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने भीड़ द्वारा बंदी को पीटने का का प्रयास विफल कर दिया। पुलिस उसे दूसरे जिले में ले गई है।

खान ने आगे बताया कि संदिग्ध को एक दिन पहले ही गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने उस व्यक्ति का नाम जाहिर नहीं किया है, क्योंकि अधिकारी अभी इस मामले की जाँच कर रहे हैं। अधिकारियों ने शुरू में इनका विरोध किया, लेकिन पुलिस थाने पर हजारों प्रदर्शनकारियों के हमला करने के बाद वे वहाँ से भाग गए। अधिकारी ने बताया कि चारसड्डा में सोमवार (29 नवंबर 2021) को स्थिति सामान्य रही।

बता दें कि पिछले महीने पाकिस्तान के चारसड्डा जिले से मलंग जान नाम के विकलांग व्यक्ति को मामूली विवाद के बाद मुस्लिम भीड़ द्वारा जलाकर मार देने की घटना सामने आई थी। व्हीलचेयर वाले व्यक्ति (मलंग) को जिंदा जलाने के आरोप में पुलिस ने करीब 13-14 लोगों को गिरफ्तार किया था। रिपोर्ट में बताया गया था कि मलंग जान को कट्टरपंथियों की भीड़ ने इसलिए जिंदा जला दिया था, क्योंकि उस पर बकरी की कथित चोरी को लेकर एक लड़के की हत्या करने का संदेह था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2014 – प्रतापगढ़, 2019 – केदारनाथ, 2024 – कन्याकुमारी… जिस शिला पर विवेकानंद ने की थी साधना वहीं ध्यान धरेंगे PM नरेंद्र मोदी, मतगणना...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के लिए प्रचार-प्रसार का शोर थमने के साथ थी 30 मई को ही कन्याकुमारी पहुँच जाएँगे, 4 जून को होनी है मतगणना।

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -