Thursday, June 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय151 की मौत, 150 घायल: दक्षिण कोरिया की हैलोवीन पार्टी में जुटे थे 1...

151 की मौत, 150 घायल: दक्षिण कोरिया की हैलोवीन पार्टी में जुटे थे 1 लाख लोग, अचानक भगदड़ मची, कइयों को हार्ट-अटैक आया

2 वर्षों के बाद कोविड के प्रतिबंध हटने के बाद यह दक्षिण कोरिया का पहला बड़ा सामूहिक कार्यक्रम था। मौत की वजहों में दम घुटना और हार्ट अटैक जैसी वजहें सामने आना बताई जा रहीं हैं। माना जा रहा है कि हादसे के दौरान भीड़ में लगभग 1 लाख लोग मौजूद थे।

दक्षिण कोरिया (South Korea) में हैलोवीन (Halloween) पार्टी के दौरान मची भगदड़ में लगभग 151 लोगों के मौत की खबर आ रही है। यह घटना तब हुई जब भीड़ एक तंग गली से गुजर रही थी। इसी भगदड़ में लगभग डेढ़ सौ लोग घायल भी हुए हैं जिनका इलाज चल रहा है। राहत व बचाव कार्यों में लगे कोरियाई प्रशासन को अभी मृतकों की संख्या बढ़ने का अंदेशा है। घटना शनिवार (29 अक्टूवर 2022) की बताई जा रही है। भारत के विदेश मंत्री ने इस हादसे पर दुःख जताया है।

घटना दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल (Seoul) के इटावन क्षेत्र की है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में गलियों में बेसुध पड़े लोग दिखाई दे रहे हैं। इसके अलावा वहाँ अफरातफरी के माहौल के साथ प्रशासनिक अधिकारियों को लोगों की जान बचाने का प्रयास करते हुए भी देखा जा सकता है। बैकग्राउंड में तेज आवाज में म्यूजिक चल रहा है जो सम्भवतः हैलोवीन कार्यक्रम के दौरान बजाया जा रहा था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरियाई समय के रात लगभग 10 बजकर 20 मिनट पर भीड़ बढ़ने के चलते यह भगदड़ मची। गलियाँ तंग होने के चलते पुलिस को बचाव कार्यों में समस्या आई। आगे भगदड़ होने के बाद भी पीछे से भीड़ बढ़ती आ रही थी जिसके चलते स्थिति और विकट हुई। भीड़ में कई लोगों ने हैलोवीन की पोशाक पहन रखी थी। मृतकों और घायलों की पहचान कराने के प्रयास चल रहे हैं। भीड़ में अधिकतर युवा शामिल थे जिनकी उम्र 20 वर्ष के आस-पास बताई जा रही है।

2 वर्षों के बाद कोविड के प्रतिबंध हटने के बाद यह दक्षिण कोरिया का पहला बड़ा सामूहिक कार्यक्रम था। मौत की वजहों में दम घुटना और हार्ट अटैक जैसी वजहें सामने आना बताई जा रहीं हैं। माना जा रहा है कि हादसे के दौरान भीड़ में लगभग 1 लाख लोग मौजूद थे।

राष्ट्रपति यूं सुक-योल ने एक एमरजेंसी मीटिंग बुलाई और राहत व बचाव कार्यों की समीक्षा की। स्थानीय पुलिस का कहना है कि वह घटना के कारणों की जाँच कर रही है। देश भर से 400 एमरजेंसी वर्कसर बुलाए गए हैं। 140 वाहन की मदद से पीड़ितों को संभव इलाज के लिए अस्पताल पहुँचाया जा रहा हैं। हालात ऐसे हैं कि कुछ अस्पताल जा पा रहे हैं और कुछ बीच में ही दम तोड़ रहे हैं।

भारत ने हादसे पर जताया दुःख

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस हादसे पर दुःख जताया है। 30 अक्टूबर 2022 को किए गए ट्वीट में उन्होंने मृतकों के परिजनों के लिए संवेदना प्रकट की है। इसी के साथ उन्होंने दुःख की इस घड़ी में भारत के कोरिया के साथ मजबूती से खड़े रहने का आश्वासन दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -