Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजकॉन्स्टेबल इबरार ने महिला और उसकी 3 साल की बच्ची को किया अगवा: रो-रोकर...

कॉन्स्टेबल इबरार ने महिला और उसकी 3 साल की बच्ची को किया अगवा: रो-रोकर मदद माँगते पति का Video वायरल

“मेरे साथ बहुत जुल्म हुआ है। मेरी मुसलमान भाई-बहनों से, तमाम ईसाई भाई-बहनों और वर्तमान हुकूमत से अपील है कि मेरे बच्चों को मुझे वापस दिलवा दिया जाए।”

पाकिस्तान में बहुसंख्यक आबादी के अत्याचारों की सूची असंख्य है। हाल में वहाँ एक मामला उजागर हुआ जिसमें एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने ईसाई समुदाय की महिला आयशा और उसकी 3 साल बेटी का अपहरण कर लिया। महिला का पति सुल्तान मसीह जब पुलिस के पास पहुँचा तो आला अधिकारियों ने सुनवाई की बजाए यह कहकर उसे लौटा दिया कि उसकी पत्नी ने कॉन्स्टेबल से निकाह कर लिया है।

अपनी पत्नी की निकाह के बारे में सुनने के बाद सुल्तान मसीह का बुरा हाल है। उसने रोते हुए एक वीडियो जारी की है, जो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल है। इस वीडियो को पाकिस्तान के सामाजिक कार्यकर्ता राहत ऑस्टिन ने भी शेयर किया है।

राहत लिखते हैं, “एक ईसाई सुल्तान मसीह अपनी 3 साल की बेटी और अपनी पत्नी आयशा की तस्वीरों को दिखाते हुए रो रहा है, जिन्हें बलात्कार और धर्म परिवर्तन के लिए पाकिस्तान के पंजाब की इस्लामिया कॉलोनी बहावलपुर, से अपहरण कर लिया गया। यहाँ धर्मांतरण केसों में कोई तलाक, इच्छा या कानूनी प्रक्रिया की जरूरत नहीं होती।”

बता दें कि, सुल्तान इस वीडियो में अपना नाम पता और कम्युनिटी बताते हुए जानकारी देते हैं, “मेरी बीवी आयशा किरण जिसकी उम्र 30 साल है और मेरी बेटी मल्का सुल्तान जिसकी उम्र तीन साल है, दोनों 6 दिसंबर से घर से लापता हैं। जब मैंने दोनों की तलाश शुरू की तो मुझे पता चला कि मेरी बीवी औऱ मेरी बेटी को मोहम्मद इबरार नाम के कॉन्स्टेबल ने अगवा कर लिया है। इसकी बाबत मैंने एक एप्लीकेशन डीपीओ को दी। फिर वो एप्लीकेशन डीएसपी साहब को दी गई।”

सुल्तान कहते हैं कि अगले दिन जब वह डीएसपी के पास गए तो उन्हें बताया गया कि उनकी बीवी ने कॉन्स्टेबल मोहम्मद इबरार के साथ निकाह कर लिया है। इसके बाद उनके सामने उनकी बीवी के धर्म परिवर्तन और निकाह का प्रमाण पेश किया गया। वह वीडियो में बोलते हैं, “मेरे साथ बहुत जुल्म हुआ है। मेरी मुसलमान भाई-बहनों से, तमाम ईसाई भाई-बहनों और वर्तमान हुकूमत से अपील है कि मेरे बच्चों को मुझे वापस दिलवा दिया जाए।”

यहाँ बता दें कि ये अपहरण, धर्म परिवर्तन की कहानी सिर्फ आयशा या उनकी बेटी की नहीं है। अभी हाल में एक अन्य ईसाई नाबालिग लड़की का अपहरण का मामला भी पाक के लाहौर से आया है। जहाँ एक 42 साल के व्यक्ति ने बलात्कार और धर्म परिवर्तन के लिए 13 साल की बच्ची का अपहरण कर लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,869FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe