Sunday, April 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहिन्दू देवी की मॉर्फ्ड तस्वीर शेयर कर आस्था से खिलवाड़, माफी माँगकर किनारे हुआ...

हिन्दू देवी की मॉर्फ्ड तस्वीर शेयर कर आस्था से खिलवाड़, माफी माँगकर किनारे हुआ पाकिस्तानी ब्रांड: भड़के लोग

"बस सोच रहा था कि क्या इससे बचने के लिए सिर्फ एक माफी ही काफी है? तुम करो तो माफी, और हम न करें तो भी ईशनिंदा।”

गुरुवार (जून 17, 2021) को, ‘हिंदू समता’ (‘Hindu Samata’) के नाम से एक पॉपुलर इंस्टाग्राम पेज ने बताया कि एक प्रमुख पाकिस्तानी महिला ब्रांड, जेनरेशन ने अपने कार्यालय में हिंदू देवता की एक विकृत छवि डालकर हिंदू धर्म का मजाक उड़ाया। ‘जेनरेशन’ नाम के इस कपड़े की ब्रांड के इंस्टाग्राम पर 1.2 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।

अपने पोस्ट में, हिंदू समता ने कहा, “इस प्रसिद्ध पाकिस्तानी ब्रांड ने अपने कार्यालय में हिंदू देवता का मजाक उड़ाते हुए एक अपमानजनक पोस्टर लगाया। पाकिस्तान में ईशनिंदा कानून हैं जो केवल गैर-मुसलमानों पर लागू होते हैं। इस्लाम/मुसलमानों के बारे में कुछ भी कहने पर हिंदुओं को झूठे आरोपों में कैद किया जा सकता है। यह पेज अल्पसंख्यकों के हाशिए पर जाने को प्रोत्साहित करने के लिए उनके बड़े फॉलोइंग का इस्तेमाल कर रहा है।”

अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में जेनरेशन ने हिंदू देवी की तस्वीर को बदल दिया था और ‘अस्त्रों’ को लैपटॉप और अन्य सामानों से परिवर्तित कर दिया था। साद और नोशीन रहमान नामक एक पाकिस्तानी शौहर-बीबी की जोड़ी द्वारा स्थापित ब्रांड ने हिंदू देवी का अपमान किया।

हिंदू अधिकार कार्यकर्ता का पाकिस्तानी न्याय प्रणाली के दोहरे मानकों की ओर इशारा

बुधवार (जून 16, 2021) को हिंदू अधिकार कार्यकर्ता कपिल देव ने इस मामले पर संज्ञान लिया और ट्वीट किया, “अभी एक दोस्त से पता चला कि @GENERATION_PK ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक हिंदू देवी की मॉर्फ्ड तस्वीर पोस्ट की, बाद में माफी माँगी।”

उन्होंने आगे कहा, “बस सोच रहा था कि क्या इससे बचने के लिए सिर्फ एक माफी ही काफी है? तुम करो तो माफी, और हम न करें तो भी ईशनिंदा।” यह याद दिलाने पर कि अगर एक हिंदू इस्लामी आस्था को अपवित्र करता है तो स्थिति अलग होगी, कपिल देव ने जोर देकर कहा, “बिल्कुल! हम एक पाखंडी समाज में रहते हैं जहाँ सिद्धांत केवल व्यक्तिगत लाभ और हितों के लिए मायने रखते हैं।”

कपड़ों के ब्रांड ने अनदेखी और असंवेदनशील तस्वीर के लिए माफी माँगी

सोशल मीडिया पर नाराजगी के बाद, जेनरेशन ने शुक्रवार (जून 18, 2021) को माफी माँगी। वूमेन्सवियर ब्रांड ने एक बयान में कहा, “कुछ दिनों पहले जेनरेशन मुख्यालय में एक गंभीर निरीक्षण हुआ था। एक अनभिज्ञ और असंवेदनशील तस्वीर सार्वजनिक हो गई जो हमारे संरक्षकों के लिए हानिकारक थी, खासकर उन लोगों के लिए जो हमारे झंडे में सफेद का प्रतिनिधित्व करते हैं (अल्पसंख्यकों का जिक्र करते हुए)।

इसमें आगे कहा गया, “हमें बहुत खेद है! हम बेहतर और अधिक सूचित विकल्प बनाने के लिए बेहतर बनने का प्रयास करने का संकल्प लेते हैं। हम उन लोगों के बारे में अधिक जानने के लिए मुख्यालय में नियमित संवेदनशीलता कार्यशालाएँ आयोजित करने का भी संकल्प लेते हैं जिनके साथ हम अपने देश को साझा करते हैं। हम आशा करते हैं कि आप हमें क्षमा कर सकते हैं, और हम एक समुदाय के रूप में अधिक संवेदनशील और जागरूक बन सकते हैं।”

हिंदू अधिकार कार्यकर्ता ने कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी

शनिवार (जून 19, 2021) को हिंदू अधिकार कार्यकर्ता कपिल देव ने जनरेशन द्वारा माफी नोट का जवाब देने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। उन्होंने कहा, ‘यह माफी नाकाफी है। हमने वकीलों से बात की है और ब्रांड के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं। आप केवल माफी माँगने से बच नहीं सकते। ”

उन्होंने कहा कि उनके कार्यालय में हिंदू देवता के एक विकृत पोस्टर की उपस्थिति प्रबंधकीय पदों पर हिंदू कर्मचारियों की कमी को दर्शाती है। कपिल देव ने पूछा, “यह असंवेदनशीलता दर्शाती है कि ब्रांड प्रबंधन में विविध टीम का अभाव है। ब्रांड के पास कितने हिंदू कर्मचारी (प्रबंधन) हैं?”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जब राष्ट्र में जगता है स्वाभिमान, तब उसे रोकना असंभव’: महावीर जयंती पर गूँजा ‘जैन समाज मोदी का परिवार’, मुनियों ने दिया ‘विजयी भव’...

"हम कभी दूसरे देशों को जीतने के लिए आक्रमण करने नहीं आए, हमने स्वयं में सुधार करके अपनी ​कमियों पर विजय पाई है। इसलिए मुश्किल से मुश्किल दौर आए और हर दौर में कोई न कोई ऋषि हमारे मार्गदर्शन के लिए प्रकट हुआ है।"

कलकत्ता हाई कोर्ट न होता तो ममता बनर्जी के बंगाल में रामनवमी की शोभा यात्रा भी न निकलती: इसी राज्य में ईद पर TMC...

हाई कोर्ट ने कहा कि ट्रैफिक के नाम पर शोभा यात्रा पर रोक लगाना सही नहीं, इसलिए शाम को 6 बजे से इस शोभा यात्रा को निकालने की अनुमति दी जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe