Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में 13 वर्षीय हिंदू बच्ची कविता को 'मियाँ मिट्ठू गैंग' ने जबरन बनाया...

पाकिस्तान में 13 वर्षीय हिंदू बच्ची कविता को ‘मियाँ मिट्ठू गैंग’ ने जबरन बनाया मुस्लिम, पिता के विरोध पर घर में लगाई आग

बेटी कविता के अपहरण का विरोध कर रहे पिता के घर को अज्ञात लोगों ने आग लगा दिया। तखत ने कविता के अपहरण के खिलाफ प्रदर्शन किया था। कविता का मियाँ मिट्ठू ने धर्म परिवर्तन कराया था जो प्रधानमंत्री इमरान खान का बहुत खास है।

पाकिस्‍तान में अल्‍पसंख्‍यकों के धर्म परिवर्तन की फैक्‍ट्री चलाने वाले मुस्लिम कट्टरपंथी मियाँ मिट्ठू के गुंडों ने रविवार (मार्च 14, 2021) की रात को हिंदू बच्‍ची कविता के घर को आग लगा दी है। इससे पहले मुस्लिम कट्टरपंथियों ने कविता का अपहरण कर लिया था और मियाँ मिट्ठू ने उसका जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया था। कविता के पिता तखत ने जब इस‍का विरोध किया तो अब उनके घर को आग लगा दी गई है।

बेटी कविता के अपहरण का विरोध कर रहे पिता के घर को अज्ञात लोगों ने आग लगा दिया। तखत ने कविता के अपहरण के खिलाफ प्रदर्शन किया था। कविता का मियाँ मिट्ठू ने धर्म परिवर्तन कराया था जो प्रधानमंत्री इमरान खान का बहुत खास है। उसने घोटकी में अपने अड्डे पर यह धर्म पर‍िवर्तन कराया। इस दौरान बड़ी संख्‍या में लोग मौजूद थे।

इस बीच, मामले में और अपडेट देते हुए, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के उपाध्यक्ष सुखदेव हेमनानी, जो मामले का बहुत ही बारीकी से देख रहे हैं, ने ट्विटर पर लिखा कि कविता, जो लापता हो गई थी, आखिरकार कंधकोट पुलिस ने बरामद कर लिया है। उसे आज अदालत के सामने पेश किया जाना था।

फिलहाल वह काफी दबाव में है, इसलिए कल सुबह कोर्ट में उसका बयान दर्ज किया जाएगा। और फिर उसी के अनुसार केस तय किया जाएगा। अदालत ने कविता बाई को कंधकोट के एक सरकारी सुरक्षित घर में भेज दिया है। हेमनानी ने कहा कि सिंध सरकार और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) इस केस का ऑलोअप कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि सिंध पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जो कथित तौर पर कविता के घर को आग लगाने में शामिल थे और अन्य दोषियों की तलाश में हैं। हेमनानी ने पहले कहा था कि उनकी पार्टी ने सिंध मानवाधिकार आयोग के समक्ष मामला उठाया है और अदालत से मामले की सुनवाई जल्द से जल्द फिक्स करने की कोशिश की जा रही है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के सिंध में 13 साल की हिन्दू लड़की का बहलानी जनजाति के एक मुस्लिम द्वारा अपहरण कर लिया गया। इसके बाद बरेलवी मौलवी मियाँ मिट्ठू ने उसका जबरदस्ती धर्मांतरण करा दिया। इसके बाद मौलवी ने लड़की की शादी उसी अपहरणकर्ता से ही करा दी। जिस तरह की वीडियो और फोटो सामने आए हैं, उससे पता चल रहा है कि लड़की नाबालिग है।

पाकिस्तान में हिन्दू लड़कियों के अपहरण और धर्मांतरण के बाद शादी की ये पहली घटना नहीं है, इससे पहले ही 15 साल की हिन्दू लड़की महक कुमारी, जो कक्षा 9 में पढ़ती है, का जैकबबाद जिले के अली रजा सोलंगी ने अपहरण कर कर लिया गया था। जिसके बाद अली रजा ने लड़की से जबरन शादी भी कर ली थी। फिर ये मामला पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट भी पहुँचा था। जिसके बाद कोर्ट ने लड़की को रिहा करने का आदेश दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe