Sunday, July 25, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअगवा किया, नंगा कर बनाया वीडियो.. मार-मार कर तोड़ा पैर: इमरान खान की पार्टी...

अगवा किया, नंगा कर बनाया वीडियो.. मार-मार कर तोड़ा पैर: इमरान खान की पार्टी के नेताओं पर पाकिस्तानी पत्रकार ने लगाए आरोप

पीटीआई नेताओं ने उन्हें अगवा कर लिया और चरसड्डा बाजार स्थित पीटीआई के कार्यालय में लेकर गए। वहाँ उन लोगों ने पत्रकार को नंगा किया और जमकर टॉर्चर किया।

पाकिस्तान में अपने खिलाफ खबर चलाए जाने से बौखलाए प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी के लोगों ने एक पत्रकार को अगवा कर लिया और उसे पार्टी कार्यालय में ले जाकर खूब टॉर्चर किया। अब किसी तरह पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के गुंडो से बचकर भागे पत्रकार ने प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार और इमरान खान पर गंभीर आरोप लगाए हैं और पूरे मामले की न्यायिक जाँच की माँग की है। पीड़ित पत्रकार का नाम सैफुल्लाह जान (Saifullah Jan) है और वो चरसड्डा प्रेस क्लब की गवर्निंग बॉडी के सदस्य हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लगाए गंभीर आरोप

सैफुल्लाह खान ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेताओं जिसमें अब्दुल्लाह, उनके भाई फहीम, जकात कमेटी के चेयरमैन इफ्तिखार और अन्य हथियार बंद लोगों ने अगवा कर लिया और चरसड्डा बाजार में स्थित पीटीआई (PTI) के कार्यालय में लेकर गए। वहाँ उन लोगों ने उन्हें नंगा किया और जमकर टॉर्चर किया। जानकारी के मुताबिक सैफुल्लाह खान का वीडियो भी बनाया गया है, जब उनके कपड़े उतार दिए गए थे।

स्थानीय लोगों के दबाव के बाद छोड़ा

सैफुल्लाह जान ने कहा कि पीटीआई के लोगों ने उन्हें तब छोड़ा, जब स्थानीय लोगों ने उन पर दबाव बनाया। पीड़ित ने कहा कि जिले के पुलिस अधिकारी मोहम्मद शोएब ने स्थानीय सरदारी पुलिस स्टेशन के पुलिसकर्मियों को केस दर्ज करने का आदेश दिया था, लेकिन स्थानीय पुलिस मामले में जान बूझकर देरी कर रही है और न उपयुक्त धाराओं में केस भी दर्ज नहीं किया। 

पत्रकार ने कहा कि पिटाई की वजह से उनका पैर फ्रैक्चर हो गया। लेकिन पुलिस ने एफआईआर में लिखा है कि उन्हें मालूमी चोटें आई हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मुख्य अभियुक्त इफ्तिखार का नाम एफआईआर में डाला ही नहीं है। यही नहीं, पेशावर हाइकोर्ट के आदेश के बावजूद पुलिस ने उन्हें मुख्य आरोपित नहीं बनाया और स्थानीय कोर्ट ने इफ्तिखार को जमानत दे दी। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों जाने-माने ट्विटर यूजर और पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ता राहत ऑस्टिन पर चाकू से हमला किया गया। खुद ऑस्टिन ने मंगलवार (जनवरी 5, 2021) को इसकी जानकारी दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मुझ पर एक जिहादी ने चाकू से हमला किया। मुझे नहीं पता कि वह कौन था, मगर वह शायद मध्य-पूर्व या कहीं और से था।” राहत ने कहा कि वह घायल हो गए हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ऑपइंडिया के साथ शेयर किए गए एक वीडियो मैसेज में राहत ऑस्टिन ने कहा था, “अभी कुछ समय पहले मुझ पर एक इस्लामी जिहादी ने हमला किया था। उसके पास एक चाकू था और जिस तरह से उसने ‘अल्लाहू अकबर’ कहा था, मुझे लगता है कि वह मध्य-पूर्वी देश से है। ये लोग दुनिया में हर जगह ऐसी चीजें क्यों करते रहते हैं? हम कुछ भी गलत नहीं कर रहे हैं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,200FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe