Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मैंने चूसी थी जिन्ना की उंगलियाँ... स्वाद शहद जैसा था': मौलाना तारिक जमील का...

‘मैंने चूसी थी जिन्ना की उंगलियाँ… स्वाद शहद जैसा था’: मौलाना तारिक जमील का Video वायरल, आमिर खान भी इनके साथ समय बिता चुके हैं

तारिक जमील तब्लीगी जमात का सदस्य है। तब्लीगी जमात भले ही खुद को सुन्नी मुसलमानों का सबसे बड़ा संगठन बताता हो, लेकिन दिसंबर 2021 में सऊदी अरब ने इसे 'आतंकवाद का एंट्री गेट' करार देते हुए बैन कर दिया था।

पाकिस्तानी मौलाना और विवादित तब्लीगी जमात के सदस्य तारिक जमील एक बार फिर सुर्खियों में हैं। अगस्त 2020 का उनका एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उन्होंने पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की ‘शहद से भरी उंगलियाँ’ चूसने के बारे में बताया है।

इस वीडियो में मौलाना को कहते सुना जा सकता है, “एक दफा मौलाना शब्बीर अहमद उस्मानी (पाकिस्तान बँटवारा का समर्थन करने वाला इस्लामवादी) से किसी ने पूछा कि आपने कायदे आजम (मोहम्मद अली जिन्ना) का जनाजा क्यों पढ़ाया। कहने लगे जनाजे से चंद दिन पहले मैंने ख्वाब देखा कि अल्लाह के नबी (पैगंबर मोहम्मद) खड़े हैं और साथ में कायदे आजम हैं। अल्लाह के नबी थपकी देते हुए फरमाते हैं- ये हमारा मुजाहिद (लड़ाके) है।”

मौलाना आगे कहते हैं, “एक दफा मैंने ख्वाब में देखा तो मैंने (जिन्ना से) पूछा कि आपका क्या हाल है। कहने लगे कि मैं बड़ी ‘राहत’ में हूँ। तो उन्होंने न अपनी दो उँगलियाँ मेरी तरफ कीं (दो उँगली दिखाते हुए) कि ये चूस लो। उनकी दो उँगलियाँ मैंने मुँह में डाली (मुँह में डालने का दिखावा करते हुए) तो उसमें से गाढ़ा-मीठा शहद उसमें से निकल-निकल कर मेरे मुँह में आना शुरू हुआ। उसके साथ ही मेरी आँख खुली तो उसकी मिठास मेरे मुँह में बाकी थी।”

बता दें कि मौलाना तारिक जमील अपने बेतुके बयान के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने एक बार ‘जन्नत-प्रेमी दर्शकों’ को हूर के बारे में बताया था, जिसका वीडियो जमकर वायरल हुआ था। हालाँकि, इसके बाद तारिक जमील को इस्लाम के नाम पर महिलाओं का यौन शोषण करने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ा था।

मौलाना ने हूर के बारे में बताते हुए कहा था, “उसके कपड़े के 100 अनूठे सेट होंगे। उसके चेहरे पर मेकअप की परतें होंगी। हूर में एक अनोखी खुशबू होगी और वह बिना अंडरवियर के पारदर्शी कपड़े पहने होगी।”

यही नहीं, साल 2020 में उन्होंने वुहान वायरस (कोरोना) के लिए महिलाओं को दोष देते हुए विवाद खड़ा कर दिया था। एक प्रार्थना सभा के दौरान मौलाना तारिक जमील ने कहा था कि कोविड-19 अल्लाह द्वारा भेजी गई आपदा है।

उन्होंने दावा करते हुए कहा था, “हमारे बेटियों को कौन नचा रहा है? जब मुस्लिम महिलाएँ और युवा बेशर्म और अनैतिक व्यवहार करते हैं तो अल्लाह इंसानों पर दर्द और पीड़ा देता है।”

तारिक जमील और आमिर खान की मुलाकात

उल्लेखनीय है कि बॉयकॉट बॉलीवुड ट्रेंड के कारण फ्लॉफ हुई फ़िल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज से पहले आमिर खान और मौलाना तारिक जमील की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। यह तस्वीर अक्टूबर 2012 की सऊदी अरब में हज के दौरान दोनों की हुई मुलाकात की थी।

तारिक जमील तब्लीगी जमात का सदस्य है। तब्लीगी जमात भले ही खुद को सुन्नी मुसलमानों का सबसे बड़ा संगठन बताता हो, लेकिन दिसंबर 2021 में सऊदी अरब ने इसे ‘आतंकवाद का एंट्री गेट’ करार देते हुए बैन कर दिया था। वहीं, भारत में कोरोना महामारी के दौरान जमात लगाने और पुलिसकर्मियों पर थूकने की घटनाओं के बाद यह संगठन चर्चा में आया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -