Tuesday, November 30, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसमलैंगिक सूअर से भी नापाक, जाकिर नाइक का पीस टीवी ब्रिटेन में प्रतिबंधित

समलैंगिक सूअर से भी नापाक, जाकिर नाइक का पीस टीवी ब्रिटेन में प्रतिबंधित

'वैली ऑफ होमोसेक्सुअल्स' में समलैंगिकों को पशुओं से भी बदतर बताते हुए कहा गया कि लोग ऐसा शैतान के प्रभाव में आकर करते हैं।

कट्टरपंथी इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के पीस टीवी पर ब्रिटेन में प्रतिबंध लगा दिया गया है। कार्यक्रमों के जरिए दर्शकों को अपराध के लिए उकसाने, घृणा को बढ़ावा देने और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के कारण पीस टीवी पर यह कार्रवाई की गई है।

मीडिया रेगुलेटर ऑफकॉम के मुताबिक पीस टीवी ने अपने चार कार्यक्रमों में ब्रॉडकास्टिंग कानूनों का उल्लंघन किया है। इनमें से एक कार्यक्रम ‘वैली ऑफ होमोसेक्सुअल्स’ में समलैंगिकों को पशुओं से भी बदतर बताते हुए कहा गया कि वे सूअर से भी नापाक हैं। एचआईवी का हवाला देते हुए एलजीबीटी समुदाय के लोगों को बीमारियों का वाहक बताया गया।

कार्यक्रम के प्रस्तोता कासिम खान ने कहा, “मर्द टीवी पर हमारे बच्चों के सामने मर्द से शादी करता है। एक-दूसरे का चुंबन लेता है। हाथ में हाथ डाले सड़कों पर चलता है। ऐसा लगता है कि समाज पागल हो गया है।”

मीडिया रिपोर्टों मुताबिक मार्च 2018 में प्रसारित इस कार्यक्रम में कहा गया था कि समलैंगिकता अस्वभाविक प्रेम है और लोग ऐसा शैतान के प्रभाव में करते हैं।

पीस टीवी ने अपने कार्यक्रमों में जादूगरों की हत्या और लड़कियों की कम उम्र में शादी की पैरोकारी भी की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,729FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe