Wednesday, November 30, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपैगंबर का नाम लेकर फ्रांस में पुलिस पर फिर से हमला, 'आतंकी' ने मजहबी...

पैगंबर का नाम लेकर फ्रांस में पुलिस पर फिर से हमला, ‘आतंकी’ ने मजहबी नारे भी लगाए: रिपोर्ट्स

फ्रांसीसी मीडिया में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि ये हमला पैगंबर का नाम लेकर किया गया है। आतंकी अल्जीरिया का 37 वर्षीय निवासी था, लेकिन ये नहीं मालूम कि वो फ्रांस कब आया था।

फ्रांस के कांस शहर में एक ‘आतंकी’ द्वारा धारधार हथियार से पुलिसकर्मियों को घायल करने की घटना सामने आई है। हमलावर को गोली मारकर मौके पर ढेर कर दिया गया। अब पुलिस इस मामले में आगे पड़ताल कर रही है। इस घटना को ‘आतंकी’ घटना बताया जा रहा है। देश के गृहमंत्री गेराल्ड डर्मानिन ने भी इसकी पुष्टि है।

फ्रांसीसी मीडिया (बीएफएम टीवी और नाइस मेटिन न्यूजपेपर) में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि ये हमला पैगंबर का नाम लेकर किया गया है। आतंकी अल्जीरिया का 37 वर्षीय निवासी था, लेकिन ये नहीं मालूम कि वो फ्रांस कब आया था। कथिततौर पर उसने मजहबी नारेबाजी करते हुए सोमवार को पैगंबर के नाम पर इस घटना को अंजाम दिया।

रिपोर्ट्स बताती हैं कि पहले वो पुलिस की कार तक आया। फिर उसने कार का दरवाजा खोला और देखते ही देखते दो पुलिसकर्मियों पर धारधार ब्लेड से हमला कर दिया। इसके बाद तीसरे पुलिसकर्मी ने उसे गोली मारकर ढेर किया। अब पुलिस हमलावर की असली पहचान पता लगाने में जुटी है।

वहीं कहा जा रहा है कि जिन पुलिसकर्मियों पर हमला किया गया वो अभी खतरे से बाहर हैं। उन समय उन्होंने बुलेटप्रूफ जैकेट पहने हुए थे वरना घाव गहरा हो सकता था। पुलिस की छानबीन में अभी तक हमलावर का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है।

उल्लेखनीय है कि फ्रांस में इससे पहले 23 अप्रैल को एक पुलिसकर्मी पर चाकू से हमला किया गया था। उस दौरान हमलावर ट्यूनिशियाई मूल का नागरिक था। उसे भी पुलिस ने मौके पर गोली मार दी थी। इस बार ये घटना कांस में घटित हुई है और वो भी ऐसे समय में जब अगले साल राष्ट्रपति चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में फ्रांस के गृहमंत्री गेराल्‍ड ने बताया कि वह सुबह ही घटनास्‍थल पर जा रहे हैं और नेशनल पुलिस और कांस शहर को अपना पूरा समर्थन देते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,128FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe