Tuesday, April 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनूपुर शर्मा के नाम पर पाकिस्तान से चला भारत-विरोधी प्रोपगेंडा: सोशल मीडिया पर फैलाया...

नूपुर शर्मा के नाम पर पाकिस्तान से चला भारत-विरोधी प्रोपगेंडा: सोशल मीडिया पर फैलाया गया फेक न्यूज, फॉरेंसिक जाँच में खुलासा

लाइव टेलीविजन पर डिबेट के दौरान नूपुर द्वारा की गई टिप्पणी को विदेशी अकाउंट्स के जरिए अतंरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश की गई। इसके बाद एक-एक करके मुस्लिम देशों से प्रतिक्रिया आने लगी।

भाजपा (BJP) के पूर्व नेता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) और नवीन जिंदल (Navin Jindal) द्वारा इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर टिप्पणी को लेकर पाकिस्तान द्वारा प्रोपगेंडा चलाया गया था। पाकिस्तान द्वारा गई ट्विटर हैंडलों के जरिए भारत विरोधी अभियान को हवा दी गई।

डिजिटल फोरेंसिक रिसर्च एंड एनालिटिक्स सेंटर (DFRAC) की रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान ने इस टिप्पणी को गलत तरीके पेेश करके भारत विरोधी अभियान चलाया और देश में माहौल खराब करने की कोशिश की। इस सिलसिले में खास हैंडल और ट्विटर हैशटैग की पहचान की गई है।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि कई सोशल मीडिया यूजर्स ने इस दौरान फेक स्क्रीनशॉट शेयर कीं और फर्जी खबरों को फैलाया। इस दौरान यह भी झूठा दावा किया गया कि इस टिप्पणी के विरोध में इंग्लिश क्रिकेटर मोईन मुनीर अली ने IPL के बहिष्कार की अपील और नूपुर से माफी की माँग की।

इसी तरह एक फर्जी सूचना वायरल की गई कि ओमान (Oman) के ग्रैंड मुफ्ती शेख अहमद बिन हमद अल-खलील ने लोगों से भारतीय उत्पादों के बहिष्कार की घोषणा की। इसमें ये कहा गया कि उन्होंने बॉयकॉट इंडिया ट्रेंड शुरू किया। बता दें कि मुफ्ती ने सिर्फ नूपुर शर्मा की टिप्पणी की आलोचना की थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि विवाद के दौरान ट्रेंडिंग हैशटैग पर बातचीत की जाँच की गई तो पता चला कि इनमें से अधिकतर प्रोफाइल विदेशों से संचालित हो रहे हैं। इनमें से 7,000 अकाउंट पाकिस्तानी, 3,000 सऊदी अरब, 1400 मिस्र और 1000 के करीब अमेरिका एवं कुवैत के थे। वहीं, इसमें शामिल 2500 यूजर भारतीय थे।

लाइव टेलीविजन पर डिबेट के दौरान नूपुर द्वारा की गई टिप्पणी को इन अकाउंट्स के जरिए अतंरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश की गई। इसके बाद एक-एक करके मुस्लिम देशों से प्रतिक्रिया आने लगी।

बवाल बढ़ता देख भाजपा ने नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया। इस मसले को लेकर सरकार की ओर से कहा गया कि नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की टिप्पणी सरकार के विचार को नहीं व्यक्त करती।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

10000 रुपए की कमाई पर कॉन्ग्रेस सरकार जमा करवा लेती थी 1800 रुपए: 1963 और 1974 में पास किए थे कानून, सालों तक नहीं...

कॉन्ग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों ने कानून पास करके भारतीयों को इस बात के लिए विवश किया था कि वह कमाई का एक हिस्सा सरकार के पास जमा कर दें।

बेटी की हत्या ‘द केरल स्टोरी’ स्टाइल में हुई: कर्नाटक के कॉन्ग्रेस पार्षद का खुलासा, बोले- हिंदू लड़कियों को फँसाने की चल रही साजिश

कर्नाटक के हुबली में हुए नेहा हीरेमठ के मर्डर के बाद अब उनके पिता ने कहा है कि उनकी बेटी की हत्या 'दे केरल स्टोरी' के स्टाइल में हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe