Saturday, June 15, 2024
Homeदेश-समाजनूपुर शर्मा की हत्या के लिए Pak से आया रिजवान अशरफ, साथ में 11...

नूपुर शर्मा की हत्या के लिए Pak से आया रिजवान अशरफ, साथ में 11 इंच का चाकू, नक्शे और मजहबी किताबें: अजमेर शरीफ जाने वाला था

तलाशी लेने पर उसके पास से दो चाकू भी बरामद हुए। इसमें से एक चाकू 11 इंच का और काफी धारदार है। उसके पास से मजहबी किताबें, नक़्शे, कपड़े और खाने-पीने के सामान भी मिले हैं।

नूपुर शर्मा की हत्या के लिए पाकिस्तान से आए रिजवान अशरफ को राजस्थान की अंतरराष्ट्रीय सीमा से गिरफ्तार किया गया है। BSF ने उसे घुसपैठ करते हुए रंगे हाथों पकड़ा। वो नूपुर शर्मा को जान से मार डालने की मंशा से आया था। उनके पास से कई संदिग्ध वस्तुएँ भी बरामद हुई हैं। IB और RAW जैसी ख़ुफ़िया एजेंसियों की टीमें भी उससे पूछताछ में लगी हुई हैं। मिलिट्री एजेंसी की टीम भी उससे पूछताछ कर रही है।

ये घटना शनिवार (16 जुलाई, 2022) की है, जब रात के 11 बजे श्रीगंगानगर से सटे हिंदुमलकोट बॉर्डर पर फेंसिंग के आसपास एक संदिग्ध व्यक्ति घूम रहा था। पेट्रोलिंग टीम को उस पर संदेह हुआ, जिसके बाद उससे पूछताछ की गई। उसने ठीक से सवालों के जवाब नहीं दिए। तलाशी लेने पर उसके पास से दो चाकू भी बरामद हुए। इसमें से एक चाकू 11 इंच का और काफी धारदार है। उसके पास से मजहबी किताबें, नक़्शे, कपड़े और खाने-पीने के सामान भी मिले हैं।

पूछताछ में रिजवान अशरफ ने बताया है कि वो उत्तरी पाकिस्तान स्थित मंडी बहाउद्दीन शहर का रहने वाला है। ये शहर पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त में स्थित है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि उसने नूपुर शर्मा की हत्या के लिए बॉर्डर क्रॉस किया था, आधिकारिक रूप से ऐसी कोई पुष्टि हो गई है कि वो इसीलिए ही आया था। पुलिस ने उसे स्थानीय अदालत में पेश किया, जिसके बाद उसे 8 दिन के लिए रिमांड पर भेज दिया गया है।

‘टाइम्स ऑफ इंडिया (TOI)’ ने एक वरिष्ठ BSF अधिकारी के हवाले से बताया कि उसने पूछताछ में नूपुर शर्मा की हत्या के लिए बॉर्डर क्रॉस करने की बात कबूल की है। रिपोर्ट में ये भी लिखा है कि इससे पहले वो अजमेर शरीफ स्थित ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर जाने वाला था। पैगंबर मुहम्मद पर नूपुर शर्मा के बयान से वो नाराज़ है। बता दें कि राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल और महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की जिहादियों ने नूपुर शर्मा के समर्थन का आरोप लगा कर हत्या कर दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -