Thursday, May 30, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयआर्थिक संकट और हिंसक झड़पों के बीच श्रीलंका के PM राजपक्षे ने छोड़ी कुर्सी,...

आर्थिक संकट और हिंसक झड़पों के बीच श्रीलंका के PM राजपक्षे ने छोड़ी कुर्सी, पूरे देश में लगा कर्फ्यू: प्रदर्शनकारी बोले- राष्ट्रपति भी छोड़ें अपना पद

प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद महिंदा राजपक्षे ने आम जनता से संयम बरतने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, “जब भावनाएँ उच्च स्तर पर चल रही हैं, हमें ये याद रखना चाहिए कि हिंसा केवल हिंसा को जन्म देगी। हम जिस आर्थिक संकट में हैं, उसे एक आर्थिक समाधान की जरूरत है।”

श्रीलंका में गंभीर आर्थिक संकट के बीच देश के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने सोमवार (9 मई 2022) को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे को अपना इस्तीफा सौंपा। श्रीलंका की स्थानीय मीडिया के हवाले से इस खबर की पुष्टि की गई है।

महिंदा राजपक्षे के बाद उनके मंत्रिमंडल में स्वास्थ्य मंत्री रहे प्रोफेसर चन्ना जयसुमना ने भी राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया। प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने अपने पद से इस्तीफा इस द्वीपीय देश में आर्थिक संकट को लेकर विरोध-प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसक झड़पों के बाद दिया है। सोमवार को राजधानी कोलंबो में आर्थिक संकट को लेकर विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़क उठी।

प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद महिंदा राजपक्षे ने आम जनता से संयम बरतने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, “जब भावनाएँ उच्च स्तर पर चल रही हैं, हमें ये याद रखना चाहिए कि हिंसा केवल हिंसा को जन्म देगी। हम जिस आर्थिक संकट में हैं, उसे एक आर्थिक समाधान की जरूरत है।”

महिंदा राजपक्षे ने कहा कि आर्थिक संकट के समाधान के लिए ये प्रशासन प्रतिबद्ध है। गौरतलब है कि आर्थिक संकट को लेकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे विरोधियों और महिंदा राजपक्षे के समर्थकों के बीच सोमवार को हिंसक झड़प हो गई। महिंदा राजपक्षे के समर्थकों के हमले में 16 लोग घायल हो गए।

राजधानी कोलंबो में भड़की हिंसा के बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। दूसरी तरफ, विपक्षी दल भी लगातार पीएम के इस्तीफे और संयुक्त सरकार के गठन की माँग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। इससे पहले महिंदा राजपक्षे ने कहा था कि वे कोई भी बलिदान देने के लिए तैयार हैं। राजपक्षे के इस बयान के बाद से ही उनके इस्तीफे की अटकलें लगाई जाने लगी थीं। राजपक्षे ने यह बात प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास ‘टेम्पल ट्री’ में सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कही थी। उनके आवास पर एकत्र हुए एसएलपीपी के सदस्यों ने इनसे इस्तीफा न देने को कहा था।

उनके छोटे भाई और राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे की आर्थिक संकट से घिरी सरकार पर देश को उबारने के लिए अंतरिम सरकार बनाने का दबाव बढ़ गया है। मौजूदा आर्थिक संकट निपटने तक वह अंतरिम सरकार के पक्ष में हैं। गोटाबाया राजपक्षे की अध्यक्षता में राष्ट्रपति भवन में एक विशेष कैबिनेट बैठक में महिंदा राजपक्षे ने श्रीलंका के प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा देने पर सहमति व्यक्त की है। अब प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति से भी इस्तीफा माँग रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो पुराना फोन आप यूज नहीं करते उसके बारे में मुझे बताइए… कहीं अपनी ‘दुकानदारी’ में आपकी गर्दन न नपवा दे न्यूजलॉन्ड्री वाला ‘झबरा’

अभिनंदन सेखरी ने बताया है कि वह फोन यहाँ बेघर लोगों को देने जा रहा है। ऐसे में फोन देने वाले को नहीं पता होगा कि फोन किसके पास जा रहा है।

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -