Tuesday, June 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'सुसाइड बॉम्बर इस्लाम और तालिबान के हीरो': सिराजुद्दीन हक्कानी ने की तारीफ, 125 डॉलर...

‘सुसाइड बॉम्बर इस्लाम और तालिबान के हीरो’: सिराजुद्दीन हक्कानी ने की तारीफ, 125 डॉलर और जमीन देने का किया ऐलान

तालिबान के आंतरिक मंत्रालय ने होटल में आत्मघाती हमलावरों के परिजनों से मिलते हुए सिराजुद्दीन हक्कानी की तस्वीरें जारी की है। सभी तस्वीरों में सिराजुद्दीन हक्कानी के चेहरे को ब्लर किया गया है। अपने भाषण के दौरान सिराजुद्दीन हक्कानी ने इन आत्मघाती हमलावरों के कथित जिहाद और बलिदान की तारीफ की।

अफगानिस्तान के इस्लामिक अमीरात के आंतरिक मंत्री और हक्कानी नेटवर्क के सरगना सिराजुद्दीन हक्कानी ने तालिबान के आत्मघाती हमलावरों के परिवारों से मुलाकात की। काबुल के इंटरकांटिनेंटल होटल में मुलाकात के दौरान सिराजुद्दीन हक्कानी ने इन आत्मघाती हमलावरों को ‘इस्लाम और देश का हीरो’ करार दिया है। इन हमलावरों ने तालिबान के लिए अलग-अलग हमलों को अंजाम देते समय खुद को विस्फोटकों से उड़ा लिया था। 

तालिबान के आंतरिक मंत्रालय ने होटल में आत्मघाती हमलावरों के परिजनों से मिलते हुए सिराजुद्दीन हक्कानी की तस्वीरें जारी की है। सभी तस्वीरों में सिराजुद्दीन हक्कानी के चेहरे को ब्लर किया गया है। अपने भाषण के दौरान सिराजुद्दीन हक्कानी ने इन आत्मघाती हमलावरों के कथित जिहाद और बलिदान की तारीफ की।

सिराजुद्दीन हक्कानी ने फिदायीन हमलावरों को देश का और इस्लाम का हीरो करार दिया। इन हमलावरों को ‘शहीद’ बताते हुए सिराजुद्दीन ने कहा कि हमें इनकी आकांक्षाओं के साथ विश्वासघात करने से बचना चाहिए। उसने मारे गए सभी आत्मघाती हमलावरों के परिवारों को जमीन और 125 डॉलर देने का वादा किया है।

कौन है सिराजुद्दीन हक्कानी?

सिराजुद्दीन हक्कानी दुनिया के सबसे खूँखार आतंकी संगठनों में से एक हक्कानी नेटवर्क का सरगना है। उसे तालिबान के नई सरकार में अफगानिस्तान का आंतरिक मंत्री बनाया गया है। यह पद किसी दूसरे देश के गृहमंत्री के बराबर माना जाता है। सिराजुद्दीन मुजाहिदीन कमांडर जलालुद्दीन हक्कानी का बेटा है। हक्कानी समूह पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर तालिबान की वित्तीय और सैन्य संपत्ति की देखरेख करता है।

अमेरिका का मोस्ट वॉन्टेड है सिराजुद्दीन हक्कानी

अमेरिका ने सिराजुद्दीन को मोस्ट वॉन्टेड घोषित कर रखा है। उसके सिर पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि हक्कानी ने ही अफगानिस्तान में आत्मघाती हमलों की शुरुआत की थी। हक्कानी नेटवर्क को अफगानिस्तान में कई हाई-प्रोफाइल हमलों के लिए जिम्मेदार माना जाता है। उसने तत्कालीन अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई की हत्या का प्रयास भी किया था। इसके अलावा हक्कानी नेटवर्क ने भारतीय दूतावास पर आत्मघाती हमला भी किया था। हक्कानी ब्रदर्स के नेतृत्व में काबुल की सड़कों पर कम से कम 6,000 भारी हथियारों से लैस आतंकी गश्त लगा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हज यात्रियों पर आसमान से बरस रही आग, अब तक 22 मौतें: मक्का की सड़कों पर पड़े हुए हैं शव, सऊदी अरब के लचर...

ये वीडियो कथित तौर पर एक पाकिस्तानी ने बनाया है, जिसमें वो पाकिस्तानी सरकार को भी खरी-खोटी सुनाता दिख रहा है।

पाकिस्तान से ज्यादा हुए भारत के एटम बम, अब चीन को भेद देने वाली मिसाइल पर फोकस: SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा, ड्रैगन के...

वर्तमान में परमाणु शक्ति संपन्न देशों में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, उत्तर कोरिया और इजरायल भी आते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -