Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजश्रद्धालुओं से गाली-गलौज, हनुमान जी की प्रतिमा तोड़ने की कोशिश: मंदिर में घुस कर...

श्रद्धालुओं से गाली-गलौज, हनुमान जी की प्रतिमा तोड़ने की कोशिश: मंदिर में घुस कर मूसा ने पार की हदें

घटना की जानकारी मिलते ही हिंदू संगठन के लोगों में रोष व्याप्त हो गया और मौके पर भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। आरोपित युवक का नाम मूसा है, जो...

जनपद मुज़फ्फरनगर में गुरुवार को दिन निकलते ही उस समय हंगामा मच गया जब एक शरारती युवक ने एक मंदिर में घुस कर वहाँ पूजा कर रहे एक श्रद्धालु को गाली-गलौज करते हुए मंदिर में रखी हनुमान की मूर्ति को तोड़ने का प्रयास किया। इसी बीच वहाँ मौजूद लोगों ने आरोपित युवक को दबोच लिया मगर तब तक आरोपित मंदिर का शीशा तोड़ चुका था। देखते ही देखते मौके पर भीड़ इकट्ठा हो गई और भीड़ ने आरोपित युवक को पुलिस को सौंप दिया।

आरोपित के ‘दूसरे समुदाय’ के होने की वजह से इलाक़े में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा हो गई, जिसके बाद हिंदू संगठन के लोगों ने थाना खतौली में जमकर हंगामा किया। बताया जा रहा है कि आरोपित युवक का नाम मूसा है। जोगी जनपद बुलंदशहर के खुर्जा का रहने वाला है और मुजफ्फरनगर के खतौली में एक जमात में आया हुआ था। घटना की जानकारी मिलते ही हिंदू संगठन के लोगों में रोष व्याप्त हो गया और मौके पर भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। बताया जा रहा है कि आरोपित युवक का नाम मूसा है, जो कि जनपद बुलंदशहर के खुर्जा का रहने वाला है।

खतौली में एक जमात में आया हुआ था। पुलिस ने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस उपाधीक्षक आशीष प्रताप सिंह का कहना है सुबह के समय एक युवक हनुमान मंदिर में घुसा और वहाँ पूजा कर रहे मंदिर के पुजारी व एक अन्य व्यक्ति के सामने तरह-तरह की धार्मिक भावनाओं को भड़काने जैसी बातें करने लगा। और मंदिर की मूर्ति को खंडित करने का प्रयास किया जिसके खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपित को जेल भेजा जा रहा है। मामले की छानबीन की जा रही है। इस बात का पता लगाया जा रहा है कि आरोपित युवक बुलंदशहर के खुर्जा से यहाँ किसलिए आया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe