Tuesday, April 16, 2024
Homeरिपोर्टमीडियासाढ़े 12 घंटे तक मुंबई पुलिस की अर्नब से पूछताछ: कॉन्ग्रेस नेता ने गोस्वामी...

साढ़े 12 घंटे तक मुंबई पुलिस की अर्नब से पूछताछ: कॉन्ग्रेस नेता ने गोस्वामी की जाति पर किया कॉमेंट

कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने अर्नब गोस्वामी को भला-बुरा कहा और उनकी जाति पर कॉमेंट किया। उन्होंने अर्नब को 'गोस्वामी जी' कह कर सम्बोधित करते हुए ट्विटर पर लिखा कि अब वो ज़माना गया, जब किसी खास जाति का होने से प्रिविलेज मिल जाता था। उन्होंने अर्नब गोस्वामी के 'थाने में हाजिरी लगाने' पर ख़ुशी जताई।

मुंबई पुलिस ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी से क़रीब 12:30 घंटों तक लगातार पूछताछ की। मंगलवार (अप्रैल 27, 2020) को दोनों चैनलों पर आने वाले अपने नियमित कार्यक्रमों में भी अर्नब उपस्थित नहीं हो सके। हालाँकि, पूछताछ के बाद वो फिर से चैनल पर दिखे और सोनिया गाँधी से सवाल पूछे। पूछताछ के बाद अर्नब गोस्वामी ने कहा कि वो अपने बयान पर अब भी कायम हैं।

अर्नब ने कहा कि उन्होंने पुलिस का पूरा सहयोग किया है और अगर उन्हें फिर से बुलाया जाता है तो भी वो जाएँगे। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें गिरफ़्तार होने का भी डर नहीं है। अर्नब गोस्वामी ने कहा कि मुद्दा वो नहीं हैं बल्कि असली मुद्दा पालघर में दो साधुओं सहित तीन लोगों की भीड़ द्वारा निर्मम हत्या का है। इस दौरान अर्नब के वकील सुजय कान्तवाला भी उनके साथ मौजूद रहे। अर्नब ने पूछताछ के दौरान कहा कि उन्होंने जो भी बयान दिया है, वो सच है।

अर्नब गोस्वामी ने कहा कि उनसे जो भी सवाल किए गए, उन सबका जवाब उन्होंने दिया और साथ ही अपने बयानों की सत्यता साबित करने के लिए सारे सबूत भी पेश किए। उन्होंने अपने वकील और मुंबई पुलिस का आभार जताते हुए कहा कि सच्चाई की अंततः जीत होगी। उनके वकील सुजय ने भी कहा कि अर्नब ने जाँच में पूर्ण सहयोग दिया है। पूछताछ के बाद स्टूडियो लौटते हुए गोस्वामी ने ‘सोनिया स्पीक अप नाउ’ टैग के साथ न्यूज़ शो में एंकरिंग की।

इधर कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने भी अर्नब गोस्वामी को भला-बुरा कहा और इस पूरी कार्रवाई में जाति घुसा दी। उन्होंने अर्नब को ‘गोस्वामी जी’ कह कर सम्बोधित करते हुए ट्विटर पर लिखा कि अब वो ज़माना गया, जब किसी खास जाति का होने से प्रिविलेज मिल जाता था। उन्होंने अर्नब गोस्वामी के ‘थाने में हाजिरी लगाने’ पर ख़ुशी जताई। उदित राज ने कहा कि अब देश में मनुस्मृति नहीं बल्कि ‘बाबासाहब का संविधान’ चलता है।

इधर ‘रिपब्लिक टीवी’ ने इस बात पर नाराज़गी जताई कि अर्नब गोस्वामी के बार-बार आग्रह करने के बाद भी उनके और उनकी पत्नी सामिय गोस्वामी पर हमला करने वाले दोनों कॉन्ग्रेस नेताओं को ₹15,000 पर जमानत दे दी गई। अर्नब और उनकी पत्नी पर किया गया हमला कॉन्ग्रेस की सोची-समझी साजिश थी और मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ केस दर्ज करने से मना कर दिया। अर्नब गोस्वामी ने आरोप लगाया था कि मुंबई पुलिस उन पर हुए हमलों के मामले में कॉन्ग्रेस की साज़िश को कवर-अप करने में जुट गई है। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe