Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'बिहार की जनता ने आज आपसे स्टूडियो में डांस करने का मौका छीन लिया':...

‘बिहार की जनता ने आज आपसे स्टूडियो में डांस करने का मौका छीन लिया’: राजदीप सरदेसाई के लिए ‘दुःखी हुए’ अमित मालवीय

"माफ़ कीजिए, लेकिन बिहार की जनता ने आपसे आज स्टूडियो में डांस करने का मौका छीन लिया है। न तो आपके एग्जिट पोल्स सही हुए और न ही आप चुनाव परिणामों को ठीक तरीके से ले सकते हैं।"

‘इंडिया टुडे’ के पत्रकार राजदीप सरदेसाई भाजपा से किस कदर घृणा करते हैं और उसे लेकर कैसी-कैसी बातें फैलाते रहते हैं, ये किसी से छिपा नहीं है। दिल्ली विधानसभा चुनाव में जब अरविन्द केजरीवाल ने 5 साल सरकार चलाने के बाद दोबारा वापसी की थी, तब उन्होंने स्टूडियो में मतगणना के कवरेज के दौरान ‘एक्सिस माय इंडिया’ के प्रदीप गुप्ता के साथ डांस किया था। अब अमित मालवीय ने उन पर तंज कसा है।

बिहार विधानसभा चुनाव की मतगणना चालू है और खबर लिखे जाने तक भाजपा राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभर रही है। 77 सीटों पर आगे चल रही भाजपा अपने प्रतिद्वंद्वी राजद से 10 सीटें ज्यादा लाती हुई दिख रही है। ऐसे में जब राजग बहुमत के लिए ज़रूरी 122 सीटों से आगे चल रही है,’ इंडिया टुडे’ पर राजदीप सरदेसाई ने भाजपा आईटी सेल के अध्यक्ष अमित मालवीय से पूछा कि क्या वो यहाँ से भाजपा को जीतते हुए देख रहे हैं?

उन्होंने पूछा कि क्या अमित मालवीय मानते हैं कि भाजपा की जीत की सम्भावना है, या फिर उन्हें लगता है कि अभी भी ऐसा बोलना ठीक नहीं है। हालाँकि, अमित मालवीय ने उनसे कहा कि जवाब देने से पहले वो ये जानना चाहते हैं कि सरदेसाई इस परिणाम को स्वीकार कर रहे हैं या फिर उन्हें अभी भी आशा है कि राजग के अलावा कोई अन्य गठबंधन बिहार में जीतने जा रहा है। उन्होंने राजदीप सरदेसाई के चिर-परिचित भाजपा विरोध रुख की ओर इशारा किया।

इसके बाद उन्होंने कहा, “माफ़ कीजिए, लेकिन बिहार की जनता ने आपसे आज स्टूडियो में डांस करने का मौका छीन लिया है। न तो आपके एग्जिट पोल्स सही हुए और न ही आप चुनाव परिणामों को ठीक तरीके से ले सकते हैं।” इसके बाद अमित मालवीय ने तंज कसते हुए सहानुभूति जताई और कहा कि राजदीप सरदेसाई को आज इन चीजों से गुजरना पड़ रहा है, ये बातें उन्हें बुरी लग रही है। इसके बाद राजदीप का चेहरा देखने लायक था।

बता दें कि ऑपइंडिया को पता चला था कि मोदी-विरोध को लेकर सहमति न जताने के कारण ख़ुद को सबसे तेज़ बताने वाला मीडिया ग्रुप ऐसे आवाज़ों को दबाने में सबसे आगे है। पता चला था कि यहाँ पर लोकसभा चुनावों के पहले ही दक्षिणपंथी पत्रकारों की लिस्ट तैयार कर ली गई थी और माना जा रहा था कि चुनाव में नरेंद्र मोदी के हारते ही इन लोगों की नौकरी जानी तय है। 2019 लोकसभा के नतीजों वाले दिन एक पत्रकार ने न्यूज़रूम में मिठाई बाँटी तो उन्हें बुलाकर कह दिया गया था कि आपका कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू नहीं होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -