Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजप्रदर्शनकारी किसानों ने इमरान खान की तारीफ में पढ़े कसीदे, PM मोदी को कहा-...

प्रदर्शनकारी किसानों ने इमरान खान की तारीफ में पढ़े कसीदे, PM मोदी को कहा- ‘कुत्ता’; देखें वीडियो

वीडियो की शुरुआत में, पारंपरिक सिख के कपड़ों में एक आदमी कहता है कि इमरान खान अपनी क्षमता के आधार पर प्रधानमंत्री बने हैं, जबकि नरेंद्र मोदी जूठे चाय के कप धो कर भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं। वह यह भी कहता हैं कि इमरान खान उनके लिए बहुत अच्छे रहे हैं।

हाल ही में यूट्यूब चैनल ‘नेशनल दस्तक’ (‘National Dastak’) ने एक वीडियो पोस्ट किया। यूट्यूब चैनल द्वारा पोस्ट किया गया वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियों में प्रदर्शनकारी किसानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जहरीले बोल बोलते हुए देखा जा सकता है। उनके ये जहरीले बोल पीएम मोदी के प्रति उनके मन में व्याप्त घृणा को दर्शाता है।

इतनी ही नहीं, इन प्रदर्शनकारियों में से एक को तो पीएम मोदी निंदा करते हुए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की तारीफों के पुल बाँधते देखा जा सकता है। बता दें कि इसके YouTube चैनल के प्लेटफॉर्म पर 4 मिलियन से अधिक सब्सक्राइबर्स हैं।

वीडियो की शुरुआत में, पारंपरिक सिख के कपड़ों में एक आदमी कहता है कि इमरान खान अपनी क्षमता के आधार पर प्रधानमंत्री बने हैं, जबकि नरेंद्र मोदी जूठे चाय के कप धो कर भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं। वह यह भी कहता हैं कि इमरान खान उनके लिए बहुत अच्छे रहे हैं। उन्होंने इमरान खान को गुरुद्वारा करतारपुर साहिब खोलने का भी श्रेय दिया, जो कि गलत है।

वह शख्स यह भी कहता है कि पीएम अपनी मौत के बाद स्वर्ग या नर्क में नहीं जाएँगे बल्कि धरती पर (भूत के रूप में) दुबक कर रहेंगे। एक अन्य शख्स का कहना है कि ईवीएम हैक कर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं। बता दें कि ईवीएम को लेकर इस तरह की साजिशों का आरोप पहले भी विपक्षी नेता, खास कर कॉन्ग्रेस द्वारा लगाया जा चुका है।

प्रदर्शनकारियों ने एक गधे का पुतला भी बनाया और उसके चेहरे पर पीएम मोदी की तस्वीर चिपका दी थी। वहीं इसके शरीर पर मुकेश अंबानी और अडाणी की तस्वीरें लगाई गई थी। प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री ‘कुत्ता’ भी कहते हैं। वीडियो सिंघू बॉर्डर पर कैप्चर किया गया और 6 जनवरी को यूट्यूब पर अपलोड किया गया।

प्रधानमंत्री के प्रति ऐसी घृणा पहले भी देखी जा चुकी है। पिछले दिनों वाम मोर्चे की किसान शाखा को एक गीत गाते हुए प्रधानमंत्री के मरने की दुआ करते देखा गया। महिलाओं को गाते हुए सुना गया, “मोदी मर जा तू, शिक्षा बेच के खा गया रे मोदी, मर जा तू। रेल बेचकर खा गया रे मोदी, मर जा तू। देश बेच के खा गया रे मोदी, मर जा तू। किसानों को धोखा दे गए रे मोदी, मर जा तू।” वहीं सामने बैठी महिला बार-बार ‘हाय-हाय मोदी मर जा तू’ दोहरा रही थी।

वहीं शुक्रवार (जनवरी 08, 2021) को इंडिया टुडे की एडिटर प्रीति चौधरी ने दावा किया कि प्रदर्शनस्थल पर मौजूद ‘कुछ प्रदर्शनकारी’ रिपोर्टरों (पत्रकारों) का यौन उत्पीड़न भी करने लगे हैं, वहीं वहाँ मौजूद अन्य लोग ये सब होने दे रहे हैं। प्रीति चौधरी ने दावा किया कि ऐसी घटनाओं की रिपोर्ट करने के लिए उनकी खुद की टीम के पास कई ऐसे वाकये हैं, जब रिपोर्टर को यौन उत्पीड़न झेलना पड़ा। उन्होंने कहा कि उनके नितंबों पर चुटकी काटी गई।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe