Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाज10 बरस के मासूम का गला रेता, पुलिस को मदरसे के किसी अंदर वाले...

10 बरस के मासूम का गला रेता, पुलिस को मदरसे के किसी अंदर वाले पर शक

मदरसा इस्लामिया अरबिया अहले सुन्नत फैज़-उल उलूम रहमानिया के छात्र को चाकू से गोदा गया और उसका गला रेत दिया गया। हमला तब हुआ जब वह 16 अन्य छात्रों के साथ मदरसे के हॉल में सोया था।

उत्तर प्रदेश के एक मदरसे में 10 साला के एक बच्चे पर बेरहमी से हमला किया गया है। मंगलवार (1 अक्टूबर) को हुए इस हमले में बुरी तरह घायल छात्र को मेरठ के मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराया गया है, जहाँ उसकी हालत नाज़ुक बनी हुई है

बताया जा रहा है कि हमले में मदरसा इस्लामिया अरबिया अहले सुन्नत फैज़-उल उलूम रहमानिया के छात्र को चाकू से गोदा गया और उसका गला रेत दिया गया। हमला तब हुआ जब वह 16 अन्य छात्रों के साथ मदरसे के हॉल में रात को सोया था। मदरसे में करीब 200 बच्चे रहते हैं।

एक मदरसा कर्मचारी के शब्दों में, “जब हमला हुआ तो हॉल में 17 छात्र थे। सभी सो रहे थे। हमलावर चुपचाप कमरे में पहुँचे और छात्र का गला रेतने के अलावा उसे चाकू घोंपा। आवाज़ें सुनकर एक दूसरा छात्र जाग गया और उसने मदद के लिए शोर मचाना शुरू किया तो हमलावरों को भागना पड़ा।”

शोरगुल सुनकर मदरसे के कर्मचारी जाग गए और भागते हुए हॉल में पहुँचे जहाँ उन्हें घायल छात्र मिला। मदरसे के प्राध्यापक ने छात्र को आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुँचाया, जहाँ से उसे मेरठ के मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया गया।

मामला गजरौला थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मोहम्मदाबाद गाँव का है। एसपी विपिन तडा और गजरौला के एसएचओ डीके शर्मा ने मदरसे पहुँच कर जाँच शुरू कर दी है। तफ्तीश कर रही पुलिस को शक किसी मदरसे के अंदर के ही व्यक्ति पर है और दो कर्मचारियों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी ले लिया गया है। हमले में प्रयुक्त चाकू पुलिस को मदरसे की बाउंड्री के पार खेत में मिला। पता चला है कि यह चाकू मदरसे के ही किचन का है।

पुलिस ने उस पर से निशान मिटाने की कोशिश के चिह्नों की पुष्टि की है। एसपी तडा के अनुसार, “पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और दो कर्मचारियों को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया गया है। एक संदिग्ध के कमरे में खून के निशान हैं और हमलावर ने उन्हें पानी से धोने की कोशिश की है। हमें शक है कि मदरसे के अंदर से ही कोई हमले में शामिल है। हमले का कारण अभी पता नहीं चला है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -