Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजछत्तीसगढ़ में एनकाउंटर में 12 नक्सली ढेर, 1200 जवानों ने सँभाला मोर्चा: बोले CM...

छत्तीसगढ़ में एनकाउंटर में 12 नक्सली ढेर, 1200 जवानों ने सँभाला मोर्चा: बोले CM विष्णुदेव साय – डबल इंजन की सरकार का मिल रहा लाभ

छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री विजय शर्मा ने कहा कि नक्सलवाद की समस्या का हल बातचीत के माध्यम से निकलना चाहिए, बस्तर तक विकास पहुँचना चाहिए, बस्तर के लोग बंधक न बनाए जाएँ, बंदूक के दम पर स्कूल-अस्पताल नहीं बनते।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता मिली है। बीजापुर में मुठभेड़ में 12 नक्सली ढेर हुए हैं। ये एनकाउंटर गंगानूर पुलिस थाना अंतर्गत आने वाले गाँव पीडिया के पास की है। सुरक्षाकर्मियों की एक टीम नक्सलियों की तलाशी में अभियान चला रही थी। इसी दौरान पास के जंगल से नक्सली गोलीबारी करने लगे। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। घटनास्थल से सभी एक दर्जन नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए हैं।

अच्छी बात ये है कि एक भी सुरक्षाकर्मी हताहत नहीं हुआ है। हालाँकि, 2 घायल हुए हैं। इलाके में अभी भी तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। याद दिलाते चलें कि इससे पहले काँकेड़ में एक मुठभेड़ में 29 नक्सली मार गिराए गए थे। जहाँ तक बीजापुर की बात हैं, वहाँ कोरचोली और लेंड्रा के जंगलों में इससे पहले हुए मुठभेड़ में पुलिस ने 13 नक्सलियों का सफाया किया था। इनमें से कई इनामी नक्सली भी थे। राज्य में सरकार बदलने के साथ ही नक्सल विरोधी कार्रवाई तेज़ हो गई है।

ताज़ा एनकाउंटर के बारे में बताते हुए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा, “नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में हमारे जवानों को भारी सफलता मिली है। मुठभेड़ समाप्त हो गया है, नक्सलियों की 12 लाशें मिली हैं। मैं अधिकारियों और जवानों को बधाई देता हूँ। जब से हमलोग सरकार में आए हैं, नक्सलवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ रहे हैं। केंद्र सरकार भी चाहती है कि छत्तीसगढ़ से नक्सलवाद समाप्त हो। डबल इंजन की सरकार का हमें लाभ मिल रहा है।”

वहीं छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री और कवर्धा से विधायक विजय शर्मा ने बताया कि DRG की बीजापुर व दंतेवाड़ा की टीम, कोबरा बटालियन और STF मिल कर 1000 की संख्या में सर्चिंग के लिए निकले थे। उन्होंने कहा कि IED की चपेट में आने से एक जवान को मामूली चोट आई है। उन्होंने कहा कि नक्सलवाद की समस्या का हल बातचीत के माध्यम से निकलना चाहिए, बस्तर तक विकास पहुँचना चाहिए, बस्तर के लोग बंधक न बनाए जाएँ, बंदूक के दम पर स्कूल-अस्पताल नहीं बनते। उन्होंने नक्सलियों के आत्म-समर्पण करने और उन्हें मुख्यधारा में लाने के लिए नई रिहैबिटिलेशन योजना बनाने का भी वादा किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -