Wednesday, April 24, 2024
Homeदेश-समाजगृहमंत्री अमित शाह ने लाल किले से NSG की कार रैली को हरी झंडी...

गृहमंत्री अमित शाह ने लाल किले से NSG की कार रैली को हरी झंडी दिखाई, 12 राज्यों के 18 शहरों के ऐतिहासिक स्थानों से होकर गुजरेगी

NSG कमांडो अत्याधुनिक हथियारों से लैस होते हैं। इसे इंग्लैंड के SAS और जर्मनी कमांडो यूनिट GSG-9 के तर्ज पर तैयार किया गया है। जर्मनी ने भी इस यूनिट को आतंकवाद से लड़ने के लिए बनाया था, जो कारगर साबित हुई।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने देश की ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के उपलक्ष्य में शनिवार (2 अक्टूबर 2021) को लाल किले से राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) की अखिल भारतीय कार रैली ‘सुदर्शन भारत परिक्रमा’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs) की साइकिल रैलियों का भी स्वागत किया। दांडी, उत्तर-पूर्व और लेह से लेकर कन्याकुमारी तक देश के विभिन्न हिस्सों से शुरू हुईं ये साइकिल रैलियाँ आज नई दिल्ली में सम्पन्न हुईं।

पीआईबी के मुताबिक, 7,500 किलोमीटर लंबी यात्रा के दौरान NSG की कार रैली 12 राज्यों के 18 शहरों में देश के स्वतंत्रता आंदोलन और स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़े महत्वपूर्ण व ऐतिहासिक स्थानों से होकर गुजरेगी। यह रैली 30 अक्टूबर 2021 को नई दिल्ली स्थित पुलिस स्मारक पर समाप्त होगी। वहीं, 15 अगस्त 2021 से शुरू हुई साइकिल रैलियों में अधिकारी और जवानों समेत करीब 900 साइकिल सवार शामिल हैं, जो 21 राज्यों से लगभग 41,000 किलोमीटर का सफर तय करते हुए शनिवार को दिल्ली पहुँचे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा आयोजित इन रैलियों का उद्देश्य देश की आजादी की 75वीं वर्षगाँठ को ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के रूप में मनाना और स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े ऐतिहासिक स्थलों का दौरा करके आपसी भाईचारे का संदेश प्रसारित करना है। इसके साथ ही युवाओं से मिलकर देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने के लिए उन्हें राष्ट्रभक्ति के लिए प्रेरित करना है।

नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) क्या है

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड, जिसे नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) के नाम से भी जाना जाता है, भारत की सर्वश्रेष्ठ कमांडो यूनिट है। यह एक अति विशिष्ट टुकड़ी है। इसका गठन 1984 के ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद संसद द्वारा विशेष विधेयक द्वारा किया गया था।

भारत के इस कमांडो की गिन​ती विश्व की प्रमुख 5 कमांडोज यूनिट में होती है। देश में करीब 14,500 एनएसजी कमांडो हैं। NSG कमांडो अत्याधुनिक हथियारों से लैस होते हैं। इसे इंग्लैंड के SAS और जर्मनी कमांडो यूनिट GSG-9 के तर्ज पर तैयार किया गया है। जर्मनी ने भी इस यूनिट को आतंकवाद से लड़ने के लिए बनाया था, जो कारगर साबित हुई। यह गृह मंत्रालय के अंतर्गत आती है और इसी के निरीक्षण में काम करती है। नेशनल सिक्योरिटी गार्ड का मुख्य उद्देश्य व कार्य देश और राज्य में फैली आतंकवादी गतिविधियों को खत्म करना है। NSG कमांडो को दो भागों Special Action Group (SAG) और Special Rangers Group (SRG) में विभाजित किया गया है।

बता दें कि अपनी यात्रा के दौरान एनएसजी की कार रैली देश के 12 राज्यों के 18 शहरों से काकोरी मेमोरियल (लखनऊ), भारत माता मंदिर (वाराणसी), नेताजी भवन बैरकपुर (कोलकाता), स्वराज आश्रम (भुवनेश्वर), तिलक घाट (चेन्नई), फ़्रीडम पार्क (बेंगलुरू), मणि भवन/अगस्त क्रांति मैदान (मुंबई) और साबरमती आश्रम (अहमदाबाद) जैसे ऐतिहासिक महत्व वाले अनेक स्थानों से होकर गुजरेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नरेंद्र मोदी ने गुजरात CM रहते मुस्लिमों को OBC सूची में जोड़ा’: आधा-अधूरा वीडियो शेयर कर झूठ फैला रहे कॉन्ग्रेसी हैंडल्स, सच सहन नहीं...

कॉन्ग्रेस के शासनकाल में ही कलाल मुस्लिमों को OBC का दर्जा दे दिया गया था, लेकिन इसी जाति के हिन्दुओं को इस सूची में स्थान पाने के लिए नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने तक का इंतज़ार करना पड़ा।

‘खुद को भगवान राम से भी बड़ा समझती है कॉन्ग्रेस, उसके राज में बढ़ी माओवादी हिंसा’: छत्तीसगढ़ के महासमुंद और जांजगीर-चांपा में बोले PM...

PM नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस खुद को भगवान राम से भी बड़ा मानती है। उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा सरकार है, तब तक आपके हक का पैसा सीधे आपके खाते में पहुँचता रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe