Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबारामुला एनकाउंटर में बलिदान हुआ 2 साल का 'एक्सल', बहादुरी देख सेना ने दी...

बारामुला एनकाउंटर में बलिदान हुआ 2 साल का ‘एक्सल’, बहादुरी देख सेना ने दी श्रद्धांजलि: आतंकियों को पकड़वाने में थी खास भूमिका

एक्सल की तैनाती 29 राष्ट्रीय रायफल में थी। 30 जुलाई को आतंकियों ने उनके सिर पर गोली मारी। पोस्टमार्टम में भी सामने आया कि एक्सल के शरीर पर दस से अधिक चोट थी और फीमर का फ्रैक्चर भी था।

जम्मू-कश्मीर के बारामुला में शनिवार (30 जुलाई 2022) को आतंकियों को पकड़ने के ऑपरेशन के दौरान भारतीय सेना के खोजी कुत्ते ‘एक्सल (Axel)’ की मृत्यु हो गई। एक्सल की तैनाती 29 राष्ट्रीय रायफल में थी। शनिवार को आतंकियों ने उनके सिर पर गोली मारी।

पोस्टमार्टम में सामने आया कि एक्सल के शरीर पर दस से अधिक चोटें थी और फीमर का फ्रैक्चर भी था। सेना में दिए गए उनके योगदान को देखते हुए उनके सम्मान में फोर्स कमांडर द्वारा रविवार को श्रद्धांजलि समारोह आयोजित किया गया।

बता दें कि बारामुला ऑपरेशन के दौरान एक्सल की भूमिका काफी अहम रही। सेना ने आतंकियों का पता लगाने के लिए उन्हें ही ठिकाने में अंदर भेजा था। खबरों की मानें तो एक्सल को आता देख कई आतंकी भागने लगे थे, जिसके बाद सेना उनके ऊपर आसानी से निशाना साध पाई। लेकिन इसी सब के बीच उन आतंकियों ने एक्सल पर गोली दाग दी। वह बुरी तरह घायल हो गए और अपने जीवन का बलिदान देकर कई सुरक्षाबल जवानों की जान बचाई। इस मुठभेड़ में एक्सल के अलावा तीन जवान भी घायल बताए जा रहे हैं जबकि एक आतंकी अख्तर हुसैन भट्ट को ढेर किए जाने की खबर हैं।

मात्र 2 साल का था एक्सल

मालूम हो कि आतंकियों के विरुद्ध चलाए गए सेना के अभियान में मुख्य भूमिका अदा करने वाला ‘एक्सल’ मात्र दो साल के थे। उनका रंग हल्का भूरा था और ब्रीड बेल्जियन मैलिनोइस थी। वह 26 आर्मी डॉग यूनिट का हिस्सा थे और 29 राष्ट्रीय रायफल में उनकी तैनाती हुई थी।

सेना के अधिकारियों ने ऑपरेशन के दौरान एक्सल की भूमिका बयां करते हुए कहा कि एक बिल्डिंग क्लीयरेंस ऑपरेशन के दौरान शुरू में सेना के एक दूसरे डॉग ‘बालाजी’ को बिल्डिंग इंटरवेंशन के लिए भेजा गया और कॉरिडोर को अंदर से सैनिटाइज किया गया। इसके बाद ‘एक्सल’ को तैनात किया गया।

सेना अधिकारियों के मुताबिक, ‘एक्सल’ पहले कमरे में गए, तो उस कमरे को क्लीयर किया गया। मगर,दूसरे कमरे में घुसते ही ‘एक्सल पर फायरिंग कर दी गई। गोली लगने के बाद भी ‘एक्सल’ ने 15 सेकंड के लिए कुछ हलचल दिखाई, पर इसके बाद वह गिर गए। सुरक्षाबल के जवान जब तक उन्हें अस्पताल ले जाते, तब तक वह दम तोड़ चुके थे।

5 घंटे चली इस मुठभेड़ के बाद एक्सल के शव को बरामद किया गया। सामने आई वीडियो में देख सकते हैं कि सुरक्षाबल का जवान कहता नजर आ रहा है कि एक्सल को तीन गोली लगी। वहीं सोशल मीडिया यूजर्स भी इस वीडियो को देख भावुक हो रहे हैं। उन्होंने भी एक्सल को श्रद्धांजलि अदी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -