Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाईद पर इस बार BSF ने पाकिस्तान को नहीं दी मिठाई, बांग्लादेश का कराया...

ईद पर इस बार BSF ने पाकिस्तान को नहीं दी मिठाई, बांग्लादेश का कराया मुँह मीठा

अधिकारियों ने कहा कि पश्चिमी सीमा पार से आतंकवाद की घटनाएँ लगातार जारी हैं और इसलिए, जम्मू से गुजरात तक भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर किसी भी स्थान पर ईद की मिठाई का आदान-प्रदान नहीं हुआ। दोनों देशों के बीच मौजूदा तनावपूर्ण हालातों को देखते हुए यह फैसला लिया गया।

ईद पर भारत-पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ और पाकिस्तान रेंजर्स के बीच हर साल होने वाली मिठाइयों के आदान-प्रदान की रस्म अदायगी आज सोमवार (मई 25, 2020) को मनाई गई ईद पर नहीं हुई। हालाँकि, बीएसएफ ने बांग्लादेश के सीमा सुरक्षाबल बीजीबी के जवानों को ईद की बधाई दी और उनका मुँह मीठा करवाया।

सरहद की रक्षा के जिम्मेदार सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने कहा कि इस बार पाकिस्तान के साथ मिठाई नहीं बाँटी गईं। दोनों देशों के बीच मौजूदा तनावपूर्ण हालातों को देखते हुए यह फैसला लिया गया।

अधिकारियों ने कहा कि पश्चिमी सीमा पार से आतंकवाद की घटनाएँ लगातार जारी हैं और इसलिए, जम्मू से गुजरात तक भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर किसी भी स्थान पर ईद की मिठाई का आदान-प्रदान नहीं हुआ

पाकिस्तान ने पिछले साल दिवाली के दिन भी सीजफायर का उल्लंघन किया था। जम्मू कश्मीर में एलओसी के पास राजौरी जिले के सुंदरबन सेक्टर में फायरिंग की गई थी, बावजूद इसके दिवाली और गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के दौरान भारतीय सेना ने पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई देने के लिए संदेश भिजवाया था, लेकिन सीमा के उस पार से कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया।

पाकिस्तानी रेंजर ने बीएसएफ को संदेश भेजा था कि वह इस बार दिवाली की मिठाई स्वीकार नहीं करेंगे, जिसके बाद भारत ने भी पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और एलओसी पर बीएसएफ के जवानों की ओर से कोई मिठाई नहीं भिजवाई।

बीएसएफ ने पूर्वी मोर्चे पर तैनात बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) के साथ मिठाई का आदान-प्रदान किया। भारत और बांग्लादेश 4,096 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करते हैं। बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, “दोनों देश और सीमा-सुरक्षा बलों के बीच गर्मजोशी बरकरार है। ईद के दौरान त्यौहारों की खुशी भी बाँटी गई। बीएसएफ और बीजीबी सौहार्दपूर्ण संबंध साझा करते हैं। दोनों देश एक समान संस्कृति, परंपराओं और त्यौहार मनाते हैं।”

इस महीने की शुरुआत में ही जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में एक आतंकी हमला हुआ था। आतंकियों ने एक घर में लोगों को बंधक बना लिया था, जिन्हें छुड़ाने के लिए एनकाउंटर शुरू किया गया, जिसमें दो आतंकी मारे गए।

हालाँकि, बंधक बनाए गए सभी नागरिकों को बचा लिया गया, लेकिन 5 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। इस घटना ने एक बार फिर से पाकिस्तान की करतूत उजागर की थी, जहाँ से पाले-पोसे गए आतंकी भारत में तबाही मचाने में लगे हुए हैं।

दुनियाभर के देश जहाँ कोरोना संकट से निपटने में अपनी ऊर्जा और शक्ति का इस्तेमाल कर रहा है पाकिस्तान, भारत के खिलाफ छद्म युद्ध में लड़ने में लगा हुआ है। कभी सीजफायर का उल्लंघन कर तो कभी अपने भेजे आतंकियों से हमले करवा कर।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान: चुनाव में कर्जमाफी का वादा… अब मुकर गई कॉन्ग्रेसी सरकार, किसानों को मिल रहे कुर्की के नोटिस

प्रदेश में तमाम किसान हैं जिन्होंने 1 लाख रुपए से लेकर साढ़े 3 लाख रुपए तक लोन लिया था, और अब उनके पास नोटिस गए हैं। बैंक उन्हें कुर्की के नोटिस भेज रहा है।

सिद्धू के नाम ऑडियो, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की आत्महत्या: कहा – ‘पार्टी को 30 साल दिए, शादी भी नहीं… कोई फायदा नहीं’

ऑडियो के मुताबिक किसी प्लॉट संबंधी एक मामले में बाजवा को फँसाने की तैयारी चल रही थी, इसी से आहत होकर उन्होंने आत्महत्या का फैसला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe