Wednesday, September 28, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाट्रक पर सवार होकर J&K से दिल्ली के लिए निकले आतंकी: कई राज्यों में...

ट्रक पर सवार होकर J&K से दिल्ली के लिए निकले आतंकी: कई राज्यों में है अलर्ट, सघन तलाशी शुरू

पुलिस को मिली सूचना ​के अनुसार, ट्रक, बस, कार या टैक्सी से जम्मू कश्मीर से कुछ आतंकी दिल्ली में प्रवेश कर चुके हैं। कुछ घुसने की ताक में लगे हुए हैं, जिसको लेकर सभी गेस्ट हाउस, होटलों और कश्मीर के नंबर के वाहनों की सघन तलाशी प्रारम्भ कर दी गई है।

दिल्ली में आतंकी हमले की आशंका के बाद अलर्ट जारी कर दिया गया है। ख़ुफ़िया एजेंसियों को पता चला है कि जम्मू कश्मीर से दिल्ली के लिए ट्रक पर सवार होकर 4-5 आतंकी निकले हैं, जिसके बाद बीच में पड़ने वाले सभी राज्यों में है अलर्ट जारी कर दिया गया है ताकि उन्हें रोका जा सके। चूँकि दिल्ली में कोरोना के कारण सरकार और पुलिस-प्रशासन ख़ासा व्यस्त है, ऐसे में आतंकी अपनी मंसूबों को कामयाब करने के लिए मौके ढूँढ़ रहे हैं।

पुलिस को मिली सूचना ​के अनुसार, ट्रक, बस, कार या टैक्सी से जम्मू कश्मीर से कुछ आतंकी दिल्ली में प्रवेश कर चुके हैं। कुछ घुसने की ताक में लगे हुए हैं, जिसको लेकर सभी गेस्ट हाउस, होटलों और कश्मीर के नंबर के वाहनों की सघन तलाशी प्रारम्भ कर दी गई है। सभी बस स्टैंडों और रेलवे स्टेशनों पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रारंभिक सूचना ये थी कि जम्मू-कश्मीर से 4 से 5 आतंकी ट्रक में सवार होकर दिल्ली के लिए निकले थे।

दिल्ली के आउटर नॉर्थ जिले के क्षेत्रों में पुलिस को अत्यधिक सतर्क रहने और सघन तलाशी अभियान चलाने को निर्देशित किया गया है। डीसीपी, स्पेशल सेल क्राइम ब्रांच, स्पेशल ब्रांच और अन्य यूनिट को पहले ही अलर्ट जारी कर दिया गया है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की सीमाओं पर भी विशेष सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है। भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव के कारण सुरक्षा एजेंसियाँ पहले से ही अलर्ट पर हैं।

ज्ञात हो कि सशस्त्र बलों ने कश्मीर में पिछले 24 घंटों में कुलगाम व जडीबल में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में चार आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया। मारे गए चारों आतंकवादियों में से तीन की पहचान कर ली गई जबकि एक आतंकवादी की पहचान अभी होनी बाकी है। पुलिस व सुरक्षा एजेंसियों को सूचना मिली थी कि श्रीनगर के जडीबल में तीन आतंकवादी छिपे हुए हैं। इसके बाद तुरंत पुलिस व सीआरपीएफ ने संयुक्त अभियान शुरू किया, जिसमें सभी आतंकी मारे गए। 

जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार कल (21 जून, 2020) के मुठभेड़ में आतंकियों के मारे जाने के साथ ही घाटी के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब 4 प्रमुख आतंकी संगठनों के सरगनाओं का 4 महीने में सफाया हो गया है। जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने मीडिया को बताया कि पिछले 4 महीने में लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन और अंसार गजवत-उल हिंद के सरगनाओं को मुठभेड़ में मार गिराने में पुलिस ने सफलता पाई है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सारे मुस्लिम युवकों को जेल में डाल दिया जाएगा, UAPA है काला कानून’: PFI बैन पर भड़के ओवैसी, लालू यादव और कॉन्ग्रेस MP

असदुद्दीन ओवैसी के लिए UAPA 'काला कानून' है। लालू यादव ने RSS को 'PFI सभी बदतर' कह दिया। कॉन्ग्रेसी कोडिकुन्नील सुरेश ने RSS को बैन करने की माँग की।

2047 तक भारत को बनाना था इस्लामी राज्य, गृहयुद्ध के प्लान पर चल रहा था काम: राजस्थान में जातीय संघर्ष भड़का PFI का सरगना...

PFI 'मिशन 2047' की तैयारी में था, अर्थात स्वतंत्रता के 100 वर्ष पूरे होने तक भारत को एक इस्लामी मुल्क में तब्दील कर देना, जहाँ शरिया चले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe