Thursday, January 27, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाहिजबुल का बलात्कारी कमांडर मसूद ढेर, त्राल के बाद डोडा भी 'आतंकी मुक्त'

हिजबुल का बलात्कारी कमांडर मसूद ढेर, त्राल के बाद डोडा भी ‘आतंकी मुक्त’

"अनंतनाग के खुल चोहार इलाके में पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया। इनमें से एक लश्कर का जिला कमांडर था। हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर मसूद को भी ढेर कर दिया गया। इसके साथ ही जम्मू जोन का डोडा जिला आतंकियों से पूरी तरह मुक्त हो गया है।"

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल को हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों से पूर्ण रूप से मुक्त कराने के बाद अब सुरक्षाबलों ने श्रीनगर के डोडा इलाके को भी आतंकी मुक्त करवा लिया है। यह जानकारी स्वयं जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने दी है।

डीजीपी ने बताया है कि सोमवार को हुई मुठभेड़ में हिजबुल कमांडर मसूद के मारे जाने के बाद इलाका पूरी तरह से आतंकी मुक्त हो गया। वह बलात्कार के मामले में भी वंछित था।

डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस संबंध में बताया, “अनंतनाग के खुल चोहार इलाके में पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट ने मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया। इनमें से एक लश्कर का जिला कमांडर था। मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर मसूद को भी ढेर कर दिया गया । इसके साथ ही जम्मू जोन का डोडा जिला आतंकियों से पूरी तरह मुक्त हो गया है।”

गौरतलब है कि अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच सोमवार को हुई मुठभेड़ में कुल तीन आतंकवादी मारे गए। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने दक्षिणी कश्मीर जिले के खुल चोहार में घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया था।

अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों के सुरक्षा बलों पर गोलियाँ चलाने के बाद अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। इनमें लश्कर के दो आतंकियों के साथ ही हिजबुल कमांडर मसूद भी शामिल है। मौके से एक एके-47 राइफल और 2 पिस्टल भी बरामद हुई है।

यहाँ बता दें, इससे पहले अभी बीते शुक्रवार को जम्मू कश्मीर पुलिस ने त्राल को हिजबुल आतंकियों से मुक्त कराने का ऐलान किया था। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने इस बारे में सूचित करते हुए शुक्रवार को कहा था, ‘‘आज के सफल अभियान के बाद, त्राल क्षेत्र में अब हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों की मौजूदगी नहीं है। यह 1989 के बाद पहली बार हुआ है।’’

उन्होंने कहा था, “त्राल जिसे कभी आतंकवाद का हॉट बेड माना जाता था, वहाँ अब आधा दर्जन से अधिक स्थानीय आतंकवादी सक्रिय हैं, लेकिन हिजबुल मुजाहिदीन आतंकवादी संगठन से कोई नहीं बचा है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe