Thursday, July 29, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाLOC पर राइफलधारी महिलाएँ, पहली बार कर रहीं भारत-पाक सीमा की सुरक्षा: देखें वायरल...

LOC पर राइफलधारी महिलाएँ, पहली बार कर रहीं भारत-पाक सीमा की सुरक्षा: देखें वायरल हुआ Video

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन प्रदान करने के लिए औपचारिक आदेश जारी किया था। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 17 फरवरी को एक याचिका पर सुनवाई के बाद भारतीय सेना में महिला अधिकारियों को...

भारत-पाकिस्तान सीमा पर पहली बार भारतीय सेना की राइफलधारी महिलाओं को तैनात किया गया है। लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर पहली बार इन महिलाओं को तैनात किया गया, जिसे देश और भारतीय सेना के लिए गर्व की बात बताई जा रही है।

पत्रकार आदित्य राज कौल ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि इस रक्षाबंधन वो इन महिलाओं को देख कर गर्व की अनुभूति कर रहे हैं। वीडियो में महिलाएँ राइफल के साथ सीमा पर तैनात दिख रही हैं।

हालाँकि, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो के बारे में ये भी कहा जा रहा है कि इसमें दिख रही महिलाएँ असम राइफल्स की हैं। ये दावा लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने किया, जिन्होंने असम राइफल्स को एक तगड़ी फोर्स करार दिया

लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने बतौर मेजर जनरल असम राइफल्स की एक बटालियन को कमांड किया था। उन्होंने कहा कि अब इस पैरा मिलिट्री फोर्स ने महिलाओं को मौका दिया है। बता दें कि असम राइफल्स देश की सबसे पुरानी पैरा मिलिट्री फोर्स है।

बता दें कि हाल ही में भारतीय सेना ने महिलाओं के लिए वैकेंसी भी जारी की है। जनरल ड्यूटी के पदों पर महिलाओं के लिए वैकेंसी जारी की गई है। कुल 99 पदों के लिए सेना ने वैकेंसी निकाली है। इसके लिए 10वीं तक की परीक्षा पास होने की एलिजिबिलिटी रखी गई है।

बता दें कि जुलाई 2019 में रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन प्रदान करने के लिए औपचारिक आदेश जारी किया था। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 17 फरवरी को एक याचिका पर सुनवाई के बाद भारतीय सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन व कमांड पोस्ट दिए जाने का आदेश दिया था और सरकार को इस फैसले पर अमल के लिए तीन माह का समय दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,735FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe