Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाFIFA वर्ल्ड कप में दीनी तकरीर करेगा भारत का भगोड़ा जाकिर नाइक, क़तर ने...

FIFA वर्ल्ड कप में दीनी तकरीर करेगा भारत का भगोड़ा जाकिर नाइक, क़तर ने बुलाया: मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी गतिविधियों में है वॉन्टेड

कतर वही देश है, जिसने इस्लामी पैगंबर मुहम्मद पर जाकिर नाइक द्वारा कही गई बात को नूपुर शर्मा द्वारा टीवी पर दोहराने के बाद देश में हुए उत्पात के दौरान भारत के राजदूत को समन जारी किया था। पूर्व भाजपा नेता की टिप्पणियों की 'अस्वीकृति और निंदा' व्यक्त करते हुए विरोध का ज्ञापन दिया था।

भारत में वांछित इस्लामी कट्टरपंथी मौलाना जाकिर नाइक (Zakir Naik) FIFA वर्ल्ड कप के दौरान उपदेश देने के लिए मेजबान कतर (Qatar) में रहेगा। कतर के सरकारी खेल चैनल अलकास (Alkass) के प्रस्तोता फैसल अलहाजरी ने ट्विटर पर नाइक की कतर में उपस्थिति की जानकारी दी।

फैसल अलहाजरी ने ट्विर पर जाकिर नाइक का फोटो डालते हुए लिखा, “इस्लामी मजहबी गुरु शेख जाकिर नाइक विश्व कप के दौरान कतर में हैं और पूरे विश्व कप के दौरान वे कई दीनी व्याख्यान देंगे।” जाहिर है कि सरकारी टीवी चैनल पर जाकिर नाइक का आना वहाँ की सरकार की सहमति से ही हो सकता है।

बता दें कि जाकिर नाइक अपने महजबी तकरीरों के जरिए समाज में ना सिर्फ नफरत फैलाता है, बल्कि मुस्लिम युवाओं को जिहाद और आतंकवाद के लिए भी प्रेरित करता है। हाल ही में कई गिरफ्तार आतंकियों ने बताया था कि वे जाकिर नाइक का वीडियो देखकर आतंकवाद की ओर बढ़े थे।

जाकिर नाइक पर भारत में उस पर मनी लॉन्ड्रिंग, आतंकवाद को बढ़ावा देने, धर्मांतरण से जुड़ाव, समाज में नफरत फैलाने, हेट स्पीच सहित कई गतिविधियों में लिप्त होने के कारण उस पर मामला दर्ज किया गया है। वह भारत का भगोड़ा और वांछित है। भारत सरकार उसे देश में लाने का लगातार प्रयास कर रही है।

साल 2016 के अंत में भारत ने नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार की कार्रवाई की भनक लगते ही जाकिर नाइक भागकर मलेशिया चला गया। उसके बाद साल 2017 में जाकिर नाइक को भगोड़े घोषित कर दिया गया।

मलेशिया में भी जाकिर नाइक ने अपने भाषणों के जरिए हिंदुओं और चीनियों के बीच नफरत फैलाने की कोशिश की थी। इसके बाद मुस्लिम बहुल देश मलेशिया की पुलिस ने उससे पूछताछ भी की थी। बाद में वहाँ की सरकार ने ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ का हवाला देते हुए साल 2020 में देश में जाकिर नाइक के भाषण देने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

बता दें कि साल 2022 के FIFA विश्व कप का मेजबान देश कतर है। यह खेल 20 नवंबर 2022 को कतर की राजधानी दोहा से लगभग 35 किलोमीटर दूर स्थित अल बेयत स्टेडियम में आयोजित किया जा रहा है। इसमें जाकिर नाइक को आमंत्रित किया गया है। कतर पहुँचने पर जाकिर नाइक का एक वीडियो भी सामने आया है।

कतर वही देश है, जिसने इस्लामी पैगंबर मुहम्मद पर जाकिर नाइक द्वारा कही गई बात को नूपुर शर्मा द्वारा टीवी पर दोहराने के बाद देश में हुए उत्पात के दौरान भारत के राजदूत को समन जारी किया था। पूर्व भाजपा नेता की टिप्पणियों की ‘अस्वीकृति और निंदा’ व्यक्त करते हुए विरोध का ज्ञापन दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -