Thursday, September 23, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षानगरोटा में ढेर हुए आतंकी 26/11 की बरसी पर करने आए थे बड़ा 'धमाका':...

नगरोटा में ढेर हुए आतंकी 26/11 की बरसी पर करने आए थे बड़ा ‘धमाका’: PM मोदी ने समीक्षा बैठक के बाद जताया सेना का आभार

"पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े 4 आतंकवादियों का ढेर होना और उनके पास भारी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की मौजूदगी यह संकेत देती है कि तबाही मचाने और विनाश करने की उनकी कोशिशों को विफल कर दिया गया है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (नवंबर 20, 2020) गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव और शीर्ष खुफिया अफसरों के साथ नगरोटा एनकाउंटर पर एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक की जानकारी समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से दी। एजेंसी ने बताया कि नगरोटा में मारे गए आतंकी 26/11 की बरसी पर एक बार फिर से कुछ बड़ा करने की योजना बना रहे थे।

पीएम मोदी ने इस समीक्षा बैठक के बाद सेना को उनकी सतर्कता के लिए उनका आभार व्यक्त किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,

“पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े 4 आतंकवादियों का ढेर होना और उनके पास भारी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की मौजूदगी यह संकेत देती है कि तबाही मचाने और विनाश करने की उनकी कोशिशों को विफल कर दिया गया है।”

आगे पीएम लिखते हैं, “हमारे सुरक्षाबलों ने एक बार फिर अपनी बहादुरी और प्रतिबद्धता दिखाई है। उनकी सतर्कता का आभार जो उन्होंने जम्मू कश्मीर में डेमोक्रेटिक एक्सरसाइज को लक्षित करने वाली नापाक साजिश को नाकाम कर दिया है।”

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबल को बड़े हमले की जानकारी कल नगरोटा में आतंकियों को ढेर करने के साथ मिली थी। जैश- ए- मोहम्मद के चार आतंकियों को बन टोल प्लाजा पर चेकिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने एन-44 पर ढेर किया था। चारों आतंकी एक चावल के ट्रक में छिपकर आ रहे थे और चेकिंग के लिए रोके जाने पर इन्होंने फायरिंग शुरू कर दी थी।

जवाबी कार्रवाई के दौरान जवानों ने ट्रक को विस्फोट से ही उड़ा दिया, जिसके बाद आतंकी पास में जंगल की तरफ भागने लगे। 3 घंटे तक चले ऑपरेशन में सभी आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया। इस मुठभेड़ में एक जवान भी घायल हुआ था।

पुलिस ने इनके पास से 11 एके-24 राइफल, 3 पिस्टल, 29 ग्रेनेड आदि उपकरण भारी मात्रा में बरामद किए थे। पाकिस्तानी दवाइयों से पता चला था ये सभी पाकिस्तान के हैं। इसके अलावा भारी मात्रा में हथियार और दवाइयों से यह जानकारी भी हुई कि यह लोग घुसपैठ करके आए थे और आत्मघाती हमलावर हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात में ‘लैंड जिहाद’ ऐसे: हिंदू को पाटर्नर बनाओ, अशांत क्षेत्र में डील करो, फिर पाटर्नर को बाहर करो

गुजरात में अशांत क्षेत्र अधिनियम के दायरे में आने वाले इलाकों में संपत्ति की खरीद और निर्माण की अनुमति लेने के लिए कई मामलों में गड़बड़ी सामने आई है।

‘नागवार हुकूमत… मदीना को बना देगी आवारगी का अड्डा’: सऊदी अरब को ‘मदीना में सिनेमा’ पर भारत-पाक के मुस्लिम भेज रहे लानत

कुछ लोग सऊदी हुकूमत के इस फैसले में इजरायल को घुसा रहे हैं। उनका कहना है कि मदीना पूरे उम्माह का है न कि इजरायल के नौकरों को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,920FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe