Thursday, January 27, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षातमिलनाडु में दहशत के ठिकानों पर छापा, NIA ने किया 3 संदिग्ध आतंकियों को...

तमिलनाडु में दहशत के ठिकानों पर छापा, NIA ने किया 3 संदिग्ध आतंकियों को किया गिरफ्तार

NIA ने स्टेटमेंट जारी कर बताया कि सईद बुखारी, हसन अली और मोहम्मद युसफुद्दीन हरीश के खिलाफ आतंकवाद संबंधी मामला दर्ज किया गया है।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने तमिलनाडु में छापा मार कर तीन जिहाद-संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। संदिग्धों के पास से 9 मोबाइल फ़ोन, 15 सिम कार्ड, 3 लैपटॉप, 5 हार्ड डिस्क, 7 मेमोरी कार्ड, 3 सीडी/डीवीडी, 2 टैबलेट और 6 पेन ड्राइव बरामद हुए हैं। इसके अलावा, छापेमारी में काफी मात्रा में किताबें, मैगज़ीन, बैनर, पोस्टर, नोट्स इत्यादि भी जब्त किए गए हैं।

दो शहरों में, चार ठिकानों पर छापे

चेन्नै और नागापट्टिनम के दो-दो ठिकानों पर पड़े इस छापे का मकसद कोयम्बटोर में पिछले महीने गिरफ्तार 6 आईएस समर्थकों के गिरोह की पड़ताल था। NIA के मुताबिक, पकड़े गए लोगों में श्री लंका सीरियल बम धमाकों के मास्टरमाइंड माने जा रहे ज़ाहरान हाशिम का फेसबुक फ्रेंड मोहम्मद अज़हरुद्दीन भी था। इन 6 लोगों की गिरफ़्तारी के बाद इनके घरों और कार्यस्थलों पर पड़े छापे में ऐसे दस्तावेज भी बरामद हुए थे, जिनमें दक्षिण भारत, खास कर तमिलनाडु और केरल में आतंकी हमले करने के लिए युवाओं की भर्ती हेतु आईएस की विचारधारा सोशल मीडिया में फैलाने की बात थी।

चेन्नै में छापा, वहादे इस्लामी हिन्द संस्था के मन्नाडी स्थित कार्यालय पर मारा गया। इसके अलावा संस्था के राज्य अध्यक्ष मोहम्मद सईद बुखारी के घर पर भी छपा पड़ा। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, इसके लिए नई दिल्ली से 7 अफसरों की टीम आई थी। इसके अलावा नागापट्टिनम में हसन अली युनुस्मारिकार के अड्डों पर भी NIA, केरल की टीम बुलाए जाने की बात रिपोर्ट में कही गई है।

NIA ने एक स्टेटमेंट जारी कर बताया कि सईद बुखारी, हसन अली और नागापट्टिनम के ही निवासी मोहम्मद युसफुद्दीन हरीश मोहम्मद के खिलाफ मामला आईपीसी की धाराओं के अलावा UAPA के अंतर्गत भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए आतंकवादी गैंग बनाने को लेकर दर्ज किया गया है। इसके साथ ही एनआईए का कहना है कि आरोपित सैयद मोहम्मद बुखारी, हसन अली और मोहम्मद युसुफुद्दीन और उसके सहयोगियों ने बड़े पैमाने पर फंड जुटाया है। ये लोग भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे। इन आतंकियों का मंसूबा भारत में इस्लामिक राज्य की स्थापना करना है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

TMC सांसद जवाहर सरकार ने ‘पद्म विभूषण’ अवॉर्ड के लिए इस अभिनेता के नाम पर फैलाया झूठ: यूजर्स बोले- 2015 में ही दे चुकी...

TMC सांसद और प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सरकार द्वारा भ्रामक ट्वीट करने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी क्लास लगा दी।

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,925FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe