Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमाले में कश्मीर राग अलाप बेइज्जत हुआ पाक, भारत ने पूर्वी पाकिस्तान का नरसंहार...

माले में कश्मीर राग अलाप बेइज्जत हुआ पाक, भारत ने पूर्वी पाकिस्तान का नरसंहार याद दिला लगाई लताड़

भारत ने आतंकवाद को मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि पाकिस्तान को आतंकी संगठनों को मदद बंद करनी चाहिए। मालदीव में दोनों देशों के बीच बहस की शुरुआत पाकिस्तानी नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी के बयान से हुई।

यूॅं तो कश्मीर पर पाकिस्तानी प्रोपगेंडा को दुनिया में कोई भाव नहीं मिल रहा फिर भी पड़ोसी मुल्क अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा। उसने रविवार (सितंबर 1, 2019) को मालदीव की राजधानी माले में दक्षिण एशिया की संसदों के अध्यक्षों के शिखर सम्मेलन के दौरान भी कश्मीर राग अलापने की कोशिश की। लेकिन, भारत ने पूर्वी पाकिस्तान के नरसंहार और आतंकियों को पनाह देने की उसकी हरकत उजागर कर उसकी बोलती बंद कर दी।

भारत ने आतंकवाद को मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि पाकिस्तान को आतंकी संगठनों को मदद बंद करनी चाहिए। मालदीव में दोनों देशों के बीच बहस की शुरुआत पाकिस्तानी नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी के बयान से हुई। सतत विकास लक्ष्य पर चर्चा के दौरान उन्होंने कश्मीर का मसला उठाने की कोशिश की ।

भारत ने फौरन नियमों का हवाला दिया जिसके बाद पीठासीन अधिकारी ने सूरी को भारतीय प्रतिनिधि एवं राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश को बोलने देने के लिए कहा। लेकिन सूरी ने इसे अनसुना कर दिया, जिसे लेकर हंगामा हुआ।

भारत के आंतरिक मामले को उठाने और मंच का राजनीतिक इस्तेमाल करने की मंशा को लेकर हरिवंश ने पाकिस्तान की तीखी आलोचना की। उन्होंने कहा, “हम भारत के आंतरिक मामले को इस मंच पर उठाए जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हैं। इस सम्मेलन के मुख्य विषय के दायरे से बाहर के मुद्दे उठा कर पाक इस मंच को राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहा है।”

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लिए जरूरी है कि वह सीमा पार आतंकवाद को सभी तरह का समर्थन बंद करे। पाकिस्तानी सीनेटर कुर्रातुलैन मारी ने कहा कि महिलाओं एवं युवाओं के लिए एसडीजी मानवाधिकारों के बगैर हासिल नहीं किया जा सकता।

इस पर, हरिवंश ने पलटवार करते हुए कहा कि अपने ही लोगों का नरसंहार करने वाले देश (पाक) को मानवाधिकारों के मुद्दे पर बोलने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा, “दुनिया जानती है कि कैसे पाकिस्तान ने अपने ही देश के एक हिस्से में नरसंहार किया, जिसे अब स्वतंत्र बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है…मैं पूछना चाहता हूँ कि इस देश को इस देश को मानवाधिकार से जुडे़ मुद्दों को उठाने का क्या अधिकार है?”

इसके बाद उपसभापति ने कश्मीर मुद्दे पर बोलना शुरू किया और पाकिस्तान की बखिया उधेड़ दी। उन्होंने कहा, “चूँकि इन्होंने कश्मीर के मानवाधिकारों का मुद्दा उठाया, इसलिए मैं बताना चाहूँगा कि पाकिस्तान ने कश्मीर के हमारे हिस्से पर कब्जा किया हुआ है, जिसे pok के रूप में जाना जाता है। “

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान के मंत्री का स्वागत कर रहे थे कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता, तभी इमरान ने जड़ दिया एक मुक्का: बाद में कहा – ये मेरे आशीर्वाद...

राजस्थान में एक अजोबोग़रीब वाकया हुआ, जब मंत्री और कॉन्ग्रेस नेता भँवर सिंह भाटी को एक युवक ने मुक्का जड़ दिया।

‘मीलॉर्ड्स, आलोचक ट्रोल्स नहीं होते’: भारत के मुख्य न्यायाधीश के नाम एक बिना नाम और बिना चेहरा वाले ट्रोल का पत्र

हमें ट्रोल्स ही क्यों कहा जाता है, आलोचक क्यों नहीं? ऐसा इसलिए, क्योंकि हम उन लोगों की आलोचना करते हैं जो अपनी आलोचना पसंद नहीं करते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,346FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe