Wednesday, September 22, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाPak की कंगाली: जिहादियों को हथियार तक नहीं दे पा रहा, कश्मीर पुलिस को...

Pak की कंगाली: जिहादियों को हथियार तक नहीं दे पा रहा, कश्मीर पुलिस को लूट कर काम चलाने को उकसाया

आंतरिक समस्याओं से दो-चार होने के बावजूद पाकिस्तान हिंदुस्तान के जिहादियों को हथियार सप्लाई करने की कोशिश में लगा हुआ है। और उसकी यही कोशिशें जब असफ़ल हो रहीं हैं, तो...

हिन्दुस्तानी सुरक्षा एजेंसियों की सतर्कता और पाकिस्तान की कंगाली ने कश्मीर के जिहादियों को बड़ी मुश्किल में डाल दिया है। मुश्किल यह है कि अब उनके पास लड़ने के लिए हथियारों की कमी होती जा रही है, और यही कमी उन्हें कश्मीर में पुलिस के हथियारों पर डाका डालने के लिए उकसा रही है। यह खुलासा सेना की उत्तरी कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने किया

हमले के लिए तैयार 500 जिहादी

सेना की उत्तरी कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल सिंह हालिया पाकिस्तानी ड्रोन की बरामदगी और हिंदुस्तान में उनके जरिए हथियारों की तस्करी के बारे में बात कर रहे थे। टाइम्स नाउ ने इंटेलिजेंस के सूत्रों के हवाले से 10 किलोग्राम हथियार, विस्फ़ोटक और संचार यंत्रों की स्मगलिंग ड्रोनों के ज़रिए पाकिस्तान से पंजाब के रास्ते होने का दावा किया है। सिंह ने बताया कि आंतरिक समस्याओं से दो-चार होने के बावजूद पाकिस्तान हिंदुस्तान के जिहादियों को हथियार सप्लाई करने की कोशिश में लगा हुआ है। और उसकी यही कोशिशें जब असफ़ल हो रहीं हैं, तो जिहादी पुलिस के हथियार लूटने की कोशिश का रुख कर रहे हैं।

उन्होंने इसके अलावा इसकी भी पुष्टि की कि पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग कैम्पों और जिहादियों की नई पौध तैयार है। करीब 500 आतंकी सर्दियाँ शुरू होने के पहले कश्मीर में घुस आने की फ़िराक में हैं। गौरतलब है कि सर्दियों में भारी बर्फ़बारी के चलते नवंबर से जनवरी तक के समय में घुसपैठ करना जिहादियों के लिए खासा मुश्किल होता है। इसी लिए पाकिस्तान ने LOC के पास 20 आतंकी कैम्पों के लिए 20 ही लॉन्च पैड भी सक्रिय कर दिए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सोहा ने कब्र पर किया अब्बू को याद: भड़के कट्टरपंथियों ने इस्लाम से किया बाहर, कहा- ‘शादियाँ हिंदुओं से, बुतों की पूजा, फिर कैसे...

कुणाल खेमू से शादी करने वाली सोहा अली खान हाल में अपने अब्बू की कब्र पर अपनी माँ शर्मिला टैगोर और बेटी इनाया के साथ पहुँचीं। लेकिन कट्टरपंथी यह देख भड़क गए।

न जुबान चढ़ी और न आँख…फाँसी कैसे? नरेंद्र गिरि को भू-समाधि: सुसाइड लेटर में दो पेन के प्रयोग से गहराया संदेह, उत्तराधिकारी पर टला...

निरंजनी अखाड़ा के रविंद्र पुरी ने कहा कि जो सुसाइड नोट मिला है, वह उनके (महंत नरेंद्र गिरि) द्वारा नहीं लिखा गया है। इस मामले की जाँच होनी चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,766FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe