Friday, May 24, 2024
HomeराजनीतिYaas पर पीएम मोदी की मीटिंग में 30 मिनट देर से पहुँचीं ममता बनर्जी......

Yaas पर पीएम मोदी की मीटिंग में 30 मिनट देर से पहुँचीं ममता बनर्जी… फिर आते ही बैठक छोड़कर चली गईं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और मुख्य सचिव एक ही परिसर में होने के बावजूद चक्रवात समीक्षा बैठक के लिए 30 मिनट की देरी से पहुँचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (28 मई 2021) को पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) के कारण हुए नुकसान का हवाई सर्वेक्षण के जरिए जायजा लेने के बाद कालीकुंडा में राज्य सरकारों के साथ साइक्लोन को लेकर समीक्षा बैठक की। इस बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी न केवल 30 मिनट देर से पहुंची बल्कि आनन-फानन मे बैठक छोड़कर चली भी गईं।

पीएम मोदी की मीटिंग में 30 मिनट देर से पहुंचीं ममता बनर्जी

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और मुख्य सचिव एक ही परिसर में होने के बावजूद चक्रवात समीक्षा बैठक के लिए 30 मिनट की देरी से पहुँचे। ममता ने समीक्षा बैठक में प्रवेश करने के बाद चक्रवात प्रभाव से संबंधित कागजात सौंपे और कहा कि उनकी अन्य बैठक हैं और ये कहकर चली गईं।

ममता बनर्जी ने कहा, ”पीएम ने मीटिंग बुलाई थी। हमें नहीं पता था कि दीघा में मेरी मीटिंग थी। मैं कलाईकुंडा गई और पीएम रिपोर्ट दी, दीघा विकास और सुंदरबन विकास के लिए क्रमश: 20,000 करोड़ रुपये और 10,000 करोड़ रुपये की माँग की। मैंने उनसे कहा था कि आप (राज्य के अधिकारी) मुझसे मिलना चाहते हैं। मैंने उनकी अनुमति ली और चली गई।”

ममता ने कहा, ”कल मैं प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करूंगी।” उन्होंने कहा, ”राज्य में चक्रवात यास से हुई तबाही पर मुख्य सचिव ने प्रधानमंत्री को एक रिपोर्ट सौंपी है।”

मीटिंग में शुभेंदु अधिकारी को बुलाए जाने पर ‘भड़की’ थीं ममता

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बैठक में बीजेपी विधायक शुभेंदु अधिकारी को भी बुलाया गया था, जिससे ममता बनर्जी भड़क गई थीं। मीटिंग में शुभेंदु अधिकारी को भी बुलाया गया, जिसको लेकर ममता बनर्जी ने आपत्ति जताई थी। मालूम हो कि ममता को विधानसभा चुनाव 2021 में नंदीग्राम सीट से शुभेंदु अधिकारी से करारी हार का सामना करना पड़ा था।

यास तूफान को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की होनी वाली समीक्षा बैठक में राज्यपाल जगदीप धनखड़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और बंगाल से बीजेपी सांसद देवाश्री चौधरी को भी आमंत्रित किया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि यास (Yaas) तूफान से बंगाल में 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा करीब 3 लाख घरों को नुकसान पहुँचा है। वहीं, इस तूफान से ओडिशा में करीब 6 लाख लोगों के प्रभावित होने की खबर है।

बता दें कि पीएम मोदी ने गुरुवार (27 मई 2021) को भी दिल्ली में चक्रवात से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए एक बैठक की थी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक प्रेस रिलीज में बताया था कि राज्य सरकारें तूफान यास (Yaas) के कारण हुए नुकसान के आकलन में अभी भी जुटी हुई हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -