Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय100+ सैनिकों की मौत, दर्जनों घायल: मिसाइल से मस्जिद पर हमला, नमाज़ पढ़ रहे...

100+ सैनिकों की मौत, दर्जनों घायल: मिसाइल से मस्जिद पर हमला, नमाज़ पढ़ रहे थे आर्मी वाले

"विद्रोहियों का यह शर्मनाक क़दम इस बात की निस्संदेह पुष्टि करता है कि वह शांति के इच्छुक नहीं हैं, क्योंकि उन्हें मौत और विनाश के अलावा कुछ नहीं आता।"

यमन के मारिब में सैन्य शिविर में एक मस्जिद पर शनिवार (18 जनवरी) को मिसाइल और ड्रोन से किए गए हमले में 100 से अधिक सैनिकों की जान चली गई और दर्जनों घायल हो गए। यह मस्जिद मिलिट्री कैंप के अंदर ही था, इसलिए मरने वाले लगभग सभी सेना के लोग ही हैं। यमन ने राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी ने इस कायराना आतंकी हमले की निंदा की है। उन्होंने रविवार (19 जनवरी) को सेना को हाई अलर्ट पर रहने का आदेश दिया और मारिब शहर में हूती विद्रोहियों द्वारा किए गए इस हमले का जवाब देने के लिए तैयार रहने को कहा।

अलजज़ीरा की ख़बर के अनुसार, घायलों को मारिब शहर के एक अस्पताल ले जाया गया। दो चिकित्सा सूत्रों ने रॉयटर्स न्यूज एजेंसी को बताया कि हमले के लिए शिविर में एक मस्जिद को टार्गेट किया गया था क्योंकि वहाँ बड़ी संख्या में लोग नमाज़ के लिए इकट्ठा थे।

सऊदी के स्वामित्व वाले अल हैदाथ टेलीविजन ने एक वीडियो प्रसारित किया जिसमें कहा गया कि हमले के भीषण परिणाम थे। शरीर के हिस्सों को फर्श पर कटा हुआ मलबे के बीच देखा जा सकता है। इसके अलावा, फ़र्श पर बिछे क़ालीन पर ख़ून जमा हुआ था और दीवारों पर शरीर के अंग चिपके हुए थे।

राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी ने यमन की राज्य समाचार एजेंसी, सबा को बताया,

“हूती विद्रोहियों का यह शर्मनाक क़दम इस बात की निस्संदेह पुष्टि करता है कि वह शांति के इच्छुक नहीं हैं, क्योंकि उसे मौत और विनाश के अलावा कुछ नहीं आता और वह इलाके में ईरान का घटिया हथियार है।”

हैतियों ने शनिवार (18 जनवरी) को किए इस हमले की ज़िम्मेदारी नहीं ली क्योंकि वो यह नहीं मानते कि वो ईरान की कठपुतली हैं। इसके उलट वो यह कहते है कि वो एक भ्रष्ट व्यवस्था से लड़ रहे हैं।

मारिब का तेल समृद्ध प्रांत, हूती नियंत्रित राजधानी सना से लगभग 115 किलोमीटर (70 मील) दूर है। यह शहर सऊदी के नेतृत्व वाले, अमेरिका समर्थित गठबंधन का गढ़ है। अल जज़ीरा के मोहम्मद अलताब ने सना से रिपोर्टिंग करते हुए बताया, “इस हमले में तीन मिसाइलें शामिल थी।” साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है।

इसके अलावा, Al Ekhbariya टेलीविजन ने सूत्रों के हवाले से बताया कि हमला बैलिस्टिक मिसाइल और ड्रोन से किया गया। संयुक्त राष्ट्र के दूत, मार्टिन ग्रिफिथ्स ने यमन में हुए इस हमले की कड़ी निंदा की और साथ ही देशभर में हवाई हमले और ज़मीनी हमले के प्रति भी निराशा व्यक्त की। 

न्यूज़ एजेंसी, ‘सबा’ के अनुसार एक सैन्य सूत्र ने बताया कि नाहम में संघर्ष रविवार को भी जारी था। इस संघर्ष में हूती के दर्जनों आतंकवादी मारे गए और घायल हुए।

9 भारतीय, 1 नाव, 10 दिन में 3000 किमी का समुद्री सफर : घर लौटे यमन में बंधक बने भारतीय मछुआरे

‘अल्लाह हू अकबर’ चिल्लाते हुए आया और सैनिक के गर्दन में घोंप दी कैंची

गाय पर बम बाँधकर सुरक्षा बलों पर हमला कर रहे ISIS आतंकी, अपने तरह की यह पहली घटना

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe