Tuesday, January 18, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनक्या मौलवियों की धमकी से टूटी ज़ायरा, परिवार की खातिर फ़िल्मों से बनाई दूरी?

क्या मौलवियों की धमकी से टूटी ज़ायरा, परिवार की खातिर फ़िल्मों से बनाई दूरी?

घाटी में ज़ायरा वसीम के परिवार वालों की हालत यह हो चुकी थी उन्हें अपने घर को बाहर से बंद कर के रखना होता था। वहाँ समाज में एक तरह की ग़लत धारणा है, जिसके कारण ज़ायरा व उनके परिवार वालों की ज़िन्दगी मुश्किल में गुज़र रही थी।

ज़ायरा वसीम द्वारा अल्लाह का हवाला देकर फ़िल्म इंडस्ट्री से दूरी बनाने के मामले में नया मोड़ आया है। कहा जा रहा है कि यह निर्णय उन्होंने डर कर लिया और उनके परिवार को लगातार धमकियाँ मिल रही थीं। इस मामले में एक मौलवी का भी वीडियो सामने आया है। उसका नाम है आदिल। मौलवी आदिल इस वीडियो में साफ़-साफ़ कहता नज़र आ रहा है कि ज़ायरा वसीम जैसी लड़कियाँ इस्लाम के लिए शर्म हैं। मौलवी ने कहा कि फ़िल्मों में अभिनय करना इस्लाम के अनुरूप नहीं है।

मौलवी आदिल का मानना है कि कश्मीर में कथित आज़ादी के लिए चल रहे ‘अभियान’ से भी ज्यादा ज़रूरी है ज़ायरा वसीम जैसी लड़कियों को बताना कि वे बॉलीवुड में काम करना छोड़ें। मौलवी आदिल ने ज़ायरा वसीम के माता-पिता को भी निशाने पर लिया। ज़ायरा वसीम ‘दंगल’ के ब्लॉकबस्टर होने के बाद कश्मीर घाटी में बहुत सारी लड़कियों की रोल मॉडल बन गई थीं और उनकी अगली फ़िल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ में ऐसे विषय उठाए गए थे, जिससे उन्हें अपना रोल मॉडल मैंने वालों का उनमें विश्वास और प्रगाढ़ हुआ।

टाइम्स नाउ की ख़बर के अनुसार, ज़ायरा के माता-पिता का कश्मीर में अपने घर से बाहर निकलना तक दूभर हो गया था। उन्हें धमकियाँ मिलने लगी थी। राज्य सरकार को भी ऐसी ख़ुफ़िया इनपुट्स मिली थीं कि ज़ायरा वसीम व उनके परिवार की सुरक्षा को ख़तरा हो सकता है। वैसे ‘दंगल’ की रिलीज के बाद भी ज़ायरा की कट्टरपंथियों द्वारा काफ़ी आलोचना की गई थी लेकिन तब वो नहीं झुकी थीं। राज्य सरकार ने जम्मू में ज़ायरा व उनके परिवार को आवास देने की भी व्यवस्था करने की बात कही थी लेकिन राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद ऐसा नहीं हो पाया।

घाटी में ज़ायरा वसीम के परिवार वालों की हालत यह हो चुकी थी उन्हें अपने घर को बाहर से बंद कर के रखना होता था। वहाँ समाज में एक तरह की ग़लत धारणा है, जिसके कारण ज़ायरा व उनके परिवार वालों की ज़िन्दगी मुश्किल में गुज़र रही थी। इससे कश्मीरी मूल के वरिष्ठ बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर का वो शक सही साबित होता दिख रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि ज़ायरा वसीम का निर्णय उनका ख़ुद का ही है बल्कि इसके लिए उन्हें बाध्य किया गया है।

ज़ायरा वसीम ने बॉलीवुड से दूरी बनाने के पीछे का कारण बताते हुए कहा था कि उनका फ़िल्मों में काम करना उनके और अल्लाह के बीच में आ रहा था। इसके लिए उन्होंने क़ुरान की आयतों की भी दुहाई दी थी। इसके बाद कई हस्तियों ने इस बारे में अलग-अलग राय दी थी। जहाँ फ़ारूक़ अब्दुल्ला का कहना था कि ज़ायरा ने शायद अपने बॉयफ्रेंड के कहने पर यह निर्णय लिया, वहीँ सोनम महाजन ने पूछा की अगर किसी हिन्दू अभिनेत्री ने अपने धर्म को कारण बता कर ऐसा किया होता तो लेफ्ट लिबरल गिरोह की क्या प्रतिक्रिया रहती?

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमानतुल्लाह खान यहाँ नमाज पढ़ सकते हैं तो हिंदू हनुमान चालीसा क्यों नहीं?’: इंद्रप्रस्थ किले पर गरमाया विवाद, अंदर मस्जिद बनाने के भी आरोप

अमानतुल्लाह खान की एक वीडियो के विरोध में आज फिरोज शाह कोटला किले के बाहर हिंदूवादी लोगों ने इकट्ठा होकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

जब 5 मिनट तक फ्लाइंग किस देते रहे थे भगवंत मान, बार-बार गिर रहे थे: AAP ने बनाया चेहरा तो बोले लोग – ‘उड़ते...

ट्विटर पर यूजर्स उन्हें 'पेगवंत मान' कहकर संबोधित कर रहे हैं और केजरीवाल के फैसले को गलत ठहरा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,996FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe