Thursday, May 23, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'सनातन धर्म कोढ़ और कैंसर है, तुम चापलूस हो': 21 हनुमान मंदिर पर सीरीज...

‘सनातन धर्म कोढ़ और कैंसर है, तुम चापलूस हो’: 21 हनुमान मंदिर पर सीरीज लेकर आ रहे अनुपम खेर, अयोध्या पहुँचे तो भड़के कॉन्ग्रेसी गिरोह ने दी गाली

वहीं खुद को कॉन्ग्रेसी और राहुल गाँधी की फैन बताने वाली रेणु ने लिखा, "2024 तक आप हर फर्जी हिन्दू, गोदी मीडिया और पालतू अभिनेताओं को रोज 24 घंटे अयोध्या के बारे में बता करते हुए पाएँगे। ऐसा इसीलिए, क्योंकि उनके पास गिनने के लिए कोई अन्य उपलब्धि नहीं है।"

बॉलीवुड के वरिष्ठ अभिनेता अनुपम खेर अयोध्या के राम मंदिर में दर्शन के लिए पहुँचे। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि वो देश के 21 हनुमान मंदिरों पर एक श्रृंखला लेकर आ रहे हैं, जिनके माध्यम से उन मंदिरों के बारे में देश-दुनिया को बताया जाएगा। ’21 हनुमान मंदिर’ नाम की इस सीरीज को उनकी कंपनी ‘अनुपम खेर स्टूडियो’ द्वारा निर्मित किया जा रहा है। अनुपम खेर इसी क्रम में शनिवार (30 सितंबर, 2023) को अयोध्या पहुँचे और निर्माणाधीन भव्य राम मंदिर के दर्शन भी किए।

हनुमानगढ़ी स्थित हनुमान मंदिर पहुँच कर अनुपम खेर ने इस श्रृंखला की घोषणा करते हुए वीडियो शेयर किया। इसमें उन्होंने हनुमान जी और इस मंदिर से जुड़ी कुछ कहानियाँ भी सुनाईं। इस दौरान उन्होंने याद किया कि कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंदिर की नींव रखी थी। अनुपम खेर ने कहा कि मंदिर के उद्घाटन में वो अपनी माँ को लेकर आएँगे। उन्होंने इस दौरान कहा कि अगले 25 वर्षों में भारत विश्व का सबसे बड़ा देश होगा। हालाँकि, अनुपम खेर द्वारा हनुमान मंदिरों पर श्रृंखला बनाया जाना कुछ वामपंथियों को पसंद नहीं आया।

खुद को लेखिका बताने वाली संगीता ने लिखा, “अनुपम खेर जैसे लोग काफी मुखर रहे हैं। मुझे नहीं लगता है कि उन्हें गंभीरता से लेने की ज़रूरत है। वो एक जोकर हैं। NFD या FTII से पढ़ा कोई भी व्यक्ति उनके चापलूसी भरे व्यवहार की पुष्टि कर सकता है। ये उनके खून में है, वो इसमें कुछ नहीं कर सकते।” इस पर लोगों ने संगीता को याद दिलाया कि क्या हिन्दुओं को उनकी आस्था के प्रदर्शन का अधिकार नहीं है? वो मंदिर नहीं जा सकते? धर्म के लिए कार्य नहीं कर सकते?

वहीं खुद को कॉन्ग्रेसी और राहुल गाँधी की फैन बताने वाली रेणु ने लिखा, “2024 तक आप हर फर्जी हिन्दू, गोदी मीडिया और पालतू अभिनेताओं को रोज 24 घंटे अयोध्या के बारे में बता करते हुए पाएँगे। ऐसा इसीलिए, क्योंकि उनके पास गिनने के लिए कोई अन्य उपलब्धि नहीं है।”

वहीं ‘राजू Massey’ नामक एक यूजर ने लिखा, “सनातन धर्म कोढ़ और कैंसर है।” बता दें कि DMK नेता उदयनिधि स्टालिन और ए राजा ने कुछ ऐसा ही बयान दिया था। उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म को डेंगू-मलेरिया बताते हुए इसे खत्म करने की बात की थी, वहीं ए राजा ने इसे कोढ़ और कैंसर बता दिया था। इन्हीं नेताओं की बयानबाजी को सोशल मीडिया पर इनके समर्थक दोहरा रहे हैं।

अनुपम खेर 21 हनुमान मंदिरों पर बना रहे सीरीज, वामपंथियों ने सनातन धर्म को दी गाली

इतना ही नहीं, गुजरात प्रदेश कॉन्ग्रेस के SC विभाग के अध्यक्ष हितेंद्र पीठादिया ने अनुपम खेर के वीडियो पर कमेंट करते हुए लिखा, “मतलब अब फिल्मों में काम छोड़कर भाजपा के एजेंट के तौर पर फुल टाइम काम शुरू कर दिया।

बता दें कि अनुपम खेर पिछले 39 वर्षों से फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं और इस दौरान 536 फिल्मों में काम कर चुके हैं। उन्होंने हॉलीवुड में भी काम किया है। 21 हनुमान मंदिरों की ताज़ा सीरीज जो वो लेकर आ रहे हैं, उसे TOI में बड़े पद पर रहीं प्रिया गुप्ता ने तैयार किया है। इसका उद्देश्य है कि युवा पीढ़ी इन पवित्र स्थलों पर पहुँचे। अनुपम खेर ने कहा कि उनका जन्म और पालन-पोषण सनातन परिवेश में हुआ है, जहाँ बचपन से रामायण-महाभारत की कथाएँ उन्होंने सुनी हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SRH और KKR के मैच को दहलाने की थी साजिश… आतंकियों ने 38 बार की थी भारत की यात्रा, श्रीलंका में खाई फिदायीन हमले...

चेन्नई से ये चारों आतंकी इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट से आए थे। इन चारों के टिकट एक ही PNR पर थे। यात्रियों की लिस्ट चेक की गई तो...

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -