Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंडजबरन गाड़ी रुकवा रहे किसानों से डरी नहीं, भिड़ गईं लड़कियाँ: Video वायरल, कोई...

जबरन गाड़ी रुकवा रहे किसानों से डरी नहीं, भिड़ गईं लड़कियाँ: Video वायरल, कोई कर रहा ‘सैल्यूट’-कोई बता रहा ‘बहादुर’

किसानों के प्रदर्शन ने सामान्य जन जीवन को प्रभावित किया है। कोई जाम में फँस रहा है तो किसी का सड़कों पर विवाद हो रहा है। एक वीडियो ऐसी ही सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें एक लड़की को प्रदर्शनकारी रोक रहे हैं। मगर लड़की डटकर उन्हें जवाब दे रही है। इसे देख लोग खुश हैं और लड़की को बहादुर बता रहे हैं।

किसानों के प्रदर्शन ने सामान्य जन जीवन को प्रभावित किया है। कोई जाम में फँस रहा है तो किसी का सड़कों पर विवाद हो रहा है। एक वीडियो ऐसी ही सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें कार में बैठी दो लड़कियों को प्रदर्शनकारी रोक रहे हैं मगर लड़कियाँ आगे बढ़ने पर अड़ी हैं, डटकर उन्हें जवाब दे रही हैं। लड़कियों की बहादुरी को देख लोग खुश हैं और उन्हें सलाम दे रहे हैं।

बता दें कि किसानों ने अपनी माँग मनवाने के लिए 16 फरवरी 2024 को भारत बंद का ऐलान किया था। हालाँकि जब पूरी तरह ऐसा नहीं हो सका तो वह सड़कों पर मनमानी करने लगे। आती-जाती जनता को रोका जाने लगा। इन लड़कियों के साथ भी इन प्रदर्शनकारियों ने ऐसा करने का प्रयास किया लेकिन लड़की ने ये बर्दाश्त करने की बजाय उन्हें जमकर सुनाई।

वीडियो में देख सकते हैं कि लड़कियाँ अपनी कार में बैठी हैं और उनकी वीडियो बनाई जा रही है। स्ट्येरिंग सीट पर बैठी लड़की रुककर उन्हें मिडल फिंगर दिखाती है और गाली-गलौच भी होता है। भीड़ लड़की को घेरकर खड़ी हो जाती है। उससे पूछा जाता है कि वो गाली क्यों दे रही है। इस पर लड़की कहती है- “आप हमें रोक क्यों रहे हो।”

लड़की इसके बाद कहती है- “आपने मुझे हाथ क्यों लगाया? आपने मुझे हरैस (शोषण) किया है। आपने मुझे छुआ है गलत तरीके से।” लेकिन प्रदर्शनकारी उसपर चिल्लाते रहते हैं। इतने में साइड में बैठी लड़की कहती है कि उनकी मजबूरी है आगे जाना। जाने दिया जाए।

इस पर प्रदर्शनकारी कहते हैं कि मजबूरी सबकी है लेकिन भारत बंद है तो बंद है। इस दौरान सीट पर बैठी लड़की प्रदर्शनकारियों की वीडियो बनाती रहती है और फिर उसे देखकर प्रदर्शनकारियों द्वारा वीडियो बंद कर देते हैं, इसके बाद क्या होता है ये नहीं पता लेकिन वीडियो देख लोग लड़की की तारीफ करते नहीं थक रहे।

मधुर सिंह कहते हैं- इस बहादुर लड़की को सलाम जो इस भीड़ के खिलाफ खड़ी हुई।

कई लोग ये भी कह रहे हैं कि भले ही वो लड़की उन प्रदर्शनकारियों को जवाब दे रही है लेकिन ये मन की बात हर सामान्य जन इन लोगों से कहना चाहता है।

दीपक शर्मा लिखते हैं, “एक अकेली किसान की बेटी ने ख़ालिस्तानी आतंकियों का बीच सड़क मुर्गा बना दिया। बोला था न, असली किसान की औलाद से पाला पड़ेगा तो जुबान हलक में अटक जाएगी।”

मोहन पाठक सनातनी लिखते हैं- “मैंने पहले ही बोला था शैतान से लड़ने के लिए शैतान बनना पड़ता है। शरीफ में इतनी हिम्मत नहीं होती।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -