Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफ़िरोज़ा ने बताया उइगरों का हो रहा बलात्कार, वायरल हुआ वीडियो, TikTok ने किया...

फ़िरोज़ा ने बताया उइगरों का हो रहा बलात्कार, वायरल हुआ वीडियो, TikTok ने किया ब्लॉक

यह सर्वविदित है कि चीनी कम्पनियाँ चीनी सरकार और उसकी विदेश नीति के हुक्म की तामील करतीं हैं। विदेशी कंपनियों तक को चीन घुटने पर ला चुका है।

वायरल वीडियोज़ ऍप टिकटॉक ने अपने एक यूज़र के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया है, क्योंकि उसने चीन में उइगरों के साथ हो रहे अमानवीय अत्याचार की पोल खोलने की जुर्रत की थी। फ़िरोज़ा ने ट्विटर पर बताया कि टिकटॉक ने उन पर एक महीने का प्रतिबंध लगा दिया है। लेकिन साथ ही साफ़ किया कि ऐसी ओछी हरकत कर के उनका मुँह नहीं बंद किया जा सकता है। गौरतलब है कि टिकटॉक ऍप की मालिक कम्पनी बाइटडांस चीन के सोशल मीडिया जगत में बहुत बड़ा नाम है।

दरअसल फ़िरोज़ा ने अपने एक वीडियो को बड़ी ही चालाकी से देखने में पलकें लम्बी करने के लिए ब्यूटी टिप्स की तरह से बनाया, और उसमें पलकें लम्बी करने का हुनर सिखाने के बीच में ही उइगरों की हिमायत में भी वीडियो में बात कर दी। सोशल मीडिया के पैंतरों में इसे बेट-एंड-स्विच कहते हैं, यानि किसी और विषय का हवाला देकर ऑडियंस को बुलाना, और फिर किसी और ही दिशा में उन्हें घुमा ले जाना।

40 सेकंड का यह वीडियो तेज़ी से टिकटॉक पर वायरल हो गया। इतना ज़्यादा कि, इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, टिकटॉक का यूज़र बेस बेहद सीमित होने के बाद भी इसे 498,000 लोगों ने लाइक किया।

लेकिन इसके बाद टिकटॉक ने फ़िरोज़ा का अकाउंट सस्पेंड कर दिया। हालाँकि टिकटॉक की मालिक बाइटडांस के प्रवक्ता जॉश गार्टनर ने सफ़ाई दी है कि इस प्रतिबंध का कारण फ़िरोज़ा के फ़ोन से इसके पहले एक दूसरा अकाउंट चलता था, जिसने ओसामा बिन लादेन की तस्वीर पोस्ट की गई थी। गार्टनर भले यह दावा करें कि फ़िरोज़ा को सस्पेंड जिहादी कंटेंट शेयर करने के लिए किया गया है, लेकिन इससे इस धारणा को और बल ही मिला है कि बाइटडांस ऐसे कंटेंट को सेंसर करने की फ़िराक में रहती है, जो चीन के खिलाफ हो या चीन की सरकार को पसंद न आए।

यह सर्वविदित है कि चीनी कम्पनियाँ चीनी सरकार और उसकी विदेश नीति के हुक्म की तामील करतीं हैं। विदेशी कंपनियों तक को चीन घुटने पर ला चुका है। अमेरिकी बास्केटबॉल लीग एनबीए में एक फ्रेंचाइजी के मालिक ने हाल ही में हुए चीन-विरोधी हॉन्ग-कॉन्ग प्रदर्शनों के समर्थन में ट्वीट क्या कर दिया, पूरी लीग को चीन से गिड़गिड़ा कर माफ़ी माँगनी पड़ी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘2 से अधिक बच्चे तो छीन लें आरक्षण और वोटिंग का अधिकार’: UP के जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्ष में 97% लोग

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश विधि आयोग को मिले सुझाव में से ज्यादातर में सख्त कानून का समर्थन किया गया है।

रोज के ₹300, शराब के साथ शबाब भी: देह व्यापार का अड्डा बना टिकरी बॉर्डर, टेंट में नंगे पड़े रहते हैं ‘किसान’

किसान आंदोलन के नाम पर फर्जी किसान टीकरी बॉर्डर शराब और लड़कियों के साथ झाड़ियों के पीछे अय्याशी करते देखे जा सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe