Saturday, July 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'यहाँ ब्लैक में कच्ची कलियाँ मँगाई जा रही, $डी पहचानने के 330 नुस्खे...': कॉमेडियन...

‘यहाँ ब्लैक में कच्ची कलियाँ मँगाई जा रही, $डी पहचानने के 330 नुस्खे…’: कॉमेडियन ने वेश्यावृत्ति को बताया ‘कूल’, बोलीं – यहाँ फ्रेशर्स चाहिए

आगे विदुषी छोटी बच्चियों के वेश्यावृत्ति में धकेले जाने को लेकर संवेदनहीनता से कहती हैं, "उनको फ्रेशर्स चाहिए, वो ब्लैक में कच्ची कलियाँ मँगवा रहे हैं।"

सोशल मीडिया के दौर में गंभीरता की आशा ना करें! इस बात को पूरी तरीके से ‘कूल’ कॉमेडियन विदुषी स्वरूप ने चरितार्थ किया है। कॉमेडियन विदुषी स्वरूप ‘वेश्यावृत्ति’ को कूल मानती हैं। वह इसे अन्य किसी भी नौकरी-धंधे से तुलना कर रही हैं।

कॉमेडियन विदुषी स्वरूप की एक क्लिप वायरल हो रही है, इसमें वह वेश्यावृत्ति जैसे गंभीर मुद्दे का मजाक उड़ाती दिखती हैं। वह वीडियो में कहती हैं, “मुझे ना वेश्यावृत्ति बड़ा कूल प्रोफेशन लगता है। मैं प्रूव करूँगी कैसे! वेश्यावृत्ति में एक्सपीरियंस (अनुभव) को लेकर कोई पक्षपात नहीं है।” इस वीडियो में वो शुरू में कहती हैं – “यहाँ बैठीं सभी वेश्याएँ चीयर करें। $डी पहचानने के 330 नुस्खे।”

आगे विदुषी छोटी बच्चियों के वेश्यावृत्ति में धकेले जाने को लेकर संवेदनहीनता से कहती हैं, “उनको फ्रेशर्स चाहिए, वो ब्लैक में कच्ची कलियाँ मँगवा रहे हैं। वेश्यावृत्ति अकेला ऐसा धंधा है जहाँ सीईओ से ज्यादा इंटर्न कमा रहे हैं।” यहाँ उन्होंने वेश्यावृत्ति में मानव तस्करी के जरिए धकेली जाने वाली बच्चियों को ‘ब्लैक में मँगाई जाने वाली कच्ची कलियाँ’ बता दिया है।

उनका कहना है कि वेश्यावृत्ति करने वालों को शेखों के साथ दुबई ट्रिप मिल रही हैं। हालाँकि, विदुषी का यह ‘कूल’ दावा सच्चाई से कोसों दूर है जहाँ हजारों बच्चियों और महिलाओं को जीविकोपार्जन के लिए देह बेचनी पड़ती है।

एक अन्य वीडियो में विदुषी इंजीनियरों के काम को वेश्यावृत्ति से भी खराब बताया है। विदुषी का कहना है कि वेश्यावृत्ति का धंधा गाली नहीं है लेकिन यदि कभी किसी धंधे को गाली देनी हो तो यह इंजीनियर होने चाहिए।

विदुषी की इस संवेदनहीनता को लेकर अब उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है। इन्स्टाग्राम पर गौतम नाम के एक यूजर ने लिखा, “इस देश में महिला कॉमेडियन आखिर फनी क्यों नहीं होती हैं?”

कुछ अन्य यूजर्स ने इंजीनियरिंग पर मजाक बनाने को लेकर अपना गुस्सा जताया और कहा कि विदुषी स्वरुप अपने खुद के धंधे का बचाव कर रही हैं। एक यूजर ने लिखा कि कॉमेडी करना आपका हिडेन टैलेंट है, इसे छुपा कर ही रखें।

वेश्यावृत्ति को कूल बताने को लेकर एक यूजर हिमांशु सिंह ने इन्स्टाग्राम पर लिखा कि आप फिर इसे शुरू कर दें, कॉमेडी आपसे हो नहीं रही हैं।

ट्विटर पर एक यूजर ने विदुषी को मानसिक रूप से विक्षिप्त बता दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -