Wednesday, April 17, 2024
Homeसोशल ट्रेंडदिल्ली में तेज आँधी-बारिश से जामा मस्जिद के गुंबद को पहुँचा भारी नुकसान, सोशल...

दिल्ली में तेज आँधी-बारिश से जामा मस्जिद के गुंबद को पहुँचा भारी नुकसान, सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे- ‘अल्लाह रहम फरमाए’

"अभी थोड़ी देर पहले दिल्ली में आए आँधी तूफान में दिल्ली की शाही जामा मस्जिद के मेन गुम्बद का हिस्सा टूट कर गिर गया। अल्लाह रहम फरमाए।"

दिल्ली-एनसीआर में सोमवार (30 मई 2022) को भारी बारिश के बाद मौसम का मिजाज बदल गया और लोगों को गर्मी से राहत मिली। वहीं, कई जगहों पर तेज हवाओं के कारण कई पेड़ टूट गए और इमारतों को भी काफी नुकसान पहुँचा है। दिल्ली में हुई झमाझम बारिश के बाद जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है। सड़कों पर पानी भरा हुआ है और यातायात प्रभावित हो रहा है। इसी बीच सोशल मीडिया पर दिल्ली की जामा मस्जिद की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। ये तस्वीर जामा मस्जिद के सबसे बड़े गुंबद के बुर्ज की है, जो तेज आँधी और बारिश के कारण गिर गया है। बुर्ज के गिरने से 2 से 3 लोग घायल हो गए हैं।

सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स दुआएँ माँग रहे हैं कि सब कुछ ठीक हो जाए। ट्विटर पर राशिद लिखते हैं, “अभी थोड़ी देर पहले दिल्ली में आए आँधी तूफान में दिल्ली की शाही जामा मस्जिद के मेन गुम्बद का हिस्सा टूट कर गिर गया। अल्लाह रहम फरमाए।”

वहीं, कुछ यूजर्स इस पर फिरकी भी ले रहे हैं। आलोक लिखते हैं कि दिल्ली की जामा मस्जिद खुद ही टूटकर गिरने लगी है।

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि मस्जिद के बीच के गुम्बद का ऊपरी हिस्सा 3 भागों में टूट गया है। 2 नीचे गिरे हैं और एक अभी भी अटका हुआ है। अगर उसे नीचे नहीं लाया गया और वह गिर गया, तो यह उसके सामने की दीवार को नुकसान पहुँचाएगा। क्षतिग्रस्त हिस्से को नीचे लाने के लिए एएसआई डीजी को लिख रहा हूँ।

दरअसल, यह पहली बार नहीं जब जामा मस्जिद को इस तरह का नुकसान पहुँचा है। इससे पहले भी कई बार कुछ चीजें टूटी हैं, जिसके बाद जामा मस्जिद की मरम्मत कराने की भी माँग उठी थी।

गौरतलब है कि पिछले साल जून में जामा मस्जिद की मीनार से पत्थर का एक बड़ा टुकड़ा गिर गया था। पत्थर मस्जिद परिसर में गिरा और फर्श में धंस गया। उस दौरान लॉकडाउन की वजह से जामा मस्जिद में भीड़-भाड़ नहीं थी, इसलिए किसी को क्षति नहीं पहुँची थी। जामा मस्जिद के नायब इमाम सैयद शाबान बुखारी ने बताया था कि मस्जिद करीब 375 साल पुरानी है। इसके संरक्षण की सख्त जरूरत है। सिर्फ मीनार ही नहीं, बल्कि पूरी मस्जिद को बचाने के लिए एएसआई को काम करने की जरूरत है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शंख का नाद, घड़ियाल की ध्वनि, मंत्रोच्चार का वातावरण, प्रज्जवलित आरती… भगवान भास्कर ने अपने कुलभूषण का किया तिलक, रामनवमी पर अध्यात्म में एकाकार...

ऑप्टिक्स और मेकेनिक्स के माध्यम से भारत के वैज्ञानिकों ने ये कमाल किया। सूर्य की किरणों को लेंस और दर्पण के माध्यम से सीधे राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला के मस्तक तक पहुँचाया गया।

18 महीने में होती थी जितनी बारिश, उतना पानी 1 दिन में दुबई में बरसा: 75 साल का रिकॉर्ड टूटने से मध्य-पूर्व के रेगिस्तान...

दुबई, ओमान और अन्य खाड़ी देशों में मंगलवार को एकाएक हुई रिकॉर्ड बारिश ने भारी तबाही मचाई है। ओमान में 19 लोगों की मौत भी हो गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe