Wednesday, February 8, 2023
Homeसोशल ट्रेंड'जब मुंबई के पुलिस कमिश्नर ही खुले आम मुझे इस तरह डराएँगे, तो क्या...

‘जब मुंबई के पुलिस कमिश्नर ही खुले आम मुझे इस तरह डराएँगे, तो क्या मैं मुंबई में सुरक्षित रहूँगी’: कंगना रनौत

“आप लोग पुलिस फोर्स के नाम पर बहुत बड़ी शर्म हैं, मत भूलिए कि सिर्फ मुझे ही नहीं बल्कि ट्वीट में टैग किए गए सभी लोगों को मुंबई पुलिस कमिश्नर के उस अपमानजक ट्वीट को लाइक करने का नोटिफिकेशन आया था, लगता है पीड़ित को अपराधी साबित करने की कोशिश आपका पुराना धंधा है।”

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अपने खिलाफ सोशल मीडिया पर किए गए अपमानजनक ट्वीट को मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह द्वारा लाइक करने को लेकर उन्हें निशाने पर लिया है। कंगना रनौत ने ट्वीट करते हुए पूछा है कि जब मुंबई पुलिस प्रमुख ही इस तरह बदमाशी और अपराध को बढ़ावा देंगे तो मुंबई में उनकी सुरक्षा को लेकर कौन जिम्मेदार होगा? वहीं जब मुंबई पुलिस ने कमिश्नर का बचाव किया तो कंगना ने उन्हें फोर्स के नाम पर धब्बा बता दिया।

मंगलवार (सितंबर 1, 2020) को कंगना ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर मुंबई पुलिस पर जबरदस्त हमला बोलते हुए लिखा है कि इस समय मुंबई पुलिस अब तक की सबसे निचले स्तर पर पहुँच गई है। कंगना ने अपने ट्वीट में दो स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए दावा किया मुंबई पुलिस कमिश्नर ऐसे अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट्स को लाइक कर रहे हैं जो सुशांत को न्याय दिलाने की आवाज उठाने वाले लोगों के खिलाफ लिखे गए हैं। उन्होंने लिखा कि सार्वजनिक रूप से परेशान करने वालों और धमकाने वालों की निंदा करने का बजाय इसे प्रोत्साहित कर रहे हैं। 

इसके बाद किए एक अन्य ट्वीट में कंगना ने अपनी सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए लिखा, “जब मुंबई के पुलिस कमिश्नर ही खुले आम मुझे इस तरह डराएँगे, मेरे खिलाफ अपराधों और बदमाशी करने वालों को प्रोत्साहित करेंगे, तो क्या मैं मुंबई में सुरक्षित रहूँगी? मेरी सुरक्षा के लिए कौन जिम्मेदार होगा?” अपने इस ट्वीट को उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल को भी टैग किया।

सड़क पर कंगना का नाम लिखकर उसे ‘वॉक ऑफ शेम’ बताया गया

कंगना ने मुंबई पुलिस कमिश्नर के लाइक किए जिन ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट्स को शेयर किया, उसमें सड़क पर मेनहोल के ढक्कन की आकृति बनाकर कंगना रनौत का नाम लिखा हुआ था और उसे ‘वॉक ऑफ शेम’ बताया गया था। इसी ट्वीट पर कमेंट करते हुए एक शख्स ने लिखा था, “मुझे इससे आपत्ति है… यहाँ इनके नाम के अलावा इन लोगों के चेहरे भी होने चाहिए।” इसी ट्वीट को तथाकथित रूप से मुंबई कमिश्नर ने लाइक किया था।

मुंबई पुलिस ने किया कमिश्नर का बचाव

कंगना के ट्वीट के बाद मुंबई पुलिस ने अपने कमिश्नर का बचाव किया और अपने ट्विटर हैंडल से लिखा कि “इस ट्वीट को मुंबई पुलिस कमिश्नर द्वारा कभी लाइक नहीं किया गया है। साइबर पुलिस स्टेशन को स्क्रीनशॉट की जाँच के लिए कहा गया है।”

मुंबई पुलिस को बताया बड़ा धब्बा

इसके बाद मुंबई पुलिस को जवाब देते हुए कंगना ने लिखा, “आप लोग पुलिस फोर्स के नाम पर बहुत बड़ी शर्म हैं, मत भूलिए कि सिर्फ मुझे ही नहीं बल्कि ट्वीट में टैग किए गए सभी लोगों को मुंबई पुलिस कमिश्नर के उस अपमानजक ट्वीट को लाइक करने का नोटिफिकेशन आया था, लगता है पीड़ित को अपराधी साबित करने की कोशिश आपका पुराना धंधा है।”

गौरतलब है कि मुंबई ‘आज़ादी गैंग’ का नया पसंदीदा केंद्र बनता जा रहा है। कुछ बदमाश शहर भर में अपमानजनक भित्ति चित्र (graffiti) बना रहे हैं। उन्होंने अभिनेत्री कंगना रनौत, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा, रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी और ZEE न्यूज के प्रधान संपादक सुधीर चौधरी को निशाना बनाते हुए अपमानजनक भित्ति बनाया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आफताब ने श्रद्धा की हड्डियों को पीस कर बनाया पाउडर, जला डाला चेहरा, डस्टबिन में डाल दी थी आँतें, ₹2000 की ब्रीफकेस में पैक...

आफताब ने पुलिस को यह भी बताया है कि उसने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की थी। उसी दिन श्रद्धा के अकांउट से अपने अकाउंट में 54000 रुपए भेजे थे।

‘मैं रामचरितमानस को नहीं मानती, तुलसीदास कोई संत नहीं’: सपा MLA को तुलसीदास के ग्रन्थ से दिक्कत, कहा – हिम्मत है तो मेरी ताड़ना...

सपा विधायक पल्लवी पटेल ने कहा है कि वह रामचरितमानस को नहीं मानती हैं और इसमें शूद्र शब्द हटाने के लिए आंदोलन करेंगी। उनके लिए तुलसीदास संत नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,326FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe