Sunday, May 29, 2022
Homeसोशल ट्रेंडदलित नागराजू की हत्या का जश्न मना रहे मुस्लिम कट्टरपंथी, कहा - काफिर के...

दलित नागराजू की हत्या का जश्न मना रहे मुस्लिम कट्टरपंथी, कहा – काफिर के साथ रिश्ता हराम, मुस्लिम लड़कियों से दूर रहो

हुसैन अली ने इस पूरे मामले के लिए लड़की को ही जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि 'कुफ्र' को स्वीकार कर के उसने पाप किया है। शैम्स तबरेज कासमी ने भी 'भगवा लव ट्रैप' का हैशटैग लगाया।

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद स्थित सुरूरनगर में बिल्लिपुरम नागराजू नामक दलित व्यक्ति की उस मुस्लिम लड़की के परिजनों ने बेरहमी से हत्या कर दी, जिससे उसने प्यार और शादी की थी। बिल्लिपुरम नागराजू और अशरीन सुल्ताना ने अपनी मर्जी से एक-दूसरे से शादी की थी। दोनों बालिग़ थे। इस मामले में सुल्ताना के भाई मोहम्मद मोबिन अहमद के अलावा जीजा मोहम्मद मसूद अहमद को भी गिरफ्तार किया गया है।

जीशान मोमिन नामक एक महिला ने इस हत्या को जायज ठहराते हुए ट्विटर पर लिखा, “ये (अशरीन सुल्ताना) अब भी उस हिन्दू लड़के के लिए लड़ रही है और अपने भाई का जीवन भी बर्बाद कर देगी। पहले तो उसने एक काफिर के साथ हराम रिश्ता बनाया, फिर उसने एक गैर-मुस्लिम से शादी कर ली। इस्लाम में इसकी मनाही है और ये पाप भी है। उस हिन्दू लड़के ने उसका धर्मांतरण करा दिया और ये मान भी गई। इस भगवा प्यार के जाल से बच कर रहें।”

जबकि सच्चाई ये है कि नागराजू हर हाल में अपनी बीवी को खुश रखना चाहता था और वो उसकी अम्मी को खुश करने के लिए इस्लाम अपनाने के लिए भी तैयार था। उसने अपनी सोने की चेन बेच कर अपनी बीवी को ईद की शॉपिंग कराई थी। हुसैन अली नाम के एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा कि ‘भगवा लव ट्रैप’ ने एक और मुस्लिम परिवार को बर्बाद कर दिया। उसने पूछा कि ये मुस्लिम लड़कियाँ ‘काफिरों’ को क्यों चुनती है, जो शादी के लिए उस पर जादू कर देते हैं।

हुसैन अली ने इस पूरे मामले के लिए लड़की को ही जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि ‘कुफ्र’ को स्वीकार कर के उसने पाप किया है। शैम्स तबरेज कासमी ने भी ‘भगवा लव ट्रैप’ का हैशटैग लगाते हुए लिखा, “हैदराबाद हत्या मामले में सच्चाई ये आई है कि लड़की को पहले हिन्दू बनाया गया, फिर दलित लड़के के साथ आर्य समाज मंदिर में विवाह हुआ। किसी की भी हत्या करना गलत है, लेकिन ये बात झूठ है कि डाली लड़का मुस्लिम बनने को तैयार था। उसने लड़की को हिन्दू बनाया था।”

‘TVH मुस्लिम्स’ नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा कि दोनों की शादी हिन्दू रीति-रिवाज से हुई, लड़का इस्लाम में धर्मांतरण करने को तैयार नहीं था और उसने लड़की को हिन्दू बना दिया। ओमर अब्बासी हयात नामक यूजर ने पूछा कि ये कैसा प्यार है जहाँ लड़का धर्मांतरण करना चाहता था, लेकिन कर लड़की ने लिया। इन मुस्लिमों ने ‘लव जिहाद’ की घटनाओं को नकारते हुए इसे प्रोपेगंडा करार दिया। एक ने धमकी दी कि मुस्लिम लड़कियों से दूर रहो।

हिन्दू-मुस्लिम अंतर्धार्मिक विवाहों में लड़का हिन्दू हो या लड़की, भुगतना उन्हें ही पड़ता है। ‘लव जिहाद’ के मामलों में लड़की के साथ धोखा किया जाता है और छद्म हिन्दू नाम व पहनावे का राज़ शादी के बाद ही खुलता है। लड़की मुस्लिम बनने को मानी तो ठीक, नहीं तो बोरे या सूटकेस में लाश मिल सकती है। वहीं लड़का हिन्दू और लड़की मुस्लिम हुई तो लड़की के परिजन लड़के की हत्या कर देते हैं। फिर उसका जश्न मनाया जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe