Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंडगाजा के लिए रोए, Pak हिंदुओं पर बात तक नहीं: इरफान पठान का एकतरफा...

गाजा के लिए रोए, Pak हिंदुओं पर बात तक नहीं: इरफान पठान का एकतरफा झुकाव देख दानिश कनेरिया ने दिया जवाब, नेटीजन्स ने भी लगाई क्लास

इरफान पठान द्वारा गाजा पर किए गए ट्वीट को देखने के बाद पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने ट्वीट करके उनसे पूछा है कि वो आखिर पाकिस्तानी हिंदुओं पर क्यों कुछ नहीं बोलते।

इजरायल-हमास युद्ध के बीच गाजा में बच्चों की मौत को लेकर भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान के ट्वीट पर पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने पठान को लिखा- “भाई आपकी बात से सहमत हूँ, लेकिन ऐसी ही संवेदनशीलता आप पाकिस्तानी हिंदुओं को लेकर क्यों नहीं दिखाते हैं।”

दरअसल पठान ने शुक्रवार (3 नवंबर, 2023) को इरफान ट्वीट कर गाजा के बच्चों की मौत पर दुख जताते हुए कहा था कि दुनिया को अब चुप्पी तोड़नी चाहिए। उन्होंने एक खिलाड़ी के तौर अपील की कि दुनिया के नेता एकजुट होकर इन असंवेदनशील हत्याओं पर रोक लगाएँ।

इजरायल – हमास की जंग के बीच करीबन एक महीने बाद उन्हें ये होश आया कि वहाँ बच्चे मर रहे हैं, लेकिन हमास के 7 अक्टूबर 2023 को किए गए वहशी हमले में बच्चों के सिरकटी लाशों का उन्होंने कोई जिक्र नहीं किया।

उनकी टाइमलाइन में 20 अक्टूबर 2023 को बच्चों की मौत पर किया महज एक ट्वीट था, लेकिन इसमें इजरायल में मारे गए बच्चों को लेकर कुछ नहीं कहा गया था।

उनके इसी एक तरफा रवैये पर पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने अपने एक्स हैंडल से पठान के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, “इरफ़ान भाई, मुझे ख़ुशी है कि आप बच्चों का दर्द समझते हैं और मैं इस पर आपके साथ खड़ा हूँ। लेकिन कृपया पाकिस्तानी हिंदुओं के बारे में भी बोलें। यहाँ पाकिस्तान में हालात बहुत अलग नहीं हैं।”

कनेरिया को जवाब देते हुए भी पठान ने बचकर निकल जाने वाला रवैया अख्तियार कर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा “ज़रूर भाई दानिश, खुशी है कि आप इस मामले पर मेरे साथ खड़े हैं। आइए दुनिया भर की सभी बुराइयों के बारे में बात करें, इसलिए उम्मीद है कि हम किसी भी आस्था की परवाह किए बगैर गलत कामों को खत्म कर सकते हैं।”

अपने ट्वीट में फिर से पठान ने न तो पाकिस्तानी हिंदुओं के सपोर्ट में क्लियर स्टैंड लेते हुए खुद को दिखाया और न किसी ट्वीट में इजरायल में हुई बच्चों की मौतों पर बात की। यही कारण है कि कनेरिया का ट्वीट देखने के बाद सोशल मीडिया यूजर ने भी पठान की क्लास लगाने में कसर नहीं छोड़ी।

मैं भारतवासी नाम के एक्स हैंडल से ट्वीट किया गया, “वह इसके लिए एक शब्द भी नहीं बोलेगा क्योंकि उसे अच्छा पेंमेट नहीं मिला है। ये लोग कहीं भी हिन्दुओं पर होने वाले अत्याचारों के बारे में नहीं बोलते, चाहे पाकिस्तान हो या बांग्लादेश..इन्हें सिर्फ मुसलमानों का दर्द महसूस होता है, ये भी कोई परेशानी नहीं है क्योंकि गाजा में निश्चित तौर पर से निर्दोष लोग मारे जा रहे हैं। लेकिन वो भी इसलिए क्यों उन्होंने हमास आतंकवादियों का समर्थन किया।”

एक्स यूजर राज जी ने पाकिस्तान का एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, ये है पाकिस्तान में हिंदू बच्चों और महिलाओं की हालत। इरफान पठान‌, मुझे नहीं लगता कि आपमें इस बारे में बोलने की हिम्मत है।”

गौरतलब है कि पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया पाकिस्तान में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचारों और शोषण के खिलाफ खासे मुखर रहे हैं। इस वजह से उनका क्रिकेटर का करियर तक दाँव पर लग गया, लेकिन वो चुप नहीं रहे। इस बार भी उन्होंने इरफान पठान का एकतरफा रवैया देख आवाज उठाई, जिसे देख भारतीयों ने उनको सपोर्ट किया

7 अक्टूबर 2023 को हमास के इजरायल पर हमलों में 1400 से अधिक लोगों की जान गई। इसमें बच्चे, बूढ़े, जवान, बुजुर्ग सब शामिल थे। यहीं नहीं हमास के आतंकी 240 से अधिक लोगों को बंधक बना गाजा उठा ले गए थे। इसे लेकर इजरायल ने गाजा पट्टी पर जवाबी हमला बोला, जिसमें अब तक 9000 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -