Friday, September 17, 2021
Homeसोशल ट्रेंडप्रशांत किशोर और लुटियंस पत्रकारों की 'गोपनीय बातचीत' पर लोगों ने खूब बनाए मीम्स,...

प्रशांत किशोर और लुटियंस पत्रकारों की ‘गोपनीय बातचीत’ पर लोगों ने खूब बनाए मीम्स, जमकर उड़ाया मजाक

नेताओं और पत्रकारों के अलावा ने​टीजन भी शुक्रवार रात से इस 'हॉट टॉपिक' पर कमेंट कर रहे हैं। इन पर मीम्स बना रहे हैं, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं। यह टीएमसी के लिए परेशानी का सबब है। वहीं अन्य लोग 'पत्रकारों' की मूर्खता पर भी सवाल उठा रहे हैं।

क्लबहाउस ऐप पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (PK) और लुटियंस पत्रकारों के बीच बातचीत ने बंगाल का सियासी पारा एक बार फिर गरमा दिया है। इसे अभी तक की सबसे बड़ी राजनीतिक खबर माना जा रहा है। प्रशांत किशोर उर्फ पीके के लिए अक्सर कहा जाता है कि जब भी वह इस तरह के चौंकाने वाले खुलासे करते हैं, तब यह किसी राजनीतिक पार्टी के लिए खतरे की घंटी साबित होती है।

चुनावी रणनीतिकार ने खुले तौर पर स्वीकार किया है कि पश्चिम बंगाल चुनाव में बीजेपी जीत रही है। उन्होंने माना कि TMC के आंतरिक सर्वेक्षणों में भी बीजेपी की जीत सुनिश्चित दिखाई दे रही है। प्रशांत किशोर ने यह सब बातें क्लबहाउस ऐप पर पत्रकारों के साथ बातचीत में कही, जब पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए तैयारियाँ चल रही थीं।

नेताओं और पत्रकारों के अलावा ने​टीजन (सोशल मीडिया पर एक्टिव यूजर और प्रत्येक खबर पर पैनी नजर रखने वाले) भी शुक्रवार रात से इस ‘हॉट टॉपिक’ पर कमेंट कर रहे हैं। इन पर मीम्स बना रहे हैं, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं। यह टीएमसी के लिए परेशानी का सबब है। वहीं अन्य लोग ‘पत्रकारों’ की मूर्खता पर भी सवाल उठा रहे हैं। ट्विटर पर कुछ लोगों ने तंज कसते हुए लिखा कि इसको लेकर ममता बनर्जी प्रशांत किशोर से बहुत खुश नहीं होंगी।

हैरानी नहीं होगी अगर दीदी ने प्रशांत किशोर के खिलाफ फतवा जारी कर दिया तो, उनके चुनावी रणनीतिकार ने उन्हें बस के नीचे फेंक दिया।

अन्य यूजर किशोर की बातों के पीछे छिपी मंशा को लेकर अटकलें लगा रहे हैं।

राहुल गाँधी के कुछ जबरा फैंस ने कहा कि उस पीके से दूर रखने के लिए हमें आर जी को श्रेय देना चाहिए।

बता दें कि प्रशांत किशोर ने बातचीत के दौरान कहा था कि मतुआ समुदाय ने भारी संख्या में भाजपा को वोट दिया है। उन्होंने धर्मनिरपेक्ष दलों की मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति की भी आलोचना की, जिसने भाजपा को अपना अभियान चलाने के लिए एक सुविधाजनक मंच प्रदान किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,922FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe