Wednesday, July 28, 2021
Homeसोशल ट्रेंडVIDEO: दिल्ली मेट्रो के अंदर JNU और जामिया के छात्रों ने लगाए PM मोदी...

VIDEO: दिल्ली मेट्रो के अंदर JNU और जामिया के छात्रों ने लगाए PM मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ नारे

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर आने के बाद यूजर्स इसपर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कुछ का कहना है कि ये समय अब जागने का है और ऐसे जिहादियों को साफ करने का हैं। कुछ का कहना है कि इतना सब देखने के बावजूद भी देश की 80% जनता देख रही है कि भारत के 20% लोग किस तरह भारत को जला रहे हैं।

नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद एक बहुत बड़ा फायदा हुआ। वे लोग जो अब तक धर्मनिरपेक्षता का चोला ओढ़कर देश की अखंडता और एकता पर बात करते थे, उनकी हकीकत सबके सामने आ गई। सीएए के ख़िलाफ़ हो रहे इन प्रदर्शनों में सरकार के प्रति और हिंदुत्व के प्रति एक अलग ही घृणा देखी गई। हालाँकि, अभी तक ये सब सिर्फ़ प्रदर्शनस्थल पर भीड़ की आड़ में किया जा रहा था। लेकिन, अब ये मौखिक उन्माद दिल्ली मेट्रो के अंदर तक पहुँच चुका है। जी हाँ, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है। जहाँ जेएनयू-जामिया के 5-7 छात्र मिलकर इस्लामोफोबिया का नाम लेकर नारे लगा रहे हैं।

वायरल हुई वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ छात्र और छात्राएँ दिल्ली मेट्रो में अमित शाह तेरे नाम इस्लामोफोबिया, सीएए वापस लो। एनआरसी वापस लो। नरेंद्र मोदी तेरे नाम इस्लामोफोबिया के नारे लगाते हुए आ रहे हैं। इसके साथ ही वे भाजपा,आरएसएस और दिल्ली पुलिस के खिलाफ भी नारेबाजी की। वीडियो को यूजर ने ट्विटर पर शेयर किया है।

गौरतलब है कि इस वीडियो को We the muslim of india के अकॉउंट से शेयर किया गया है। साथ ही इसे मोहम्मद इरफान नाम एक युवक ने भी शेयर किया है। जिसने अपने ट्वीट में लिखा है कि उसने शाहीन अब्दुल्ला एवं जामिया और जेएनयू के छात्रों के साथ मिलकर दिल्ली मेट्रो के अंदर नारे लगाए।

बता दें, इस वीडियो के सोशल मीडिया पर आने के बाद यूजर्स इसपर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कुछ का कहना है कि ये समय अब जागने का है और ऐसे जिहादियों को साफ करने का हैं। कुछ का कहना है कि इतना सब देखने के बावजूद भी देश की 80 प्रतिशत जनता देख रही है कि भारत के 20 प्रतिशत लोग किस तरह भारत को जला रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,571FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe